ला रेजिडेंशिया सोसाइटी की लिफ्ट दो महीने से बंद, 22वीं मंजिल तक सीढियां चढ़-उतर रहे बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे

Updated Sep 13, 2020 16:44:06 IST | Mayank Tawer

ग्रेटर नोएडा वेस्ट कि ला रेजीडेंशिया हाउसिंग सोसाइटी में बिल्डर की बड़ी लापरवाही सामने आई है। सोसाइटी की लिफ्ट पिछले 2 महीने से खराब....

ला रेजिडेंशिया सोसाइटी की लिफ्ट दो महीने से बंद, 22वीं मंजिल तक सीढियां चढ़-उतर रहे बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे
Photo Credit:  Google Image
ला रेजिडेंशिया सोसाइटी

ग्रेटर नोएडा वेस्ट कि ला रेजीडेंशिया हाउसिंग सोसाइटी में बिल्डर की बड़ी लापरवाही सामने आई है। सोसाइटी की लिफ्ट पिछले 2 महीने से खराब पड़ी हुई है। जिसकी वजह से बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि 22वीं मंजिल से भी निवासियों को सीढ़ियां चढ़कर और उतर कर आवागमन करना पड़ रहा है। निवासियों का कहना है कि तमाम शिकायतों के बावजूद बिल्डर सुनवाई करने के लिए तैयार नहीं है।

ला रेजिडेंशिया हाउसिंग सोसायटी के निवासियों ने बताया कि पिछले 2 महीने से लिफ्ट खराब होने से डेढ़ सौ परिवारों को परेशानी झेलनी पड़ रही है। सोसायटी के लोगों ने कई बार मेंटेनेंस डिपार्टमेंट से इस समस्या को दूर करने की मांग की। लेकिन समस्या का कोई हल नहीं हो सका है। रविवार को सोसायटी के लोगों ने प्रशासन और बिसरख थाना पुलिस को इस संबंध में शिकायत देकर समस्या दूर कराने की मांग की है।

ला रेजिडेंशिया सोसायटी के लोगों ने बताया कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों की समस्या कम होती नही दिख रही हैं। कभी चोरी, कभी हत्या, कहीं आवारा कुत्तों का आतंक और कहीं चैन लूटने की घटना हो रही हैं। इन सब घटनाओ के बीच बिल्डरों द्वारा खरीदारों का मानसिक और आर्थिक दोहन निर्बाध रूप से चालू है। ला रेजिडेंशिया सोसाइटी की मेंटेनेंस व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। आलम ये है कि कभी एक लिफ्ट बंद होती है तो कभी दूसरी। कभी एक टावर में पानी नही आता तो कभी दूसरे टावर में पेयजल संकट झेलना पड़ता है। ताजा घटना इस सोसाइटी के टावर नंबर 16 की है, जहां एक लिफ्ट पिछले दो महीने से बंद पड़ी है।

लोगों ने बताया कि इस टावर में लगभग 150 लोग रहते हैं और एक लिफ्ट बंद होने से प्रतिदिन ही लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने बताया कि टावर 16 में ही कुछ बुजुर्ग रहते हैं। जिनको दिल की बीमारी है और किसी भी दिन अगर कुछ होता है तो तुरंत लिफ्ट की सेवा उनको भी शायद न मिले। इस दशा में किसी की जान अगर जाएगी तो उसका जिम्मेदार कौन होगा। लिफ्ट की समस्या को लेकर निवासियों ने बिल्डर और मेंटेनेंस एजेंसी दोनों से बात करके समस्या को सुलझाने का प्रयास किया। लेकिन दोनों जगह से यही जवाब मिला कि पैसा नही है। जब पैसा आएगा तब लिफ्ट ठीक होगी।

सोसायटी के लोगों का कहना है कि लिफ्ट की मरम्मत फरवरी में होनी थी और निवासियों ने मेंटेनेंस का चार्ज दिया हुआ था। लेकिन बिल्डर द्वारा उस पैसे का दुरुपयोग किया गया। इस पैसे के दुरुपयोग से संबंधित शिकायत बिसरख थाने में भी की गई थी। लेकिन वहां से भी कोई राहत नहीं मिली। सोसाइटी में किसी भी लिफ्ट में सेफ्टी सर्टिफिकेट नहीं है। जो कि नियमानुसार लिफ्ट चलाने के लिए जरूरी है। रविवार को सोसायटी के लोगों ने ट्विटर के माध्यम से डीएम और बिसरख थाना प्रभारी को इस समस्या से अवगत कराया है।

La Residentia Society, Greater Noida West, Noida Extension

Most Viewed

यमुना सिटी
बड़ी खबर: जेवर एयरपोर्ट की जमीन से गुजरने वाली 4 नहरों की शिफ्टिंग शुरू, पढ़िए पूरी खबर
बड़ी खबर: जेवर एयरपोर्ट की जमीन से गुजरने वाली 4 नहरों की शिफ्टिंग शुरू, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा को केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, देश के चुनिंदा 11 शहरों में शुमार होगा, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा को केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, देश के चुनिंदा 11 शहरों में शुमार होगा, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा वेस्ट
Greater Noida West BIG BREAKING: सोसाइटी में घुसकर प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों से भूना, मौके पर ही मौत, साथी गंभीर रूप से घायल
Greater Noida West BIG BREAKING: सोसाइटी में घुसकर प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों से भूना, मौके पर ही मौत, साथी गंभीर रूप से घायल
ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा: शेर सिंह भाटी हत्याकांड ने तूल पकड़ा, शुक्रवार को दादरी में महापंचायत, भाजपा नेता ने कहा- अख़लाक़ के लिए रोने वालों ये हमारा भाई है
ग्रेटर नोएडा: शेर सिंह भाटी हत्याकांड ने तूल पकड़ा, शुक्रवार को दादरी में महापंचायत, भाजपा नेता ने कहा- अख़लाक़ के लिए रोने वालों ये हमारा भाई है
ग्रेटर नोएडा वेस्ट
गौर सिटी में बिल्डर का हैरान करने वाला कारनामा, विकास प्राधिकरण ने भेजा नोटिस
गौर सिटी में बिल्डर का हैरान करने वाला कारनामा, विकास प्राधिकरण ने भेजा नोटिस