विकास दुबे की गिरफ़्तारी में न्यायिक जांच की मांग पर भाजपा ने दिया दिग्विजय सिंह को जवाब, पढ़िए

विकास दुबे की गिरफ़्तारी में न्यायिक जांच की मांग पर भाजपा ने दिया दिग्विजय सिंह को जवाब, पढ़िए

Tricity Today | उज्जैन में पुलिस की हिरासत में विकास दुबे।

कैलाश विजयवर्गीय ने गुरुवार को कहा कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की ओर से लगाए आरोप बेमायने हैं।gangaसंरक्षण के आरोपों की न्यायिक जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। पुलिस सत्य को खोजने में सक्षम है।

भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने गुरुवार को कहा कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह की ओर से गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद लगाए आरोप बेमायने हैं। उन्होंने विकास को राजनीतिक संरक्षण के आरोपों की न्यायिक जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। पुलिस सत्य को खोजने में सक्षम है।

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, "इस तरह की जांच की कोई आवश्यकता नहीं है। यदि कोई मध्य प्रदेश में आया है, तो उसने दो से तीन राज्यों की पुलिस को पार कर लिया होगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्य की पुलिस बहुत सक्षम है और उन्हें सब कुछ पता चल जाएगा।

उनसे गुरुवार को उज्जैन में गिरफ्तार किए गए दुबे के कथित राजनीतिक संरक्षण की जांच के लिए दिग्विजय सिंह की मांग के बारे में पूछा गया था। उन्होंने कहा, "इतने बड़े अपराधी को गिरफ्तार किया गया है, इसलिए पूछताछ की जाएगी। वह कैसे पकड़ा गया, और वह कैसे मध्य प्रदेश तक पहुंचने में कामयाब रहा, इस सभी के बारे में पूछताछ की जाएगी। इसमें कौन सी नई बात दिग्विजय सिंह जी कह रहे हैं।"

भाजपा नेता ने कहा, "महाकाल के कर्मचारियों को धन्यवाद दिया जाना चाहिए कि उन्होंने उसकी पहचान की और पुलिस को सूचित किया। फिर पुलिस थाने से कर्मी आए और उसे गिरफ्तार कर लिया गया। इतनी बड़े अपराधी के पकड़े जाने पर प्रशंसा की बजाय सवाल उठाना दिग्विजय सिंह या किसी अन्य व्यक्तिएक क्षुद्र राजनीति है।"

उन्होंने कहा, "निश्चित रूप से उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी, कानूनी कार्रवाई की जाएगी।" इससे पहले दिन में एक ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने न्यायिक जांच की मांग की थी। दिग्विजय सिंह ने लिखा था, "मैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से विकास दुबे की गिरफ़्तारी या आत्मसमर्पण की न्यायिक जांच की मांग करता हूं। यह पता लगाया जाना चाहिए कि यह गैंगस्टर किन नेताओं और पुलिस अधिकारियों के संपर्क में था। उसे (विकास दुबे) को न्यायिक हिरासत में रखा जाना चाहिए। उसकी सुरक्षा को ध्यान में रखा जाना चाहिए ताकि सभी रहस्य सामने आएं।"

दुबे को पुलिस ने आज सुबह मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया। वह पिछले हफ्ते कानपुर में हुई मुठभेड़ का मुख्य आरोपी है, जिसमें हमलावरों के एक समूह ने एक पुलिस दल पर गोलियां चलाईं। पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी। घटना में आठ पुलिस कर्मी मारे गए थे। पिछले छह दिनों से उत्तर प्रदेश पुलिस विकास दुबे की सरगर्मी से तलाश कर रही थी।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.