COVID-19: विधायक धीरेंद्र सिंह ने वॉररूम तैयार किया, पूरे जेवर विधानसभा क्षेत्र में 500 वॉरियर काम करेंगे, जानिए कैसे

Updated Mar 25, 2020 13:26:20 IST | Mayank Tawer

जेवर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने एक और बड़ी पहल की है। विधायक ने रबूपुरा में अपने कार्यालय को कोरोना वायरस के खिलाफ वॉर रूम में तब्दील कर दिया है। जेवर विधानसभा क्षेत्र के हर गांव से लाइव सूचनाएं इस वॉर रूम...

Photo Credit:  Tricity Today
वॉर रूम में काम करते विधायक धीरेंद्र सिंह और उनकी टीम

जेवर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने एक और बड़ी पहल की है। विधायक ने रबूपुरा में अपने कार्यालय को कोरोना वायरस के खिलाफ वॉर रूम में तब्दील कर दिया है। जेवर विधानसभा क्षेत्र के हर गांव से लाइव सूचनाएं इस वॉर रूम को मिल रही हैं। खास बात यह है कि यह पूरी व्यवस्था वोलेंटियर्स यूथ संचालित कर रहे हैं। वॉर रूम के जरिए चन्द मिनटों में किसी भी गांव की कोई परेशानी या सूचना जिला प्रशासन और लखनऊ में सरकार तक पहुंच रही हैं।

इस बारे में धीरेंद्र सिंह ने बताया, इसके लिए हमने जेवर विधानसभा क्षेत्र को दो हिस्सों में बांटा है। एक भाग जेवर और दूसरा भाग दनकौर है। विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक गांव में वहां के स्वयंसेवी युवकों का एक समूह व्हाट्सएप पर बनाया गया है। उन लोगों को प्रशिक्षित किया गया है कि वह अपने घरों में रहकर पूरे गांव पर नजर रख सकते हैं। इन व्हाट्सएप ग्रुप में गांव में लगभग सभी सक्रिय लोग शामिल हैं।

गांव के व्हाट्सएप ग्रुपों के एडमिन को मिलाकर वॉररूम में एक और व्हाट्सएप ग्रुप क्रिएट किए गए हैं। इस तरह पूरे विधानसभा क्षेत्र के लोग आपस में जुड़ गए हैं। विधानसभा क्षेत्र के दोनों हिस्सों से आ रही सूचनाओं को मॉनिटर करने के लिए और उन पर कार्यवाही करने के लिए 5 लोगों की टीम रबूपुरा स्थित मेरे कार्यालय में मौजूद है। यह टीम दिन-रात काम करेगी। पूरे इलाके से आने वाली सूचनाओं पर नजर रखेगी। यहां आने वाली सूचनाओं को उनकी गंभीरता के आधार पर हम अपने स्तर पर, जिला प्रशासन और सरकार से निस्तारित करवा सकते हैं। 

धीरेंद्र सिंह ने बताया कि हमने ग्रुप पर वह तमाम सूचनाएं और जानकारियां भेजी हैं, जो कोरोना वायरस के प्रति लोगों को सचेत करती हैं। अगले 21 दिन के लोक डाउन के दौरान लोगों को किस तरह रहना है। साथ ही अगर किसी गांव में कोई आपातकालीन समस्या उत्पन्न होगी तो उसकी जानकारी भी हमें तत्काल मिल जाएगी। जिसका हम समाधान करेंगे। इन व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से गांवों में किसी को मेडिकल इमरजेंसी, खाने पीने की समस्या अथवा पशु चारे की दिक्कत होती है, तो वह अपनी जानकारी हम तक भेज सकता है।

