BREAKING : गौरव चंदेल हत्याकांड में बड़ी जानकारी, सिर में चोट मारकर नहीं की गई हत्या

Updated Feb 23, 2020 23:49:05 IST | TriCity Today Correspondent

गौरव चंदेल की हत्या सिर में लोहे की रॉड या पत्थर जैसी चीज मारकर नहीं की गई है। उनको पीछे से सिर में गोली मारकर हत्या की गई है। उनके ब्रेन में गोली के टुकड़े मिले हैं। यह जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दी गई है। दरअसल, अभी तक माना जा रहा था कि गौरव के सिर में कोई भारी चीज से हमला करके हत्या की गई है। दूसरी पुलिस इस पूरे मामले का खुलासा करने के लिए पुरजोर कोशिश के साथ जुट गई है। एसएसपी ने लोगों से वादा किया है कि अगले दो दिनों में हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Photo Credit:  Social Media
Gaurav Chandel
Key Highlights
गौरव चंदेल की हत्या सिर में लोहे की रॉड या पत्थर जैसी चीज मारकर नहीं की गई है। उनको पीछे से सिर में गोली मारकर हत्या की गई है।
शुरूआत में माना जा रहा था कि उनके सिर में गहरी चोट लगी हैं। किसी ने सिर में लोहे की रॉड जैसी कोई भारी चीज मारी है।
उनके ब्रेन में गोली के टुकड़े मिले हैं। यह जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दी गई है। दरअसल, अभी तक माना जा रहा था कि गौरव के सिर में कोई भारी चीज से हमला करके हत्या की गई है।

गौरव चंदेल की हत्या सिर में लोहे की रॉड या पत्थर जैसी चीज मारकर नहीं की गई है। उनको पीछे से सिर में गोली मारकर हत्या की गई है। उनके ब्रेन में गोली के टुकड़े मिले हैं। यह जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दी गई है। दरअसल, अभी तक माना जा रहा था कि गौरव के सिर में कोई भारी चीज से हमला करके हत्या की गई है। दूसरी पुलिस इस पूरे मामले का खुलासा करने के लिए पुरजोर कोशिश के साथ जुट गई है। एसएसपी ने लोगों से वादा किया है कि अगले दो दिनों में हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।


ग्रेटर नोएडा वेस्ट गौर सिटी के फिफ्थ एवेन्यू में रहने वाले मैनेजर गौरव चंदेल की सोमवार की रात उस वक्त हत्या कर दी गई, जब वह गुरुग्राम से अपनी कार में सवार होकर वापस अपने घर गौर सिटी आ रहे थे। जब गौरव पृथला चौक पर पहुंचे तो उनकी पत्नी से फोन पर बातचीत हुई थी। उन्होंने बोला था कि वह 5-10 मिनट में घर पहुंच रहे हैं। लेकिन जब गौरव बहुत देर बाद भी घर नहीं पहुंचे तो उनके घर वालों को चिंता हुई। जिसके बाद उनकी पत्नी ने उन्हें कॉल किया लेकिन वह फोन नहीं उठा रहे थे।


काफी समय तक ढूंढने के बाद जब गौरव चंदेल का पता नहीं चला तो परिवार और सोसाइटी वाले बिसरख कोतवाली में गौरव के लापता होने की लिखित शिकायत देने पहुंचे। गौर सिटी के रहने वाले प्रदीप ने बताया कि गौरव के परिवारजन, दोस्त और सोसाइटी के लोग रातभर गौरव को ढूंढते रहे। सुबह करीब 4 बजे जब सारे लोग बिसरख कोतवाली से वापस सोसायटी लौट रहे थे तो पृथला चौक और हिंडन नदी के पुल के बीच बुरी तरह घायल अवस्था में वह मिले। लोगों ने तत्काल एम्बुलैंस को कॉल किया। गौरव चंदेल को यथार्थ अस्पताल लेकर गए। वहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। गौरव की कार, मोबाइल, लैपटॉप और पर्स गायब हैं। अभी लग रहा है कि लूट के इरादे से उन पर हमला किया गया है।

शुरूआत में माना जा रहा था कि उनके सिर में गहरी चोट लगी हैं। किसी ने सिर में लोहे की रॉड जैसी कोई भारी चीज मारी है। लेकिन, पोस्टमार्टम में सामने आया है कि गौरव के सिर में पीछे से गोली मारी गई थी। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों को उनके ब्रेन में गोली के टुकड़े मिले हैं।