नोएडा में कमल ज्वेलर्स मामले में पुलिस के हाथ बड़ा सबूत लगा

Updated Feb 14, 2020 13:50:16 IST | Tricity Today Reporter

नोएडा के सेक्टर-12 में गुरुवार को दिनदहाड़े हथियारबन्द तीन बदमाशों ने कमल ज्वेलर्स के मालिक पर हमला किया था। जिसमें ज्वेलरी शॉप के मालिक नरेश पवार को गोली लगी हैं। उन्हें गम्भीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस मामले में अब बड़ा तथ्य सामने आया है। ज्वेलरी शॉप के भीतर की वीडियो सामने आई...

Photo Credit:  Tricity Today
नोएडा में कमल ज्वेलर्स मामले में पुलिस के हाथ बड़ा सबूत लगा

नोएडा के सेक्टर-12 में गुरुवार को दिनदहाड़े हथियारबन्द तीन बदमाशों ने कमल ज्वेलर्स के मालिक पर हमला किया था। जिसमें ज्वेलरी शॉप के मालिक नरेश पवार को गोली लगी हैं। उन्हें गम्भीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस मामले में अब बड़ा तथ्य सामने आया है। ज्वेलरी शॉप के भीतर की वीडियो सामने आई है। जिससे वारदात को लेकर कई बातें साफ हो गई हैं।

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि नरेश पवार अपनी दुकान के भीतरी हिस्से में कुछ काम कर रहे हैं। तभी हेलमेट और नकाब लगाए तीन बदमाश उनकी दुकान में आकर घुसते हैं। वह बमुश्किल 10 सेकेंड नरेश पवार से बात करते हैं। इनमें से दो हमलावर नरेश पवार की ओर पिस्टल ताने हुए खड़े हैं। तीनों दुकान के सबसे भीतरी हिस्से में काउंटर पर से कूदकर नरेश के पास पहुंचते हैं। इससे पहले कि नरेश कुछ कर पाते उनमें से एक बदमाश नरेश के ऊपर फायर करता है। नरेश पवार दुकान में से बाहर भागने का प्रयास करते हैं लेकिन तभी दूसरा बदमाश नरेश पवार को गोली मार देता है। गोली लगने के बाद नरेश पवार दुकान के भीतर वाले शोकेसनुमा काउंटर पर बेसुध होकर गिर जाते हैं। 

दुकान से भागते वक्त दो हमलावर शोकेस के ऊपरी कांच को तोड़कर उसमें रखे गहनों के दो बॉक्स निकालते हैं। एक लुटेरा बॉक्स में से अंगूठियां निकाल कर जेब में डाल लेता है। दूसरा लुटेरा बॉक्स में से गहने निकालने की कोशिश करता है, जब नहीं निकाल पाता है तो बॉक्स को लेकर ही भाग जाता है। इस दौरान नरेश पवार शोकेस के पीछे फर्श पर गिर जाते हैं। यह सीसीटीवी फुटेज नरेश पवार की ज्वेलरी शॉप में लगे कैमरे ने रिकॉर्ड किया है। इस पूरी फुटेज से यह अनुमान साफ तौर पर लगाया जा सकता है कि हमलावर किसी भी सूरत में लूटपाट के इरादे से नहीं आए थे। उनका वास्तविक मकसद नरेश पवार को गोली मारना ही था।

दुकान से भागते वक्त केवल घटना के मोटिव को मोड़ने के इरादे से हमलावरों ने शोकेस तोड़ा और कुछ गहने लूटने का प्रयास किया। इस पूरी वारदात को बदमाशों ने बमुश्किल 2 से 3 मिनट में अंजाम दिया है। तीनों लुटेरे हेलमेट लगाए हुए थे, जिसके कारण उनके चेहरे तो साफ-साफ साफ नहीं दिख रहे हैं लेकिन, उनकी कद-काठी का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। वहीं, दूसरी ओर बाजार में आसपास की दुकानों और खंभों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फीड भी पुलिस ने हासिल की है। इन कैमरों की वीडियो रिकॉर्डिंग में हमलावरों की दोनों बाइकों के नंबर आए हैं। जिन्हें पुलिस ट्रेस करने का प्रयास कर रही है। हालांकि, अभी पुलिस की तरफ से यह नहीं बताया गया है कि बाइकों पर लगी नंबर प्लेट असली थी या जाली थी।

पुलिस सूत्रों का कहना है कि अब तक की तफ्तीश से यह बात तो साफ हो गई है कि कमल ज्वेलर्स में हुई वारदात का मकसद लूटपाट कम और नरेश पवार की हत्या करना ज्यादा था। दूसरी ओर नरेश पवार नोएडा के निजी अस्पताल में भर्ती हैं, वहां उनका उपचार चल रहा है। मिली जानकारी के मुताबिक उनकी हालत खराब बनी हुई है। वह वेंटिलेटर पर हैं और डॉक्टर उन्हें बचाने का प्रयास कर रहे हैं। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक नरेश पवार के गले और छाती में गोली फंसी हुई है।