Lockdown: गाजियाबाद में 529 लोगों के खिलाफ एफआईआर, 4588 के चालान, पूरी कार्रवाई देखिए

Updated Mar 24, 2020 22:28:05 IST | Anika Gupta

एक ओर कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए जिला पुलिस और प्रशासन मुस्तैद हैं तो दूसरी ओर लोग समझने को तैयार नहीं है। अब पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी है। मंगलवार को पूरे गाजियाबाद जिले में 105 जगहों पर बैरियर और नाके लगाकर वाहनों की सघन...

Photo Credit:  Tricity Today
हालत का जायजा लेने सड़कों पर निकले गाजियाबाद के एसएसपी कलानिधि नैथानी
Key Highlights
निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने वालों पर लगा 8,000 रुपये का जुर्माना
जब्त किये गए 1588 वाहन, 4588 वाहनों का हुआ चालान
धारा 188 के अंतर्गत दर्ज हुए 137 मामले, आदेश की अवहेलना करना पड़ेगा भारी
दूध, सब्जी, और दैनिक उपयोग की वस्तुओं की नहीं होगी कोई किल्लत
जमाखोरी, कालाबाजारी एवं मुनाफाखोरी के खिलाफ होगी सख्त कार्यवाही

एक ओर कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए जिला पुलिस और प्रशासन मुस्तैद हैं तो दूसरी ओर लोग समझने को तैयार नहीं है। अब पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी है। मंगलवार को पूरे गाजियाबाद जिले में 105 जगहों पर बैरियर और नाके लगाकर वाहनों की सघन चेकिंग की जा रही है। मंगलवार को 9546 वाहनों की चेकिंग की गई। 4588 वाहनों के चालान किए गए हैं। 1588 वाहन जब्त किए गए हैं। गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने कहा कि जन सामान्य से अनुरोध है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में प्रशासन का सहयोग करें और लॉकआउट का सख्ती से पालन करें । 

उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है और कानून का उल्लंघन करने वालों को सख्त सजा मिलेगी। ऐसे लोगों में किसी को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने बताया कि  गौतमबुद्ध नगर में मंगलवार को धारा 144 का उल्लंघन करने वालों से जुर्माने के तौर पर 8,000 रुपये वसूल किए गए हैं। इसके अलावा धारा 188 का उल्लंघन करने पर 529 लोगों के खिलाफ 137 केस दर्ज किए गए हैं। जिसमें 529 लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की गई है।

एसएसपी ने बताया कि 834 आकस्मिक सेवाओं के वाहनों को इस दौरान कहीं नहीं रोका गया। इन वाहनों को परमिट जारी किए गए हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस-प्रशासन गाजियाबाद में 24x7 कन्ट्रोल रूम के जरिए स्थिति पर लगातार कड़ी नजर रखी जा रही है और प्राप्त सूचनाओं पर तत्परता से कार्यवाही की जा रही है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने जिले के लोगों को भरोसा दिलाया कि दैनिक उपयोग में आने वाली वस्तुओं की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। दूध, फल, सब्जियों, दवाओं, मास्क और अन्य जरूरी वस्तुओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। पुलिस प्रशासन द्वारा दवाओं सहित अन्य दैनिक आवश्यक वस्तुओं के मूल्यों पर निरन्तर नज़र रखी जा रही है और जमाखोरी, कालाबाजारी, मुनाफाखोरी में लिप्त व्यक्तियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। 

उन्होंने लोगों से यह भी अपील की कि अनावश्यक रूप से जरूरत की सामग्री जमा न करें। आवश्यक होने पर ही मास्क लगाएं क्योंकि एक तो इससे लोगों में भय उत्पन्न होता है और जिनको जरुरत हो सकती है, उनको मास्क मिलने में परेशानी होती है।