Mahatma Gandhi Jayanti: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर नमन, प्रधानमंत्री ने श्रद्धांजलि सुमन अर्पित कर दोनों को याद किया

Mahatma Gandhi Jayanti: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर नमन, प्रधानमंत्री ने श्रद्धांजलि सुमन अर्पित कर दोनों को याद किया

Google Image | Mahatma Gandhi & Lal Bahadur Shastri Jayanti

Mahatma Gandhi Jayanti: देश आज दो महान हस्तियों की जयंती मना रहा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का जन्म 2 अक्टूबर को हुआ था। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत तमाम दिग्गजों ने श्रद्धांजलि सुमन अर्पित किया है। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। लाल बहादुर शास्त्री का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को उत्तर प्रदेश के वाराणसी से सात मील दूर मुगलसराय में हुआ था। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजघाट जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी और बापू को नमन किया। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धा सुमन अर्पित करने वो विजयघाट गए। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि दी। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा है  ‘गांधी जयंती के दिन, कृतज्ञ राष्ट्रा की ओर से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धा-सुमन अर्पित करता हूं। सत्यं, अहिंसा और प्रेम का उनका संदेश समाज में समरसता और सौहार्द का संचार करके समस्त विश्व  के कल्याूण का मार्ग प्रशस्तअ करता है। वे संपूर्ण मानवता के प्रेरणा-स्रोत बने हुए हैं।‘ 


उन्होंने आगे लिखा है ‘आइए, गांधी जयंती के पुनीत अवसर पर हम सब पुन: यह संकल्प लें कि हम सत्यर और अहिंसा के मार्ग का अनुसरण करते हुए, राष्ट्र  के कल्याण और प्रगति के लिए सदैव समर्पित रहेंगे और एक स्वंच्छ्, समृद्ध, सशक्त् व समावेशी भारत का निर्माण करके गांधी जी के सपनों को साकार करेंगे।‘


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उन्हें नमन करते हुए लिखा है ‘पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उनकी स्मृति को नमन। भारत माता के उस महान सपूत ने अभूतपूर्व समर्पण और सत्यनिष्ठा से देश की सेवा की। हरित क्रांति व श्वेत क्रांति में मूलभूत भूमिका और युद्धकाल में सुदृढ़ नेतृत्व के लिए सभी देशवासी उन्हें श्रद्धापूर्वक याद करते हैं।‘


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए लिखा है ‘गांधी जयंती पर हम सबके प्यारे बापू को नमन। हमें उनके विचारों और सात्विक जीवन से बहुत कुछ सीखना है। बापू के विचारों से सीख लेकर हम एक समृद्ध और खुशहाल भारत का निर्माण करने में सफल होंगे।‘


उन्होंने लाल बहादुर शास्त्री को याद करते हुए लिखा है ‘लाल बहादुर शास्त्री जी विनम्र और दृढनिश्चयी थे। वो आजीवन सादगी से जिए और देश सेवा के लिए समर्पित रहे। उन्होंने भारत को बनाने में जो अमूल्य योगदान दिया है, देश उन्हें सदैव याद करता रहेगा।‘


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपिता की जयंती पर एक संदेश में कहा है ‘हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 151वीं जयंती के अवसर पर मैं हमारे कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। उनकी जीवनशैली समाज के कमजोर वर्गों को सशक्त और मजबूत बनाती है।‘


कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने भी महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित किया। उन्होंने मौजूदा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि सरकार किसान विरोधी है और हमारे अन्नदाताओं के साथ नाइंसाफी कर रही है। अगर देश का किसान नहीं रहेगा, तो देश का भविष्य कैसे संवरेगा। महात्मा गांधी जी कहते थे कि भारत की आत्मा इसके खेतों, गावों और किसानों में बसती है। पर मौजूदा सरकार भारत की इस आत्मा को रौंद रही है।

भारत को आजादी दिलाने में गांधी जी और शास्त्री जी के महानतम योगदान के लिए उन्हें सदैव याद किया जाएगा। महात्मा गांधी ने देश को अंग्रेजो के खिलाफ एकजुट किया और देशवासियों को आजादी के लिए अहिंसात्मक संघर्ष की राह दिखाई। लाल बहादुर शास्त्री को सादगी का प्रतिमान माना जाता है। शास्त्री जी आजीवन सादगी के साथ ही जिए। उन्होंने आधुनिक भारत के निर्माण में अतुलनीय योगदान दिया। 

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.