ग्रेटर नोएडा: गैंगस्टर सुंदर भाटी के भतीजे ने फिर मांगी रंगदारी, स्क्रैप कारोबारी ने दर्ज कराई एफआईआर, बड़ा खुलासा हुआ

Updated Jul 31, 2020 21:12:17 IST | Rakesh Tyagi

कुख्यात गैंगस्टर सुंदर भाटी के भतीजे अनिल भाटी ने ग्रेटर नोएडा में एक बार फिर कारोबारी से रंगदारी मांगी है। अनिल भाटी रंगदारी...

ग्रेटर नोएडा: गैंगस्टर सुंदर भाटी के भतीजे ने फिर मांगी रंगदारी, स्क्रैप कारोबारी ने दर्ज कराई एफआईआर, बड़ा खुलासा हुआ
Photo Credit:  Tricity Today
अनिल भाटी

कुख्यात गैंगस्टर सुंदर भाटी के भतीजे अनिल भाटी ने ग्रेटर नोएडा में एक बार फिर कारोबारी से रंगदारी मांगी है। अनिल भाटी रंगदारी मांगने के एक दूसरे मामले में फरार चल रहा है। उस पर गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने 25,000 रुपये का इनाम घोषित कर रखा है। अब अनिल भाटी ने एक बार फिर एक स्क्रैप कारोबारी से 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी है। स्क्रैप कारोबारी ने शुक्रवार को अनिल भाटी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है।

इस पूरे मामले में स्क्रैप कारोबारी ने अपनी एफआईआर में एक बड़ा खुलासा किया है। स्क्रैप कारोबारी ने जानकारी दी है कि दादरी और ग्रेटर नोएडा के कुछ और स्क्रैप कारोबारी ही गैंगस्टर और बदमाशों के साथ मिलकर धंधा चला रहे हैं। यह लोग इस कारोबार में दूसरे लोगों को आने देना नहीं चाहते हैं। अगर किसी व्यक्ति को कोई बड़ा स्क्रैप का ठेका मिल जाता है तो यह स्क्रैप कारोबारी सुंदर भाटी गैंग और अनिल दुजाना गैंग का सहारा लेकर परेशान करते हैं। ऐसे में लोगों को ठेका छोड़ना पड़ता है नहीं तो रंगदारी देकर खुद को सुरक्षित रखना पड़ता है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक 25 हजार के ईनामी कुख्यात बदमाश अनिल भाटी ने स्क्रैप व्यापारी से रंगदारी मांगी है। 50 लाख रुपये की रंगदारी स्क्रैप व्यापारी से मांगी गई है। स्क्रैप कारोबारी ने ग्रेटर नोएडा पुलिस से अनिल भाटी की ओर से आई धमकी की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस ने अनिल भाटी के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज किया है।

अनिल भाटी कुख्यात बदमाश सुंदर भाटी का भतीजा है। पुलिस का कहना है कि सुंदर भाटी आजकल जेल में बंद है। उसका पूरा कारोबार और गैंग चलाने की जिम्मेदारी अनिल भाटी के ऊपर है। पीड़ित व्यापारी ने 9 लोगों को नामजद करवाया है और 10 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है। एफआईआर में दादरी के 5 स्क्रैप ठेकेदारों पर बदमाशों के साथ मिलकर रंगदारी मांगने का आरोप लगाया है।

आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा में स्क्रैप को लेकर कई बार खूनी संघर्ष हो चुका है। स्क्रैप के कारोबार पर कुख्यात गैंगस्टरों का कब्जा है। पिछले 20 वर्षों के दौरान ग्रेटर नोएडा में स्क्रैप कारोबार से जुड़े करीब 30 लोगों की हत्याएं हो चुकी हैं। एक अनुमान के मुताबिक ग्रेटर नोएडा की तमाम कंपनियों से सालाना करीब 100 करोड़ रुपए का स्क्रैप निकलता है। इस धंधे पर गैंगस्टर्स के साथ-साथ कई नेताओं और उनके रिश्तेदारों का भी हाथ रहा है। 

वर्ष 2008 में 3 स्क्रैप कारोबारियों की सूरजपुर में दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद भी लगातार स्क्रैप से जुड़े लोगों की हत्या की गई हैं। अब शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा की बीटा-2 कोतवाली पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि इस पूरे मामले की गहराई से जांच की जा रही है।

Gangster Sundar Bhati, Anil Bhati, Greater Noida Police, Gautam Buddh Nagar Gangster