Noida: 1000 लग्जरी कारें चुराने वाला गिरोह करोड़पति सरगना के साथ गिरफ्तार

Updated Feb 16, 2020 15:36:56 IST | Tricity Today Reporter

नोएडा सेक्टर-49 पुलिस ने नोएडा और एनसीआर से वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। बड़ी बात यह कि इस गैंग का सरगना करोड़पति है। वह अपने चार साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया है। 

Photo Credit:  Tricity Today
प्रतीकात्मक फोटो

नोएडा सेक्टर-49 पुलिस ने नोएडा और एनसीआर से वाहन चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। बड़ी बात यह कि इस गैंग का सरगना करोड़पति है। वह अपने चार साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया है। 

यह गिरोह अब तक 1000 से ज्यादा कार चोरी कर चुका है। चोरी के बाद गैंग कारों को सस्ते दाम पर मेरठ के सोतीगंज बाजार में बेच देता था। इस गिरोह के खिलाफ कई राज्यों के कई शहरों में दर्जनों मुकदमे दर्ज हैं। फिलहाल गिरोह के 8 सदस्य अभी फरार हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयासरत है।

नोएडा के डीसीपी जोन-1 संकल्प शर्मा ने बताया कि सेक्टर-49 पुलिस ने चारों बदमाशों को एक मुखबिर की सूचना पर सेक्टर-116 में बिजली घर के पास से गिरफ्तार किया है। उनके पास एक चोरी की कार भी मिली है। इन लोगों की निशानदेही पर अलग-अलग जगहों से चोरी की छह लग्जरी कार बरामद की हैं। इनमें फॉर्च्यूनर, ब्रेजा, स्कॉर्पियो, बलेनो, स्विफ्ट और स्विफ्ट डिजायर कार शामिल हैं।

आरोपियों ने बताया कि उन्होंने फॉर्च्यूनर कार गुरुग्राम के डीएलएफ थाना क्षेत्र से चोरी की थी। इसके अलावा स्विफ्ट गुरुग्राम सदर थाना क्षेत्र से, स्विफ्ट डिजायर दिल्ली रोहिणी थाना क्षेत्र से ब्रेजा थाना मुखर्जी नगर दिल्ली से, बलेनो थाना चन्द्र विहार आईपी एक्सटेंशन दिल्ली और स्कॉर्पियो थाना बुराड़ी दिल्ली से चोरी की थी।

डीसीपी ने बताया की पूछताछ में आरोपियों ने खुलासा किया कि वह कार चोरी करने के बाद मेरठ ले जाते थे। फिर कारों को सोतीगंज बाजार में बेच देते थे। फरार आरोपियों में शामिल कुछ चोर ही कारों को कम कीमत पर खरीदते थे। इसके अलावा आरोपी कुछ कारों को पूर्वोत्तर के राज्यों में फर्जी कागजात तैयार करके बेच देते थे। 

डीसीपी ने बताया कि गिरोह का सरगना इसरार करोड़पति है। वह पिछले 15 साल से वाहन चोरी कर रहा है। इसरार के मेरठ में कई मकान हैं। उसके खिलाफ  दिल्ली, गुरुग्राम, मेरठ, नोएडा में 22 केस दर्ज हैं। गिरोह के बदमाश अभी तक एक हजार से ज्यादा वाहन चोरी कर चुके हैं। आरोपी जीतू उर्फ जितिन के खिलाफ 5, सौरभ के खिलाफ 7 और इमरान के खिलाफ 5 केस दर्ज हैं। पुलिस ने बताया कि गिरोह के 8 बदमाश अभी फरार हैं।