नोएडा के भाजपा नेताओं ने सतीश महाना से कहा- नहीं चाहिए पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम

Updated Jul 02, 2020 17:05:02 IST | Mayank Tawer

उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना बुधवार को नोएडा और ग्रेटर नोएडा के दौरे पर आए थे। सतीश महाना का मकसद जिले के तीनों विकास प्राधिकरण की विकास योजनाओं का जायजा...

नोएडा के भाजपा नेताओं ने सतीश महाना से कहा- नहीं चाहिए पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम
Photo Credit:  Tricity Today
नोएडा के भाजपा नेताओं ने सतीश महाना से कहा- नहीं चाहिए पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम
Key Highlights
बुधवार को उद्योग विकास मंत्री सतीश महाना नोएडा और ग्रेटर नोएडा के दौरे पर आए थे
सतीश महाना ने जिले के तीनों विकास प्राधिकरण में विकास कार्यों की समीक्षा की थी
इस दौरान उनसे नोएडा महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता और दूसरे भाजपा नेताओं ने मुलाकात की
भाजपा नेताओं ने कहा- 6 महीने के लिए कमिश्नरेट सिस्टम लागू किया गया था जो फेल हो गया है

उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना बुधवार को नोएडा और ग्रेटर नोएडा के दौरे पर आए थे। सतीश महाना का मकसद जिले के तीनों विकास प्राधिकरण की विकास योजनाओं का जायजा लेना था। जब वे नोएडा पहुंचे तो उनसे भारतीय जनता पार्टी के महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता की अगुवाई में भाजपाइयों ने मुलाकात की। भाजपा नेताओं ने सतीश महाना से कहा कि गौतम बुध नगर में पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम 6 महीने के लिए लागू किया गया था। यह व्यवस्था पूरी तरह फेल साबित हुई है। इसे बदला जाना चाहिए और दोबारा जिले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की तैनाती की जानी चाहिए।

हम इस मुद्दे पर आम आदमी की राय जानना चाहते हैं। दरअसल, यह व्यवस्था सरकार ने आम आदमी की सुरक्षा के लिए ही लागू की है। आप इस ट्वीट पर जाकर अपनी राय रख सकते हैं।

भारतीय जनता पार्टी नोएडा महानगर के अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने कहा, "हम लोगों ने औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना से मुलाकात की है। उन्हें बताया है कि गौतम बुध नगर में 6 महीने के लिए पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम ट्रायल बेस पर लागू किया गया था। इसके गुण-दोष देखकर इसे स्थाई रूप से जिले में लागू रखा जाएगा या हटाया जाएगा। इस पर सरकार को निर्णय लेना है।" मनोज गुप्ता का कहना है कि हम लोगों ने मंत्री को बताया है कि कमिश्नरेट सिस्टम पूरी तरह फेल साबित हुआ है। पिछले 6 महीने के दौरान लॉकडाउन अवधि को छोड़ दें तो बाकी समय अपराध में कोई गिरावट नहीं आई है। इससे बेहतर जिले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व वाली व्यवस्था ज्यादा बेहतर थी।

मनोज गुप्ता ने आगे कहा, "मैंने और मेरे साथ गए भारतीय जनता पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेताओं ने सतीश महाना को बताया है कि जिले में दोबारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक का पद सृजित किया जाना चाहिए और कमिश्नर सिस्टम को खत्म किया जाना चाहिए। इससे केवल अपव्यय हो रहा है। राज्य के संसाधनों का नुकसान हो रहा है। जिले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कहीं ज्यादा बेहतर ढंग से काम कर रहे थे।" मनोज गुप्ता का कहना है कि सतीश महाना बुधवार को कमिश्नरेट व्यवस्था के पिछले 6 महीनों की समीक्षा करने आए थे। हम सभी लोगों ने कमिश्नरेट व्यवस्था के खिलाफ नकारात्मक रिपोर्ट उन्हें दी है। अब मंत्री सतीश महान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपनी रिपोर्ट देंगे। हम चाहते हैं कि गौतम बुध नगर से पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम खत्म किया जाना चाहिए।

आपको बता दें कि नोएडा में भाजपा के पूर्व महानगर अध्यक्ष को मारपीट के एक मामले में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा महानगर अध्यक्ष मनोज गुप्ता की अगुवाई में नोएडा के थाना सेक्टर-20 के सामने पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने हंगामा काटा था। धरना-प्रदर्शन किया था और पुलिस कमिश्नर के खिलाफ नारेबाजी की गई थी। तब इस मामले को लेकर मुख्य विपक्षी दलों कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने सवाल खड़े किए थे। अब एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी नोएडा महानगर इकाई ने कमिश्नरेट व्यवस्था पर बड़ा सवालिया निशान खड़ा करते हुए इसे खत्म करने की मांग की है।

Noida BJP, Noida Police commissionerate System, Police commissionerate System, Police Commissioner Alok Singh, Alok Singh IPS, Noida Police, Satish Mahana Minister, Satish Mahana BJP, BJP Noida, Bhartiya Janta Party