गाजियाबाद: पुलिस ने टॉप 10 लिस्ट में शामिल शातिर हिस्ट्रीशीटर को अस्पताल में दबोचा

Updated Aug 21, 2020 14:37:28 IST | Rakesh Tyagi

गाजियाबाद पुलिस ने गुरूवार दोपहर टॉप-टेन लिस्ट में शामिल हिस्ट्रीशीटर, रंगदारी मांगने वाले कुख्यात बदमाश को दिल्ली के सेंट स्टीफन अस्पताल से गिरफ्तार...

गाजियाबाद: पुलिस ने टॉप 10 लिस्ट में शामिल शातिर हिस्ट्रीशीटर को अस्पताल में दबोचा
Photo Credit:  Ghaziabad Police
सुरेंद्र उर्फ चिडिय़ा उर्फ अजीत

गाजियाबाद पुलिस ने गुरूवार दोपहर टॉप-टेन लिस्ट में शामिल हिस्ट्रीशीटर, रंगदारी मांगने वाले कुख्यात बदमाश को दिल्ली के सेंट स्टीफन अस्पताल से गिरफ्तार कर लिया। शातिर बदमाश अस्पताल में उपचाराधीन अपने माता-पिता को देखने आया था। मुखबिर की सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस सेंट स्टीफन अस्पताल पहुंची और कुख्यात बदमाश को दबोच लिया। 

लोनी कोतवाली एसएचओ बीएस भड़ाना ने बताया कि सुरेंद्र उर्फ चिडिय़ा उर्फ अजीत पुत्र रामवीर सिंह निवासी निठौरा रंगदारी एवं लूट, हत्या जैस सघन्य वारदातों को अंजाम देने वाला लोनी  कोतवाली का टॉप टेन शातिर बदमाश है। गुरूवार दोपहर मुखबिर से सूचना मिली कि कुख्यात बदमाश चिडिय़ा दिल्ली के सेंट स्टीफन अस्पताल में उपचाराधीन माता-पिता को देखने के लिए पहुंच रहा है। जानकारी मिलते ही कोतवाली पुलिस टीम अस्पताल में पहुंची और जाल बिछा बदमाश का इंतजार कर रही थी। जैसे ही बदमाश अस्पताल पहुंचा तभी जाल बिछाए बैठे पुलिसकर्मियों ने शातिद बदमाश को गिरफ्तार कर लिया।

हलवाई मनोज हत्या में था शामिल
एसएचओ ने बताया कि 16 जुलाई को चिरोड़ी मैन मार्केट में हलवाई की दुकान चलाने वाले मनोज कुमार मर्डर योजना में कुख्यात बदमाश शामिल था। लोनी क्षेत्र के लोगों में अपनी बदमाशी का भय बनाकर रखने वाला चिडिय़ा एक शातिर बदमाश है। अपनी बदमाशी के दम पर चिडिया लोगों से रंगदारी वसूलने का काम करता है। शातिर बदमाश ने 25 जून 2020 को रिस्तल गांव में रहने वाले शिव कुमार पुत्र फूल सिंह से अपने साथियों के साथ पहुंच कर 5 लाख की रंगदारी मांगी थी। घटना के दौरान पीडि़त ने टीला मोड़ थाने में शातिर बदमाश के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

इसके दो पूर्व में जा चुके हैं जेल
एसएचओ ने बताया कि शातिर बदमाश चिडिय़ा के दो साथी अनिल पचायरा व दीपक अगरौला पूर्व में ही रंगदारी और संगीन मामलों में जेल जा चुके हैं। रंगदारी मामले में शातिर चिडिय़ा बदमाश काफी समय से फरार चल रहा था। जिसकी पुलिस गिरफ्तारी के प्रयास में बार बार दबिश दे रही थी। लेकिन पुलिस के हत्थे नही चढ़ रहा था। इस पर लोनी कोतवाली में 12 मुकदमें तथा एक ट्रॉनिका सिटी थाने में संगीन धारों में मुकदमे दर्ज हैं।शातिर का 27 जुलाई को न्यायालय ने भी गैर जमानती वारंट जारी किया था। जिसकी पुलिस गिरफ्तारी के प्रयास में  जुटी थी। गुरूवार को कोतवाली पुलिस ने सेंट स्टीफन अस्पताल से गिरफ्तार कर लिया।

Ghaziabad Police, SSP GHAZIABAD, Ghaziabad Historyheater, Ghaziabad News