सितंबर तक गाज़ियाबाद को बनाना है कोरोना मुक्त, अधिकारियों को दिए सख्त आदेश: डॉ. अजय शंकर पांडेय

Updated Aug 02, 2020 11:11:33 IST | Anika Gupta

जिले को सितंबर तक कोरोना मुक्त बनाने के लिए अब जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग संयुक्त रूप से घर-घर जाकर संभावित...

सितंबर तक गाज़ियाबाद को बनाना है कोरोना मुक्त, अधिकारियों को दिए सख्त आदेश: डॉ. अजय शंकर पांडेय
Photo Credit:  Google Image
Dr Ajay Shankar Pandey (DM Ghaziabad)

जिले को सितंबर तक कोरोना मुक्त बनाने के लिए अब जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग संयुक्त रूप से घर-घर जाकर संभावित कोरोना संक्रमित की जांच करेंगे। जिले में संभावित कोरोना मरीजों की अब घर-घर जाकर जांच होगी। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग अब संयुक्त रूप से प्रत्येक सप्ताह एक विशेष अभियान चलाएगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर एक्टिव केस फाइंडिंग (एसीएफ) अभियान चलाएंगी। 

इसके लिए उस क्षेत्र विशेष के सभी लोगों की क्लीनिकल जांच होगी। जिन लोगों में आईएलआई (इन्फ्लूएंजा लाइक इलनेस) और सारी यानी सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी इंफेक्शन के लक्षण मिलेंगे,इन लोगों को कोरोना के संभावित उपचाराधीन मानते हुए जांच कराने के लिए एक पर्ची दी जाएगी। प्रत्येक शुक्रवार को संबंधित क्षेत्र में मोबाइल वैन भेजकर पर्ची पाने वालों की एंटीजन किट से जांच की जाएगी।

 इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा कि जिन लोगों को पर्चियां दी गई हैं। उन सभी की जांच अवश्य हो जाए। यदि कोई जांच कराने नहीं आता है। तो सप्ताह के बाकी दिनों में स्वास्थ्य विभाग की टीमें उसे फिर से फॉलोअप करेंगी। इसके बाद भी कोई जांच नहीं कराने आता तो उसके लिए जिला प्रशासन से मदद ली जाएगी। 

सीएमओ डॉ.एनके गुप्ता ने बताया कि जिलाधिकारी डॉ.अजय शंकर पांडेय इस मामले में बेहद गंभीर हैं। उन्होंने इस बात के सख्त निर्देश दिए हैं कि किसी भी हाल में ऐसा कोई व्यक्ति जांच कराए बिना न रह जाए,जिसे मेडिकल टीम की ओर से जांच के लिए पर्ची दी गई हो। जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पांडेय ने निर्देश दिए है कि स्वास्थ्य विभाग हर सप्ताह एक नए क्षेत्र को चिन्हित कर यह अभियान चलाए। ताकि शीघ्र जांच और जरूरत पडऩे पर उपचार उपलब्ध कराया जा सके। 

नई रणनीति पर काम करने से कोरोना वायरस के संक्रमण पर काबू पाने में बहुत मदद मिलेगी। सबसे पहले अधिक संवेदनशील क्षेत्रों का चयन कर जांच की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि सितंबर तक जनपद को कोरोना मुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जांच बढ़ाकर ही इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है। उन्होंने इस संबंध में जिले वासियों से सहयोग की अपील की है और साथ ही अन्य जरूरी सावधानियां, जैसे सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के इस्तेमाल, को अपनी जीवन शैली में उतारने का आहवान किया है।

Dr Ajay Shankar Pandey, DM Ghaziabad, coronavirus in Ghaziabad, Ghaziabad News