राहुल और प्रियंका गांधी 37 सांसदों के साथ दिल्ली से निकले, हाथरस पहुंचे डीजीपी और अवनीश अवस्थी

राहुल और प्रियंका गांधी 37 सांसदों के साथ दिल्ली से निकले, हाथरस पहुंचे डीजीपी और अवनीश अवस्थी

Tricity Today | राहुल और प्रियंका गांधी 37 सांसदों के साथ दिल्ली से निकले

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी हाथरस जाने के लिए अपने 37 सांसदों को साथ लेकर आ रहे हैं। इनमें राज्यसभा और लोकसभा के कांग्रेसी सांसद शामिल हैं। इसके लिए दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में एक बस मंगवाई गई है। इसी बस में सवार होकर राहुल गांधी और बाकी सांसद नोएडा डीएनडी टोल प्लाजा पहुंचेंगे। दूसरी ओर जानकारी मिल रही है कि उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी और अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी पीड़ित परिवार के गांव पहुंच गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक राहुल गांधी और सांसदों को सामान्य सुरक्षा के साथ हाथरस जाने की इजाजत उत्तर प्रदेश सरकार दे सकती है। बाकी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को नोएडा में डीएनडी पर ही रोक लिया जाएगा।

आपको बता दें कि हाथरस में कथित गैंगरेप के बाद युवती की हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद से पूरे प्रदेश में उबाल है। राहुल गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बीते गुरुवार को हाथरस कूच किया था, लेकिन उन्हें दल बल के साथ ग्रेटर नोएडा में गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने रोक दिया था। अब शनिवार की सुबह एक बार फिर राहुल गांधी ने हाथरस जाने की घोषणा की। हाथरस के लिए निकलने से पहले राहुल ने कांग्रेस की सोशल मीडिया सेल के साथ एक वर्चुअल बैठक की। इस बैठक में राहुल गांधी ने बताया कि वह अपनों के खोने का दर्द जानते हैं। जब उनके पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या हुई थी तो वह उनके अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाए थे। उन्हें कितना दर्द हुआ था, इसे बयां नहीं कर सकते हैं। यही वजह है कि वह हाथरस के पीड़ित परिवार का दर्द समझ सकते हैं। इस दर्द को बांटने के लिए ही हाथरस जाकर मिलना चाहते हैं। 

राहुल गांधी ने यह भी कहा है कि जब तक उन्हें हाथरस जाने की इजाजत नहीं मिलेगी, वह बार-बार प्रयास करते रहेंगे। अब जानकारी मिली है कि राहुल गांधी 37 सांसदों के साथ एक बस में सवार होकर नोएडा के लिए निकलने वाले हैं। दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक और अपर मुख्य सचिव हाथरस पहुंच गए हैं। सूचनाएं मिल रही हैं कि नोएडा से आगे बढ़ने के लिए राहुल गांधी और सांसदों को इजाजत दी जा सकती है। बाकी तमाम कांग्रेसी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को नोएडा में डीएनडी पर ही रोक लिया जाएगा। पुलिस एस्कॉर्ट के साथ इन लोगों को हाथरस में पीड़ित परिवार के पास ले जाया जाएगा। इन सभी को मुलाकात के बाद वापस दिल्ली भेज दिया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.