ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सड़कें दोबारा बनाएगा प्राधिकरण, शुक्रवार को टीम ने सर्वे किया

Updated Feb 22, 2020 18:02:53 IST | Mayank Tawer

शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट में विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने दौरा किया। अफसरों ने टूटी सड़कों का जायजा लिया। अधिकारियों ने शहर के निवासियों को बताया कि ज्यादातर सड़कों के टेंडर हो चुके हैं। जल्दी निर्माण कार्य भी शुरू...

Photo Credit:  Tricity Today
Gaur City Chowk

शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट में विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने दौरा किया। अफसरों ने टूटी सड़कों का जायजा लिया। अधिकारियों ने शहर के निवासियों को बताया कि ज्यादातर सड़कों के टेंडर हो चुके हैं। जल्दी निर्माण कार्य भी शुरू हो जाएगा।

ग्रेटर वेस्ट में सड़कों और सर्विस रोड की हालत बहुत दयनीय है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सामाजिक संस्थाएं लगातार सड़कों को सुधारने की मांग कर रही हैं। अधिकतर सोसायटी के बाहर की सर्विस रोड और मुख्य रोड टूटी हैं। शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए मैनेजर यशपाल सिंह ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट का दौरा किया। प्राधिकरण के नाले, नालियां, रोड और सर्विस रोड का सर्वे किया है।

ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के महाप्रबंधक (परियोजना) समाकांत श्रीवास्तव ने बताया कि आज टीम ग्रेटर नोएडा वेस्ट भेजी गई थी। पूरे इलाके में भ्रमण किया है। सड़कों, नालों, सर्विस रोड और स्ट्रीट लाइटों का निरीक्षण किया है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में ज्यादा सड़कों का निर्माण करवाने के लिए टेंडर जारी हो चुके हैं। अगले कुछ दिनों में निर्माण शुरू हो जाएगा।

दूसरी ओर निवासियों ने प्राधिकरण के अधिकारियों को बताया कि गौर सिटी से हनुमान मंदिर की ओर दोनो सर्विस रोड जर्जर हालत में हैं। जिससे आने-जाने वालों को बड़ी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। अरिहंत अंबर हाउसिंग सोसायटी के निवासी निवासी आशुतोष श्रीवास्तव ने बताया कि उनकी सोसायटी के पास मुख्य सड़क पर कई कट्स खुले हुए हैं और लोग रोंग साइड से निकलते हैं। जिसकी वजह से कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं।

नेफोमा की महासचिव रश्मि पांडेय ने प्राधिकरण की टीम को बताया कि जहां सड़क बन चुकी हैं, वहां स्पीड ब्रेकर नहीं हैं, जिसकी वजह से तेज रफ्तार गाड़ियों से ऐक्सिडेंट हो रहे हैं। जानकारी दी गई कि नालों में गंदगी भरी हुई है। नालों की सफाई पर ध्यान देना चाहिए। मानसून आने से पहले यह सफाई हो जानी चाहिए। जिससे बरसात के दिनों में किसी भी तरह की असुविधा नहीं हो। निवासियों ने खुले नालों को ढ़कने की बात कही है। बताया कि आए दिन कोई न कोई जानवर नालों में फंस जाता है या किसी कार का ऐक्सिडेंट हो जाता है।

यशपाल सिंह ने लोगों को आश्वासन दिया कि लिखित में आवेदन देंगे तो जहां स्पीड ब्रेकर की जरूरत होगी, वहां प्राधिकरण से मंजूरी लेनी होगी। लोटस विला सोसायटी के निवासी सुनील पाण्डेय ने बताया कि वहां रोड टूटी हुई है, जिसकी वजह से लोगों के आवागमन में बहुत दिक्कत होती है। प्राधिकरण की टीम के साथ मुकेश, सचिन गुप्ता, अमित पाण्डेय, अजय श्रीवास्तव, उमेश पटेल, दीपक, श्रवण वर्मा ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट में भ्रमण किया।