यूपी के सबसे बड़े गैंगस्टर ने फेसबुक पर नीदरलैंड से दो पोस्ट कीं, यूपी पुलिस में मचा हड़कंप

Updated Feb 06, 2020 20:38:49 IST | TriCity Today Correspondent

नाटकीय ढंग से पुलिस के शिकंजे से भाग निकलने के 10 महीने बाद यूपी का मोस्ट वांटेड गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो फिर एक बार सोशल मीडिया पर प्रकट हुआ है। उसने एक सोशल मीडिया पोस्ट के साथ एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। उसने नीदरलैंड के एक बंदरगाही शहर रॉटरडैम में अपनी लोकेशन पोस्ट...

Photo Credit:  Tricity Today
बदन सिंह बद्दो

नाटकीय ढंग से पुलिस के शिकंजे से भाग निकलने के 10 महीने बाद यूपी का मोस्ट वांटेड गैंगस्टर बदन सिंह बद्दो फिर एक बार सोशल मीडिया पर प्रकट हुआ है। उसने एक सोशल मीडिया पोस्ट के साथ एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। उसने नीदरलैंड के एक बंदरगाही शहर रॉटरडैम में अपनी लोकेशन पोस्ट की है। जिसके बाद यूपी पुलिस सक्रिय हो गई।

यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) इस लापता गैंगस्टर को पकड़ने में जुटी हुई है। एसटीएफ का कहना है कि पुलिस का ध्यान हटाने के लिए यह बद्दो की एक चाल हो सकती है। हालांकि, पुलिस के साइबर सेल को अलर्ट कर दिया गया है और गतिविधि की जांच करने को कहा गया है।

दूसरी ओर मेरठ के एसएसपी अजय साहनी ने अंग्रेजी अखबार से बातचीत में कहा, "हमें मंगलवार की शाम को सोशल मीडिया पर बदन सिंह की गतिविधि के बारे में बताया गया। साइबर सेल को अलर्ट कर दिया गया है और जांच शुरू हो गई है।" मंगलवार की शाम दो फेसबुक पोस्ट बदन संधू नाम के एकाउंट से किए गए थे। ऐसा माना जा रहा है कि यह गैंगस्टर बदल सिंह ही है।

एक अपडेट उसने अपनी लोकेशन के बारे में किया। जिसे नीदरलैंड में पिन किया गया था। दूसरा यूपी के एक पूर्व डीजीपी के खिलाफ था, जिसमें उसने लिखा, "पिछले दिनों राज्य में संगठित अपराध को बढ़ावा देने में पुलिस और माफियाओं के बीच आपराधिक सांठगांठ रही है।" एसटीएफ की मेरठ इकाई बद्दो को खोजने के लिए जांच का नेतृत्व कर रही है। एसटीएफ के अफसरों ने दावा किया कि सोशल मीडिया पर गतिविधि सबसे बड़ा मकसद उसके खिलाफ चल रही जांच को पटरी से उतारने की कोशिश हो सकती है। एजेंसी को पिछले 10 महीनों से उसे गिरफतार करने में सफलता नहीं मिली है।

एसटीएफ के डीएसपी बृजेश सिंह ने अखबार से कहा, "हमने खाते से किए गए फेसबुक अपडेट में जांच शुरू कर दी है। यह चल रही जांच को भ्रमित करने का एक प्रयास हो सकता है। यह भी हो सकता है कि वह किसी और से पोस्ट करवाए गए हैं। उसने इंटरनेट कॉल के माध्यम से पहले भी पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की है। जिससे हमें यह लगे कि वह देश के बाहर से कॉल कर रहा है।"

गौरतलब है कि हत्या, डकैती, लूट और जबरन वसूली के 30 से अधिक मामलों में बदन सिंह आजीवन कारावास की सजा काट रहा था। इसी दौरान वह एक मामले में सुनवाई के लिए मेरठ कोर्ट लाया गया था। वह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। बद्दो फिलहाल यूपी में सबसे बड़ा वांछित अपराधी है और उसके सिर पर 2.5 लाख रुपये का इनाम रखा हुआ है।

पिछले साल पुलिस हिरासत से भागने के करीब एक महीने बाद बद्दो की एक ऑडियो रिकॉर्डिंग सामने आई थी। जिसमें वह मेरठ में एक व्यापारिक प्रतिद्वंद्वी के साथ बातचीत कर रहा था। यह ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। रिकॉर्डिंग में बद्दो ने अपने भागने की चल रही पुलिस जांच में अपने बेटे को क्लीन चिट नहीं दिए जाने पर उस आदमी को भुगतने की धमकी दी थी। उसके बेटे सिकंदर को भागने में सह-साजिशकर्ता बनाया गया था।

मेरठ के एक होटल में कथित तौर पर शराब परोसी गई थी। पुलिस कर्मियों के मनोरंजन के बाद पिछले साल 28 मार्च को बद्दो फरार हो गया था। बद्दो के भागने में कथित भूमिका के लिए नौ पुलिस कर्मियों सहित 17 लोगों को पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

बदन सिंह को स्विस घड़ियों और लक्जरी कारों के लिए जाना जाता है। यह गैंगस्टर मेरठ में एक महलनुमा घर का मालिक है और ऑस्ट्रेलिया में उसके व्यवसाय हैं। जहां उसकी विस्थापित पत्नी और बेटियां रहती हैं।