गौतमबुद्ध नगर पुलिस की महिला चौपाल ग्रेटर नोएडा वेस्ट में लगी, महिलाओं ने खूब दिए सुझाव और शिकायत कीं

Updated Feb 21, 2020 19:39:55 IST | Mayank Tawer

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में शुकवार को गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने महिला चौपाल लगाई। महिला चौपाल में डिप्टी पुलिस कमिश्नर वृंदा शुक्ला (महिला शुक्ला), एसीपी सलोकी अग्रवाल और बिसरख के एसएचओ मुनीष चौहान शामिल हुए। चौपाल का आयोजन गौर सिटी के राधा-कृष्णा में पार्क में किया गया। शहर और गांवों की महिलाओं, बुजुर्ग महिलाओं और युवतियों ने भाग लिया। महिलाओं ने पुलिस को बड़ी संख्या में समस्याएं बताई हैं। साथ ही कई सुझाव भी दिए हैं।

Photo Credit:  Tricity Today Team
गौतमबुद्ध नगर पुलिस की महिला चौपाल ग्रेटर नोएडा वेस्ट में लगी

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में शुकवार को गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने महिला चौपाल लगाई। महिला चौपाल में डिप्टी पुलिस कमिश्नर वृंदा शुक्ला (महिला शुक्ला), एसीपी सलोकी अग्रवाल और बिसरख के एसएचओ मुनीष चौहान शामिल हुए। चौपाल का आयोजन गौर सिटी के राधा-कृष्णा में पार्क में किया गया। शहर और गांवों की महिलाओं, बुजुर्ग महिलाओं और युवतियों ने भाग लिया। महिलाओं ने पुलिस को बड़ी संख्या में समस्याएं बताई हैं। साथ ही कई सुझाव भी दिए हैं।

गौर सिटी की निवासी अनिता प्रजापति ने पुलिस को एक पत्र दिया है। जिसमें उन्होंने 6 समस्याएं लिखी हैं। सरोज शर्मा, मिलन अग्रवाल, दया माथुर, शिखा शर्मा और नेफोमा की रश्मि पाण्डये समेत सैकडों महिलाएं चौपाल में आईं।

दया माथुर ने कहा कि पुलिस की यह एक अच्छी पहल है। सोसाइटी में ऐसे कार्यक्रम होते रहने चाहिएं। मिलन अग्रवाल ने पुलिस के सामने समस्या रखी कि हम पुलिस केस कर देते हैं लेकिन पुलिस द्वारा पीड़ित को जल्द सहायता नहीं मिल पाती। केवल एफआईआर दर्ज कर लेने से कोई लाभ नहीं होता है। पीड़ित को तो फोरी सहायता की जरूरत होती है।

अनिता प्रजापति ने बताया कि गाजियाबाद में आशा ज्योति केन्द्र खुला हुआ है। ऐसा हमारे ग्रेटर नोएडा में नहीं है। ऐसा हमारे ग्रेटर नोएडा में एक केंद्र खुलना चाहिए। पुलिस अािकारियों ने आवासन दिया कि जल्द ही ग्रेटर नोएडा में आशा ज्योति केन्द्र खोलने के लिए काम कर रहे हैं।

महिलाओं ने बताया कि हमारे ग्रेटर नोएडा वेस्ट की पुलिस चैकियों में एक भी महिला पुलिसकर्मी नहीं है। जिससे महिला अपनी परेशानी पुलिस को नहीं बता पाती हैं। इसलिए, पुलिस अधिकारी चैकियों में भी महिला पुलिसकर्मी तैनात करें।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में किसान चौक पर ट्रैफिक बूथ बना हुआ है। लेकिन उस बूथ में कोई भी पुलिसकर्मी मौजूद नहीं रहता है। पुलिस अधिकारियों को वहां भी पुलिसकर्मी की तैनाती करनी चाहिए। जैसे महिलाओं के लिए पुलिस ने चैपाल लगाई है, ऐसे ही लडकियों के लिए भी एक चैपाल लगाई जाए। जिससे वह अपनी परेशानी पुलिस तक पहुंचा सकें।

इतना ही नही पुलिस को हर 6 महीने में अलग-अलग जहग ऐसे कार्यक्रम करते रहना चाहिए। ताकि महिलाएं पुलिस को अपनी परेशानी बता सकें और अपने आप को सुरक्षित महसूस करें। वहां मौजूद महिलाओं ने पुलिस को घरेलू हिसां की भी परेशानी बताई।

चौपाल में शामिल हुईं माया देवी जो पुराने हैबतपुर गांव की निवासी हैं। उन्होंने बताया कि उनकी पोती को स्कूल में कुछ समस्या हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने पुलिस को शिकायत दी। लेकिन पुलिस से उन्हें कोई मदद नहीं मिल पाई।

डीसपी वृंदा शुक्ला ने कहा, महिलाओं से सीधा संपर्क करने और उनकी परेशानियों का समाधान तालाश करने के लिए यह व्यवस्था की गई है। महिला चौपाल का आयोजन शहर के अलग-अलग हिस्सों में किया जाता रहेगा। शुक्रवार को बहुत सारी समस्याएं और सुझाव महिलाओं ने दिए हैं। हमने उनके समाधान के लिए काम शुरू कर दिया है। पहली महिला चौपाल का रेस्पोंस अच्छा रहा है।