Greater Noida West: सोसायटी में डेढ़ महीने से लिफ्ट खराब, 19 मंजिला फ्लैट्स में 80 परिवार कैद

Greater Noida West: सोसायटी में डेढ़ महीने से लिफ्ट खराब, 19 मंजिला फ्लैट्स में 80 परिवार कैद

Tricity Today | प्रतीकात्मक फोटो

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की पंचशील ग्रीन्स-1 हाउसिंग सोसायटी के निवासी परेशान हैं। सोसयटी के टावर में लिफ्ट महीनों से खराब पड़ी है। निवासी लगातार बिल्डर से लिखित शिकायत करके लिफ्ट ठीक करवाने की मांग कर रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अब तक टावर में दूसरी लिफ्ट से काम चल रहा था लेकिन गुरुवार को दूसरी लिफ्ट भी खराब हो गई है। जिससे सारे परिवार अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं। निवासी सुबह से बिल्डर को सम्पर्क करने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन कुछ नहीं हो रहा है।

पंचशील ग्रीन्स-1 हाउसिंग सोसायटी के निवासी मयंक प्रताप सिंह ने कहा, "हमारे B-3 टावर की एक लिफ्ट पिछले 18 अप्रैल से खराब पड़ी हुई थी। जिसकी लिखित कंप्लेन कई दफ़ा बिल्डर से की गई, पर कुछ नही हुआ। अभी तक हम लोग दूसरी छोटी लिफ्ट से काम चला रहे थे। अब गुरुवार को यह लिफ्ट भी खराब हो गई है। जिससे निवासी अपने घरों में कैद हो गए हैं। मेंटेनेन्स डिपार्टमेंट का लापरवाही और मनमानी का खामियाजा आम जनता भुगत रही है। हम लोगों ने दो साल का एडवांस मेंटेनेन्स दे रखा है। लिफ्ट खराबी की सूचना एमडी अनुज चौधरी और जीएम हेमंत गुप्ता को कई बार शिकायत कर चुके हैं।"

मयंक प्रताप का कहना है, "मैं 17वीं मंजिल पर रहता हूं। टावर 19 मंजिल का है। मेरे साथ मेरे बूढ़े माता-पिता रहते हैं। 80 परिवार इस टावर में रह रहे हैं। हम लोगों की जिंदगी नरक बन गई है। आज बहुत दिन बाद बाजार खुला है। मैं अभी बाजार कुछ सामान लेने आया हूं। सत्रह मंजिल उतरकर आया हूं। अब सोच रहा हूं कि सत्रह फ्लोर कैसे चढ़कर घर जाऊंगा।" 

मयंक ने बताया कि उनके पड़ोस में रहने वाले करीब 65 वर्ष के सीनियर सिटीजन को सुबह दूध लेने जाना पड़ा। मैंने उनसे कहा था कि जब दूध की जरूरत हो तो मुझे बता दें। लेकिन उन्होंने मुझे जानकारी नहीं दी और वह खुद ही दूध लेने चले गए। उन्हें नीचे जाने और वापस आने में 1 घंटे से ज्यादा वक्त लग गया। इस दौरान मैं अपना फोन भी घर छोड़कर चले गए। उनकी पत्नी बेहद परेशान हो गई। उन्होंने आकर मुझे बताया तो मैं उन्हें देखने नीचे जा रहा था तो वह 11वीं मंजिल की सीढ़ियों पर बैठकर आराम कर रहे थे। 

सोसायटी के निवासियों ने कहा, टावर के कई परिवारों में ऐसे बुजुर्ग हैं, जो अकेले रह रहे हैं। इससे बड़ी समस्या यह है कि अगर रात में या किसी भी वक्त कोई मेडिकल इमरजेंसी हो गई तो क्या होगा? सोसाइटी के निवासी कहते हैं कि बिल्डर और लिफ्ट निर्माता कंपनी के बीच कोई विवाद चल रहा है। वारंटी के चक्कर में पड़कर बिल्डर डेढ़ महीने से हम लोगों को दुखी कर रहा है। अपने खर्चे पर लिफ्ट को ठीक करवाने के लिए तैयार नहीं है। उसे इस बात से कोई मतलब नहीं है कि यहां के निवासी कितने कठिन समय से गुजर रहे हैं।

निवासियों ने कहा, हमारी कौन सुनेगा पता नहीं पर कभी लिफ्ट, कभी पानी, कभी बिजली की समस्या रहती है। यह हाल तब है जब पूरे पैसे एडवांस में दे चुके हैं। लेकिन परेशानी कम होने का नाम नही ले रही हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.