कोरोना वायरस से संक्रमित दुल्हन पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर, देश का पहला मुकदमा

Updated Mar 15, 2020 15:00:40 IST | Tricity Today Reporter

नई नवेली दुल्हन पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। यह मुकदमा दुल्हन के परिवार पर भी दर्ज किया गया है। यह देश में पहला महामारी एक्ट का मुकदमा दर्ज किया गया है। दरअसल, कोरोना पीड़िता को छिपाने पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आगरा के डीएम के निर्देश पर मुकदमा दर्ज किया गया है। यह युवती बंगलूरू के एक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से भागकर आगरा आई थी। जिसने हवाई जहाज और रेल यात्राएं भी की हैं।

Photo Credit:  Tricity Today
प्रतीकात्मक फोटो

नई नवेली दुल्हन पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। यह मुकदमा दुल्हन के परिवार पर भी दर्ज किया गया है। यह देश में पहला महामारी एक्ट का मुकदमा दर्ज किया गया है। दरअसल, कोरोना पीड़िता को छिपाने पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आगरा के डीएम के निर्देश पर मुकदमा दर्ज किया गया है। यह युवती बंगलूरू के एक अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से भागकर आगरा आई थी। जिसने हवाई जहाज और रेल यात्राएं भी की हैं।

आगरा जिला प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक एक महिला पर FIR हुई है। यह एफआईआर IPC की धाराओं 269 और 270 के तहत दर्ज की गई है। महिला और उसके परिवार पर कोरोना से संक्रमण को छिपाने का आरोप है। आपको बता दें कि मामला कुछ इस तरह है। इसी साल फरवरी में आगरा की रहने वाली युवती की शादी बेंगलुरू में रहने वाले एक युवक के साथ हुई है। दोनों शादी करने के बाद अपना हनीमून मनाने के लिए इटली चले गए। वहां से वापस आने पर लड़के की तबीयत खराब होने लगी। जिसके बाद उसने अपना ब्लैड टेस्ट करवाया। इस जोड़े में पति को कोरोना वायरस की पुष्टि हो गई। जिसके बाद बेंगलुरू प्रशासन ने युवक के साथ-साथ युवती को भी अस्पताल में रख लिया।

समस्या तब और ज्यादा बढ़ गई जब यह नवविवाहिता अस्पताल प्रशासन को चमका देकर बेंगलुरू ने दिल्ली हवाई जहाज के जरिए आई और फिर दिल्ली से आगरा तक ट्रेन में सफर किया। इस बात की जानकारी जब बेंगलुरू प्रशासन को चली तो उन्होंने भारत सरकार, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, रेल मंत्रालय, दिल्ली सरकार, यूपी सरकार और आगरा जिला प्रशासन को इस बात की सूचना दी।

एक युवती की इस बेवकूफी के कारण हडकंप मच गया है। आगरा प्रशासन को जब सूचना मिली तो वह महिला के घर गए। लेकिन वहां महिला के पिता पुलिस और अधिकारियों से झूठ बोल रहे हैं कि उनकी बेटी बेंगलुरू गई ही नहीं है। इस घटना के बाद दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने काफी नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि महिला ने ना जाने कितने लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित किया है।