BIG BREAKING: दिल्ली में फूटा कोरोना बम, 2134 नए मरीज और 57 लोगों की मौत, ऐसे में क्या नोएडा-गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर खोला जाए?

BIG BREAKING: दिल्ली में फूटा कोरोना बम, 2134 नए मरीज और 57 लोगों की मौत, ऐसे में क्या नोएडा-गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर खोला जाए?

BIG BREAKING: दिल्ली में फूटा कोरोना बम, 2134 नए मरीज और 57 लोगों की मौत, ऐसे में क्या नोएडा-गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर खोला जाए?

Tricity Today | प्रतीकात्मक फोटो

BIG BREAKING: दिल्ली में फूटा कोरोना बम, 2134 नए मरीज और 57 लोगों की मौत, ऐसे में क्या नोएडा-गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर खोला जाए?

दिल्ली के लोगों पर कोरोना वायरस कहर बनकर टूट रहा है। शनिवार को दिल्ली में कोरोना के संक्रमण का बम फटा है। पिछले 24 घंटों में 2134 नए मरीज सामने आए हैं। 57 लोगों की मौत हो गई हैं। दिल्ली में हालात ऐसे हैं कि अस्पतालों में बेड खाली नहीं है अब तो शवों को जलाने के लिए श्मशान घाट में भी वेटिंग लगी हुई हैं। इस सबके बीच दिल्ली के लोगों का आवागमन बदस्तूर जारी है। बाजार, सरकारी और गैर सरकारी दफ्तर खुल रहे हैं। दिल्ली के लोग नोएडा और गाजियाबाद से भी बॉर्डर खोलने की मांग कर रहे हैं।

इन हालातों को देखकर सवाल उठ रहा है कि क्या नोएडा-दिल्ली बॉर्डर को खोल दिया जाना चाहिए? शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने दिल्ली के इन्हीं खराब हालातों का हवाला दिया था। गौतमबुद्ध नगर का जिला प्रशासन लगातार शहर के लोगों को समझा रहा है कि दिल्ली के हालात बहुत बुरे हैं। अगर निर्बाध रूप से शहर के लोगों को दिल्ली आने-जाने दिया गया तो यहां भी हालात वहां के जैसे बनने में देर नहीं लगेगी। 

गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई पर कुछ लोगों ने इस मुद्दे को लेकर मनमाना रुख अख्तियार करने का आरोप भी लगाया है। गाजियाबाद के जिला अधिकारी अजय शंकर पांडेय पर भी ऐसे आरोप लग रहे हैं। गाजियाबाद में भी लोग लगातार मांग कर रहे हैं कि दिल्ली आने-जाने की इजाजत दे दी जाए। लेकिन दिल्ली में रोजाना संक्रमण के फैलाव को लेकर जो सूचनाएं और आंकड़े आ रहे हैं, वह रोंगटे खड़े करने वाले हैं। 

गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद के स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट 100 फ़ीसदी सही है कि अगर नोएडा-गाजियाबाद-दिल्ली के बीच आवागमन फ्री कर दिया गया तो हालात बेकाबू हो जाएंगे। नोएडा और गजियाबाद के निवासियों को इस पर ध्यान देना चाहिए।

दिल्ली के चिंताजनक हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वहां पिछले 24 घंटों में 2134 संक्रमण के मामले और 57 मौतें हुई हैं। केवल 5766 लोगों के परीक्षण किए गए हैं। संक्रमण की दर 37.01% तक पहुंच चुकी है। दिल्ली में अब तक 38958 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से केवल 14945 स्वस्थ होकर घर वापस लौटे हैं। अब तक 1271 लोगों की मौत हो चुकी हैं। बाकी का शहर के अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.