गौर सिटी में फ्लैट की छत टूटी, परिवार के दो सदस्य घायल, निवासियों ने सरकार से बड़ी मांग की

Updated Jun 22, 2020 04:25:31 IST | Mayank Tawer

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की गौर सिटी हाउसिंग सोसाइटी में रविवार की दोपहर एक फ्लैट की छत का बड़ा हिस्सा टूटकर गिर पड़ा। यह हादसा फ्लैट के ड्राइंग रूम में हुआ...

गौर सिटी में फ्लैट की छत टूटी, परिवार के दो सदस्य घायल, निवासियों ने सरकार से बड़ी मांग की
Photo Credit:  Social Media
गौर सिटी सोसाइटी में रविवार की दोपहर फ्लैट की छत का बड़ा हिस्सा टूटकर गिर पड़ा।
Key Highlights
गौर सिटी हाउसिंग सोसाइटी में रविवार की दोपहर फ्लैट की छत का बड़ा हिस्सा टूटकर गिर पड़ा।
यह हादसा फ्लैट के ड्राइंग रूम में हुआ। हादसे के वक्त परिवार के सदस्य ड्राइंग रूम में मौजूद थे।
घर की एक महिला समेत दो सदस्य घायल हैं। दोनों का उपचार करवाया है। परिवार दहशत में है।
पुलिस से शिकायत नहीं की गई है, जानकारी मिली है कि बिल्डर से मामले की शिकायत की गई है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की गौर सिटी हाउसिंग सोसाइटी में रविवार की दोपहर एक फ्लैट की छत का बड़ा हिस्सा टूटकर गिर पड़ा। यह हादसा फ्लैट के ड्राइंग रूम में हुआ। हादसे के वक्त परिवार के सदस्य ड्राइंग रूम में मौजूद थे। घर की एक महिला समेत दो सदस्य घायल हुए हैं। दोनों का उपचार करवाया गया है। वह सामान्य हैं, लेकिन इस हादसे के बाद से परिवार दहशत में है। हालांकि परिवार की ओर से इस बारे में पुलिस से शिकायत नहीं की गई है, लेकिन जानकारी मिली है कि बिल्डर से मामले की शिकायत की गई है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई हाउसिंग सोसायटीज में इस तरह के हादसे हो चुके हैं। मिली जानकारी के मुताबिक गौर सिटी वन के फिफ्थ एवेन्यू में यह हादसा हुआ है। सोसायटी के एच ब्लॉक में रोहित सेठ अपने परिवार के साथ रहते हैं। एच ब्लॉक टावर में रोहित सेठ का फ्लैट नौवें फ्लोर पर है।

उनके पड़ोसियों ने बताया कि रविवार की दोपहर उनके ड्राइंग रूम की छत का प्लास्टर अचानक टूट कर गिर पड़ा। उस समय उनकी पत्नी और अन्य सदस्य ड्राइंग रूम में ही मौजूद थे। छत का बड़ा हिस्सा टूटकर गिरने से नीचे रखे टेबल का शीशा और दूसरा सामान भी टूट गया है। रोहित सेठ की पत्नी और परिवार के एक और अन्य सदस्य को चोट लगी है।

ग्रेटर नोएडा में ऐसे हादसे लगातार हो रहे हैं

जिसके बाद उन्हें उपचार के लिए अस्पताल ले जाया गया। इस पूरे मामले के बारे में रोहित सेठ से बातचीत करने की कोशिश की गई लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई है। दूसरी ओर इस पूरे प्रकरण पर बिल्डर ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में यह कोई इस तरह का पहला मामला नहीं है। पिछले महीने अजनारा होम्स में भी ऐसा हादसा हुआ था। जिसके बाद बिसरख थाना पुलिस में एफआईआर दर्ज की थी। सुपरटेक और कई दूसरे बिल्डर्स की हाउसिंग सोसाइटी में भी इस तरह के हादसे हो चुके हैं।

"बिल्डरों की निर्माण का ऑडिट किया जाना चाहिए"

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में फ्लैट खरीदारों की संस्था नेफोवा के अध्यक्ष अभिषेक कुमार का कहना है, "छोटी-मोटी आंधी तूफान आने पर भी हमारे यहां की हाउसिंग सोसाइटीज में बड़े हादसे हो रहे हैं। पिछले दिनों आई आंधी और बारिश के दौरान कई हाउसिंग सोसाइटी में फ्लैट के छज्जे दीवारें और रेलिंग टूट कर गिर गए। उन हादसों में करीब एक दर्जन कारें क्षतिग्रस्त हो गई थीं। कई लोगों को चोट भी आई थीं। सामान्य दिनों में भी फ्लैट के भीतर छत और दीवारें टूट रही हैं।" 

ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण सुनवाई नहीं कर रहा है

अभिषेक का कहना है कि बिल्डरों ने बेहद घटिया निर्माण किया है। इन मुद्दों को लेकर तमाम बार विकास प्राधिकरण, जिला प्रशासन और उत्तर प्रदेश सरकार से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन कभी कोई जांच-पड़ताल नहीं की गई है। हम कई बार ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण से बिल्डरों के निर्माण का ऑडिट और जांच करवाने की मांग कर चुके हैं। हर बार विकास प्राधिकरण की ओर से केवल आश्वासन दिए जाते हैं। कभी जांच नहीं करवाई गई है। इन हालातों के चलते यहां रहने वाले लोग हमेशा दहशत के साए में रहते हैं।"

लगातार आ रहे भूकम्पों से निवासियों में दहशत

गौर सिटी में रहने वाले विवेक रमन तिवारी ने कहा, "पिछले 2 महीनों के दौरान 10 से ज्यादा बार भूकंप आ चुका है। जब से भूकंप की आवृत्ति बढ़ी है, तबसे पूरे ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों में दहशत का माहौल है। लोग चिंतित हैं। ऊपर से इस तरह की घटनाएं डर को और ज्यादा बढ़ा देती हैं। थोड़ी सी तेज हवा चलती है तो सोसाइटी में हादसे शुरू हो जाते हैं। अपने आप ही छत टूटकर गिर रही हैं। दीवारें टूट जाती हैं। हाउसिंग सोसाइटीज में बिल्डरों के निर्माण पर लोगों को भरोसा नहीं है। लेकिन इन घरों में रहना हम लोगों की मजबूरी है। छोड़कर कहां जा सकते हैं, लेकिन हम लोगों की मांग है कि विकास प्राधिकरण को तमाम बिल्डरों के कंस्ट्रक्शन का ऑडिट जरूर करना चाहिए।"

Gaur City, Gaur Builder, Gaur City Greater Noida, Greater Noida West, Greater Noida News, Noida News, Noida Extension, Greater Noida Authority, GNIDA, CEO Greater Noida, Narendra Bhushan IAS, Manoj Gaur builder, Gaur Sons builders, Flats in Gaur City, Gaur City 5th avenue