विधायक ने ग्रुपों पर भेजा सबसे पहला सन्देश
आप सभी का इस ग्रुप में स्वागत है। इस ग्रुप को बनाए जाने का उद्देश्य कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण के प्रति लोगों को सजग करना तथा सरकार द्वारा समय-समय पर क्या निर्देश दिए जा रहे हैं, उन सभी को आपके माध्यम से जन-जन तक पहुंचाना है। हमें इस बीमारी को हल्के में नहीं लेना चाहिए, क्योंकि बिना सोशल डिस्टेंस के हम इससे नहीं बच सकते। इटली, ईरान और जर्मनी में आज हालात ऐसे हैं कि लोग सड़कों पर मर रहे हैं, लेकिन विकसित मुल्क होते हुए भी उन मरीजों को स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं नहीं मिल पा रही हैं।

क्योंकि जिस बीमारी का इलाज भी अभी तक नहीं खोजा जा सका है, आखिर उस बीमारी से लड़ा कैसे जाए? तो इसीलिए आप सब लोगों पर अपने परिवार, अपने समाज और अपने गांव की जिम्मेदारी का महत्वपूर्ण दायित्व सौंपा जा रहा है। कोई गरीब 21 दिन के लॉक डाउन में गांव में भूखा न रहे, किसी भी व्यक्ति, पशु पालक, किसान व मजदूर को कोई तकलीफ ना हो। इन्हीं सब समस्याओं के लिए आपके सहयोग की अत्यंत आवश्यकता है।

ग्रुप क्रिएट होते ही सभी से निवेदन है कि विगत 15 दिनों में आपके गांव में बाहर से किन-किन जगह से लोग आए हैं, उनकी सूची व मोबाइल नंबर इसी समय आपको इस ग्रुप पर शेयर करनी हैं। गांव में किसी को भी कोई भी परेशानी हो तो आप निसंकोच इस ग्रुप पर उस व्यक्ति की भावनाओं को भेज सकते हैं। पूरी सरकार और प्रशासनिक अमला आपकी मदद के लिए सड़कों पर हैं। जिन समस्याओं का समाधान प्रशासन के माध्यम से होगा, उनसे कराया जाएगा तथा जो समस्याएं आपका जनप्रतिनिधि और विधायक होने के नाते मेरे स्तर की होंगी, उन्हें मैं आपको अपने परिवार का सदस्य समझते हुए स्वयं हल करूंगा।

धीरेंद्र सिंह ने बताया कि ग्रुप में से जुड़े वॉलिंटियर ने आज सुबह से काम करना शुरू कर दिया है। कई गांवों से लोगों की सूचियां आ चुकी हैं, जो पिछले 15-20 दिनों के दौरान कहीं बाहर से गांव में पहुंचे हैं। इसके अलावा वॉर रूम में बैठी टीम लगातार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विश्व स्वास्थ्य संगठन, जिला प्रशासन की ओर से जारी की जा रही एडवाइजरी और सूचनाएं भेज रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि मेरे विधानसभा क्षेत्र में अगले 21 दिनों के दौरान लॉक डाउन से लोगों को कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। लोग इस लुक डाउन का शहर सो फ़ीसदी पालन करेंगे।

धीरेंद्र सिंह ने कहा, इस वॉर रूम के दो कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। यह जेवर विकास खंड के लिए और दूसरा दनकौर विकास खंड क्षेत्र के लिए है। इनमें से प्रत्येक में 250 वॉरियर्स होंगे, जो पूरी विधानसभा पर नजर रखेंगे। इन ग्रुप में सभी गांवों से सूचनाएं संकलित की जाएंगी। संबंधित विभागों को प्रेषित कर दी जाएंगी। लगभग 500 आदमी पूरी विधानसभा पर नजर रखेंगे और प्रत्येक गांव में लगभग 50 वॉरियर्स बनाए जाएंगे, जो गलियों में जाकर सूचनाओं का संग्रह कर हमारे पास तक एडमिन के माध्यम से भेजने का कार्य करेंगे।

(हम संक्रमित लोगों के नाम और पते उनकी निजता को दृष्टिगत रखते हुए प्रकाशित नहीं कर रहे हैं। आपसे अनुरोध है कि पैनिक नहीं हों और धैर्य के साथ रहें। अपना और अपने परिवार का बचाव ही आपका सबसे बड़ा योगदान है। tricitytoday.com)