Big News: गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में होम डिलीवरी शुरू, अब आप ऑर्डर कर सकते हैं

Updated Mar 26, 2020 13:06:35 IST | Rakesh Tyagi

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लॉक डाउन के बीच राहत देने वाली बड़ी खबर आई है। अब गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद के लोग किसी भी ई-कॉमर्स साइट-एप से सामान ऑर्डर कर सकते हैं। उनके घर डिलीवरी कर दी जाएगी। इस संबंध में गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने आर्डर जारी...

Photo Credit:  Tricity Today
Home delivery has been started in Gautam Budhh Nagar and Ghaziabad

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लॉक डाउन के बीच राहत देने वाली बड़ी खबर आई है। अब गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद के लोग किसी भी ई-कॉमर्स साइट-एप से सामान ऑर्डर कर सकते हैं। उनके घर डिलीवरी कर दी जाएगी। इस संबंध में गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने आर्डर जारी कर दिया है। दूसरी ओर गाजियाबाद में सभी ई-कॉमर्स कंपनियों के अधिकारियों को बुलाकर प्रशासन ने होम डिलीवरी शुरू करने की इजाजत दे दी है।

गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि नोएडा, ग्रेटर नोएडा, ग्रेटर नोएडा वेस्ट और जिले के सभी हिस्सों में डोर टू डोर डिलीवरी पर अब कोई पाबंदी नहीं है। अब लोग अमेजॉन, स्नैपडील, बिग बास्केट, मिल्क बास्केट, 24 सेवन, डीटीडीसी जैसी और तमाम दूसरी जितनी भी डोर टू डोर डिलीवरी कंपनी है, उनकी सेवाएं ले सकते हैं। डीएम ने बताया कि डिलीवरी करने वाले स्टाफ को किसी भी तरह के पास की आवश्यकता नहीं होगी। उन्हें मांगने पर केवल कम्पनी की ओर से दिया गया अपना आईडी कार्ड दिखाना होगा।

दूसरी ओर गाजियाबाद में भी जिला प्रशासन ने ई-कॉमर्स और डोर टू डोर डिलीवरी करने वाली कंपनियों के अधिकारियों के साथ बैठक की है। गाजियाबाद के डीएम डॉ अजय शंकर पांडे ने बताया कि जिले में ई-कॉमर्स कंपनियों और होम डिलीवरी करने वाली कंपनियां काम कर सकती हैं। लोग ऑर्डर कर सकते हैं और सामान मंगवा सकते हैं। किसी भी डिलीवरी ब्वॉय, कर्मचारी या उनके वाहनों को नहीं रोका जाएगा।

आपको बता दें कि 2 दिन पहले लागू हुए नेशनल लॉक डाउन के दौरान लगभग सभी सेवाएं बंद हो गई थीं। जिसके बाद लोगों में ऊहापोह की स्थिति बन गई थी। लोग घरेलू सामान खरीदने और जमा करने के लिए स्टोर्स पर भीड़ लगाकर खड़े हो रहे थे। इस समस्या के कारण सरकार ने डोर टू डोर डिलीवरी और ठेली-फेरी वालों को सामान बेचने की इजाजत दी है।

अधिकारियों का कहना है कि लॉक डाउन का मतलब लोगों को परेशान करना नहीं है। केवल सोशल डिस्टेंसिंग बना कर रखना है। ऐसे में लोग बताए गए एहतियात का पालन करके डोर टू डोर डिलीवरी का लाभ ले सकते हैं। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का ध्यान रखना है।