नोएडा-ग्रेनो मेट्रो ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, सोमवार को सर्वाधिक लोगों ने एक्वा लाइन पर यात्रा की

नोएडा-ग्रेनो मेट्रो ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, सोमवार को सर्वाधिक लोगों ने एक्वा लाइन पर यात्रा की

Google Image | Ritu Maheshwari IAS

नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो ने कोविड-19 लॉकडाउन के बाद बीते सोमवार कक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। सितंबर में मेट्रो की सेवाएं फिर से शुरू करने के बाद सोमवार को एक दिन की सवारियां हासिल की हैं। नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (NMRC) की प्रबंध निदेशक ऋतु माहेश्वरी ने मंगलवार को यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि यात्रियों के लिए एक सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए जा रहे हैं। उनकी ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि एक्वा लाइन मेट्रो महामारी के कारण मार्च में बन्द करनी पड़ी थी। पांच महीने के लिए परिचालन बंद कर दिया था। अब सोमवार को 7,176 यात्रियों ने सेवाएं ली हैं।

ऋतु माहेश्वरी के अनुसार, मेट्रो सेवा ने 7 सितंबर को दोबारा संचालन शुरू करने के बाद से लगभग 12 गुना सवारियों की वृद्धि दर्ज की है। उन्होंने कहा, "एक्वा लाइन पर सेवाएं 7 सितंबर, 2020 को आंशिक रूप से दोबारा शुरू हुई थीं। एनएमआरसी ने सेवाओं को फिर से शुरू करने से पहले COVID-19 वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सभी आवश्यक सावधानियां सुनिश्चित कीं हैं।" प्रबंध निदेशक ने आगे कहा, "ऑपरेशन्स के पहले दिन 600 यात्रियों की राइडरशिप दर्ज की गई थी। 12 सितंबर, 2020 को एनएमआरसी ने एक्वा लाइन पर पूर्ण रूप से परिचालन शुरू कर दिया था और 2,148 यात्रियों की राइडरशिप दर्ज की थी। तब से एनएमआरसी की राइडरशिप में एक स्थिर वृद्धि हो रही है।"

ऋतु माहेश्वरी ने कहा कि एनएमआरसी के सुरक्षा मानकों में "यात्रियों का विश्वास है" और एक्वा लाइन को महामारी के दौरान सार्वजनिक परिवहन के सुरक्षित मोड के रूप में स्वीकार किया है। प्रत्येक यात्रा के बाद एनएमआरसी ट्रेनों को पूरी तरह से साफ करती है। उन्होंने कहा कि स्टेशन, प्लेटफॉर्म और अन्य संपर्क क्षेत्र जैसे लिफ्टों के कॉल बटन, एएफसी गेट्स, एस्केलेटर, सीढ़ियां और पीओएस मशीन आदि को भी नियमित अंतराल पर साफ किया जाता है। माहेश्वरी ने कहा कि यात्रियों को फेस मास्क पहनने और मेट्रो परिसर में सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करवाने के लिए स्टेशन पर एनएमआरसी का स्टाफ तैनात किया गया है।

एनएमआरसी की प्रबंध निदेशक ऋतु महेश्वरी ने कहा, "स्टेशनों के अंदर केवल फेस मास्क वाले यात्रियों को दाखिल होने की अनुमति दी जाती है। प्रत्येक यात्री की थर्मल सेंसर से जांच की जाती है। सामान्य से अधिक तापमान वाले यात्रियों को रोक दिया जाता है। उनकी तत्काल जांच करवाई जाती है। पर्याप्त सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए यात्री ज़ोन, टिकट काउंटर और प्लेटफार्मों पर एक मीटर की दूरी अनिवार्य है। यात्रियों को निर्धारित और चिन्हित स्थानों पर खड़ा किया जाता है। उन्होंने कहा कि एनएमआरसी यात्रियों को कॉन्टैक्ट-लेस स्मार्ट कार्ड या क्यूआर-कोड आधारित मोबाइल ऐप चुनने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। इससे मानव संपर्क को कम से कम किया जा रहा है। हालांकि, विशेष परिस्थितियों के लिए पेपर-टिकट भी उपलब्ध करवाए गए हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.