कोरोना वायरस से निपटने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने खरीदीं अत्याधुनिक मशीनें, जानिए पूरी खबर

Updated Mar 25, 2020 21:02:29 IST | Mayank Tawer

कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण ने बड़ी पहल की हैं। प्राधिकरण अत्याधुनिक तकनीक मशीनों का इस्तेमाल...

Photo Credit:  Tricity Today
कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण ने बड़ी पहल

कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण ने बड़ी पहल की हैं। प्राधिकरण अत्याधुनिक तकनीक मशीनों का इस्तेमाल करने न केवल शहर के निवासियों बल्कि अपने कर्मचारियों को कोरोना वायरस के खतरों से बचाएगा। बुधवार को कोरोना वायरस के खतरे और इससे निपटने की रणनीति बनाने के लिए जिला प्रशासन, तीनों विकास प्राधिकरण, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस अधिकारियों ने बैठक की। इस बैठक में ही ग्रेटर नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने यह जानकारी दी हैं।

ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के सीईओ ने बताया कि हमने कोरोना वायरस COVID-19 से बचाव के लिए आवश्यक कदम उठाए हैं। सीवर विभाग सफाई बेहतर और आधुनिक तरीके से करवाएगा। एक मशीन प्राधिकरण ने मंगवाई है। इस मशीन की कार्य प्रणाली पूर्णतः ह्यूमन टच रहित है। गार्बेज को मशीन के माध्यम से मेन होल से सीधा ऊपर लाया जायेगा। ऊपर लाने के बाद गार्बेज को मशीन सीधे ही कूड़ा गाड़ी में लोड कर देगी। मशीन जटिंग, ग्रैविंग और रोडिंग का कार्य भी आटोमेटिक रूप से करेगी। जिसमें किसी भी मानव जीवन को हानि होने की सम्भावना पूर्णतः नगण्य हो जायेगी।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने कहा, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण अभी तक सेनेटाइजेशन और साफ-सफाई का कार्य 40 फाॅगिंग मशीनों से किया जा रहा था। अब संख्या बढ़ाकर 100 कर दी गयी है। आवश्यकतानुरूप प्राधिकरण और टीम बढ़ाएगा।

सीईओ ने कहा, ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण कोरोना वायरस COVID-19 से बचाव के लिये कार्य कर रही टीमों के लिए चश्मा, मास्क, ग्लास, स्प्रे मशीन, ग्लब्स, बूट और पूर्ण सेनेटाइजिंग ड्रेस के लिए भारत सरकार के जैम पोर्टल पर 200 लोगों के लिये आर्डर कर दिया गया था। 90 की आपूर्ति प्राधिकरण में हो गयी है। शेष की आपूर्ति 2 दिनों में प्राप्त हो जायेगी।

प्रत्येक वर्क सर्किल के वरिष्ठ प्रबन्धक अपने-अपने वर्क सर्किल में एक-एक Quick Response Team गठित करेंगे। यह एक चलित दस्ता होगा और वरिष्ठ प्रबन्धक के निर्देश पर तत्काल मौके पर पहुंचकर आवश्यकतानुसार सेनेटाइजेशन का कार्य करेंगे।

सीईओ ने बताया कि प्राधिकरण के अधिकारी और कर्मचारी युद्ध स्तर पर कोरोना-वायरस ;ब्व्टप्क्.19द्ध से बचाव के लिए में कार्य कर रहे हैं। प्राधिकरण की मुहिम तब तक निरन्तर जारी रखी जायेगी, जब तक इस आपदा का समाधान नहीं हो जाता है।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने प्राधिकरण के एसेट और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आदेश दिया है कि ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के सभी पार्कों, बस स्टैण्डों, मार्केट्स, सामुदायिक केन्द्रों तथा अन्य सार्वजनिक स्थानों पर कामन एरिया, पार्को में बैठने के स्थान, गेट, प्रवेश द्वार, दरवाजे हैण्डिल, लैमसेट्स और सार्वजनिक शौचालयों (Public Toilets) आदि में विशेष अभियान चलाकर सेनेटाइजेशन करवाया जा रहा है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण कार्यालय क्षेत्र में यदि कोई कोरोना-वायरस COVID-1 सस्पेक्ट पाया जाता है, तो तत्काल जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को तत्काल उसकी सूचना दी जाएगी। प्राधिकरण ने कोरोना-वायरस की समस्या के कारण अपने आवंटियों और आगन्तुकों से अनुरोध किया है कि वायरस से बचाव के लिए सार्वजनिक स्थानों पर कम से कम भ्रमण करें। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के आवंटी अपनी समस्या, शिकायत या सुझाव के कार्यालय में स्थापित हेल्पलाईन सेन्टर में दूरभाष संख्या 0120 2336046, 47, 48, 49 या Whatsapp Number 8800203912 और ई-मेल authority@gnida.in पर सम्पर्क स्थापित कर अपनी समस्याओं का समाधान करा सकते हैं।