ग्रेटर नोएडा को खूबसूरत बनाएगी कोरियन कंपनी, जानिए कैसे

Updated Feb 13, 2020 22:33:15 IST | Tricity Today Reporter

ग्रेटर नोएडा के आवासीय सेक्टर सिग्मा से लेकर बैनट यूनिवर्सिटी तक 7 एकड़ एरिया में फैली ग्रीन बेल्ट को कोरियाई कंपनी विकसित करेगी। रोड पर इंजीनियरिंग का भी काम करवाएगी। इसको लेकर गुरूवार को कोरियाई कंपनी और अथॉरिटी के अधिकारियों के साथ समझौता हुआ है। कंपनी इस ग्रीन बेल्ट पर पाम, मोरपंखी ,फाइकस समेत कई प्रजातियों के पेड-पौधे और घास विकसित करेगी। पांच साल तक रखरखाव भी करेगी। इसके बदले में कंपनी अथॉरिटी से कुछ नहीं लेगी। पांच साल तक रखरखाव पर आने वाले खर्च को कंपनी...

Photo Credit:  Tricity Today
Greater Noida

ग्रेटर नोएडा के आवासीय सेक्टर सिग्मा से लेकर बैनट यूनिवर्सिटी तक 7 एकड़ एरिया में फैली ग्रीन बेल्ट को कोरियाई कंपनी विकसित करेगी। रोड पर इंजीनियरिंग का भी काम करवाएगी। इसको लेकर गुरूवार को कोरियाई कंपनी और अथॉरिटी के अधिकारियों के साथ समझौता हुआ है। कंपनी इस ग्रीन बेल्ट पर पाम, मोरपंखी ,फाइकस समेत कई प्रजातियों के पेड-पौधे और घास विकसित करेगी। पांच साल तक रखरखाव भी करेगी। इसके बदले में कंपनी अथॉरिटी से कुछ नहीं लेगी। पांच साल तक रखरखाव पर आने वाले खर्च को कंपनी वहन करेगी।

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने कोरियाई की कंपनी को इंडस्ट्रियल सेक्टर में मोबाइल पार्ट बनाने के लिए प्लॉट अलॉट किया है। यह कंपनी मोबाइल के कई तरह से पार्ट बनाएगी। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के जीएम प्रॉजेक्ट समाकांत ने बताया कि कोरियाई कंपनी ने शहर में हरियाली को बढ़ावा देने के लिए अथॉरिटी से संपर्क किया था। कंपनी ग्रेटर नोएडा शहर में पेड-पौधे और घास लगाकर हरा-भरा करने की जिम्मेदारी उठाने के लिए तैयार हो गई। उन्होंने बताया कि अवासीय सेक्टर सिग्मा-3 से लेकर इंडस्ट्रियल एरिया में बैनट यूनिवर्सिटी तक 7.64 एकड एरिया में ग्रीन बेल्ट है। एमओयू के दौरान अथॉरिटी के सीईओ नरेंद्र भूषण, जीएम प्रॉजेक्ट समाकांत और वरिष्ठ प्रबंधक हार्टीकल्चर अजय राय आदि मौजूद रहे।