रिलायंस एजीएम शुरू होने से बाजार बंद होने तक मुकेश अंबानी को 80 हजार करोड़ का फटका, जानिए क्यों

Updated Jul 16, 2020 04:54:15 IST | Rakesh Tyagi

बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं वार्षिक महासभा में बड़ी-बड़ी घोषणाएं हो रही थीं। मुकेेश अंबानी...

रिलायंस एजीएम शुरू होने से बाजार बंद होने तक मुकेश अंबानी को 80 हजार करोड़ का फटका, जानिए क्यों
Photo Credit:  Social Media
Mukesh Ambani
Key Highlights
रिलायंस की महासभा शुरू होने से पहले कंपनी के शेयरों में उछाल दर्ज किया गया
1978.50 रुपए के साथ 52 हफ्ते में नई उंचाई पर रिलायंस का शेयर प्राइस शीर्ष पर
बाजार बंद होने के समय कंपनी का शेयर 1800 रुपए के स्तर पर पहुंच गया
मार्केट कैप 12 लाख करोड़ से नीचे, मुकेश अंबानी को बड़ा नुकसान उठाना पड़ा

बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज की 43वीं वार्षिक महासभा में बड़ी-बड़ी घोषणाएं हो रही थीं। मुकेेश अंबानी ने एक के बाद एक बड़ी-बड़ी घोषणाएं कर डालीं, लेकिन दूसरी ओर मुकेश अंबानी को इसी दौरान शेयर बाजार में घाटा होता चला गया। करीब 80 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान उठाना पड़ा है। बुधवार की शाम शेयर बाजार बंद होने तक कंपनी के शेयरों में करीब 4 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। 

बुधवार को कंपनी की यह गिरावट कारोबारी सत्र के दौरान 6 फीसदी तक पहुंच गई। खास बात यह रही कि कंपनी का शेयर आज फिर से रिकॉर्ड तोड़ भागा। जिसकी वजह से कंपनी का शेयर  52 हफ्तों की उंचाई पर पहुंच गया। इसके बाद से कंपनी का शेयर गिरना शुरू हुआ और 1800 रुपए के स्तर पर आकर आकर बंद हो गया। जिसकी वजह से कंपनी का मार्केट कैप भी 12 लाख करोड़ रुपए से नीचे चला गया है। 

52 हफ्तों की उंचाई से गिरा कंपनी का शेयर

बुधवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में 4 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। बांबे स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स के बंद होने के बाद कंपनी का शेयर का दाम 71 रुपए की गिरावट के साथ 1845.60 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ है। जबकि, आज कंपनी का शेयर 1938.70 रुपए प्रति शेयर पर खुला था। कंपनी का शेयर 2000 रुपए प्रति शेयर के करीब पहुंच गया था। एक समय कंपनी का शेयर 1978.50 रुपए पर था। एजीएम शुरू होने से कुछ समय पहले कंपनी के शेयरों में गिरावट आनी शुरू हो गई। आपको बता दें कि मंगलवार को कंपनी का शेयर 1916.65 रुपए प्रति शेयर पर बंद हुआ था। 

12 लाख करोड़ रुपए से नीचे आ गया कम्पनी का मार्केट कैप

कम्पनी के शेयरों में गिरावट की वजह से कंपनी का मार्केट कैप भी 12 लाख करोड़ रुपए से नीचे आ गया है। बुधवार को कंपनी का मार्केट कैप 12.25 लाख करोड़ रुपए के स्तर पर शुरू हुआ। शेयरों की कीमतों में इजाफे के साथ मार्केट कैप में भी गिरावट देखने को मिलती रही। जानकारों की मानें तो कंपनी के शेयरों में गिरावट की वजह से बाजार बंद होने तक रिलायंस का मार्केट कैप 11,70,000.49 करोड़ रुपए पर आ गया था। 

मुकेश अंबानी को हुआ 80 हजार करोड़ रुपए का नुकसान

बुधवार की दोपहर रिलायंस इंडस्ट्रीज की जब एजीएम शुरू हुई तो उससे पहले कंपनी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही थी। तब कंपनी का शेयर 1978.50 रुपए प्रति शेयर पर चल रहा था। तब उस समय कंपनी की मार्केट कैप 1254251.17 करोड़ रुपए पर थी। बाजार बंद हुआ तो रिलायंस के शेयर 4 फीसदी तक गिर चुके थे। जिसकी वजह से कंपनी की मार्केट कैप 11,70,000.49 करोड़ रुपए पर आ गई। अगर दोनों के बीच के अंतर को देखें तो 80 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा है। करीब यही रिलायंस और मुकेश अंबानी का आर्थिक नुकसान है। 

एक बार फिर वॉरेन बफेट से पिछड़े मुकेश अंबानी
 
रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी संपत्ति के मामले में एक बार फिर वॉरेन बफेट से पिछड़ गए हैं। ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स के अनुसार रिलायंस के शेयरों में गिरावट आने से मुकेश अंबानी की संपत्ति को करीब 782 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है। जिसकी वजह से वह बुधवार को दुनिया के अरबपतियों की सूची में 6वें स्थान से खिसकर 8वें स्थान पर आ गए हैं। वहीं, दूसरी ओर वॉरेन बफेट एक बार फिर से 6वें स्थान पर पहुंच गए हैं। अब गूगल के संस्थापक लैरी पेज भी मुकेश अंबानी से एक स्थान आगे बढ़कर 7वें स्थान पर पहुंच गए हैं। मौजूदा समय में मुकेश अंबानी की सकल संपत्ति 71.6 बिलियन पर आ गई है।

Total value of reliance industries, total assets of reliance industries, total equity in reliance industries, net income of reliance industries, total revenue of reliance industries, Reliance AGM, Mukesh Dhirubhai Ambani, RIL AGM 2020, Byjus competitor, Richest Man Mukesh Ambani, Jio Learning, Google-Jio partnership, Google investment, Jio Mart, RIL AGM 2020, Reliance Industries, Biggest company of India, Biggest tax payer in India