गौरव चन्देल के हत्यारे ने एकबार फिर नोएडा पुलिस को दिया चकमा

Updated Feb 26, 2020 10:57:24 IST | Tricity Today Chief Correspondent

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के दुःखद गौरव चंदेल हत्याकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख रुपये का इनामी बदमाश आशु जाट सोमवार की रात एकबार फिर पुलिस के हाथ से निकल गया। पुलिस सूत्रों ने दावा किया है कि नोएडा की फेज-3 कोतवाली पुलिस ने वाहन जांच के दौरान एक आई-20 कार में आशु के होने का दावा किया...

Photo Credit:  Tricity Today
Gaurav Chandel

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के दुःखद गौरव चंदेल हत्याकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख रुपये का इनामी बदमाश आशु जाट सोमवार की रात एकबार फिर पुलिस के हाथ से निकल गया। पुलिस सूत्रों ने दावा किया है कि नोएडा की फेज-3 कोतवाली पुलिस ने वाहन जांच के दौरान एक आई-20 कार में आशु के होने का दावा किया है।

यह सूचना जिले के सभी थाने की पुलिस को भेजकर अलर्ट किया गया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। एकबार फिर आशु पुलिस पर भारी पड़ा और भाग निकला। सूत्रों ने बताया कि फेज-3 कोतवाली क्षेत्र से आई-20 कार सवार सवार बदमाश पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। आशु जाट के जिले में देखे जाने की सूचना पर पुलिस के कई अधिकारी रात में 12 बजे सड़कों पर उतर आए थे।

दरअसल, एक लाख का इनामी बदमाश आशु जाट लंबे समय से पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ है। वह मोबाइल का प्रयोग नहीं करता है। इस वजह से पुलिस उसको सर्विलांस के माध्यम से नहीं पकड़ पा रही है। वह इसका भरपूर फायदा उठा रहा है और लगातार जिले के आसपास उसका मूवमेंट है।

कुछ दिन पहले उसने ग्रेटर नोएडा वेस्ट से स्कॉर्पियो भी लूटी थी। सोमवार की रात फेज-3 कोतवाली पुलिस ने सभी थानों को अलर्ट किया। वायरलेस पर मैसेज फ़्लैश किया गया कि एक आई-20 कार में तीन लोग सवार हैं। इनमें इन आशु भी है। सूत्रों ने दावा किया कि कार सवारों के पास पिस्टल भी थी लेकिन, पुलिस बदमाशों को नहीं पकड़ सकी। और अंततः एक बार फिर आशु पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो गया।

पुलिस को जानकारी मिल रही है कि आशु जाट नोएडा, ग्रेटर नोएडा और बुलंदशहर में लगातार घूम रहा है। ऐसी ही सूचना मिलने के बाद नोएडा फेज-3 कोतवाली पुलिस ने सोमवार की देर रात की आई-20 की घेराबंदी करने की कोशिश की। नोएडा सेंट्रल के डीसीपी हरीश चन्दर का कहना है की सोमवार देर रात फेज-3 कोतवाली पुलिस को जांच के दौरान एक आई-20 कार संदिग्ध लगी। पुलिस को लगा कि कार के अंदर आशु बैठा था। घेराबंदी कराकर जांच अभियान चलाया गया, लेकिन कार सवार पकड़ में नहीं आए।

गौरतलब है कि गौर सिटी सोसायटी में रहने वाले एक कंपनी के प्रबंधक गौरव चंदेल की हत्या जनवरी के महीने में आशु जाट ने अपने साथी उमेश के साथ मिलकर हत्या कर दी थी।