राहुल गांधी का हाथरस कूच नोएडा डीएनडी पर रोकने के लिए पुलिस की मजबूत मोर्चेबन्दी, देखिए फोटो

राहुल गांधी का हाथरस कूच नोएडा डीएनडी पर रोकने के लिए पुलिस की मजबूत मोर्चेबन्दी, देखिए फोटो

Tricity Today | राहुल गांधी का हाथरस कूच नोएडा डीएनडी पर रोकने के लिए पुलिस की मजबूत मोर्चेबन्दी

Congress के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष Rahul Gandhi ने आज सुबह एक बार फिर Hathras Gang rape and Murder case के पीड़ित परिवार से मिलने का ऐलान किया है। आज राहुल गांधी को पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के लिए एक जनसभा का संबोधन करना था। इस कार्यक्रम को रद्द करके एक बार फिर हाथरस कूच का ऐलान किया गया है। राहुल गांधी को इस बार नोएडा में ही रोकने के लिए Noida Police ने पुख्ता मोर्चाबंदी की है। नोएडा डीएनडी पर बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है। डीएनडी को बैरिकेड किया गया है। लाउडस्पीकर लगवाया गया है। फायर टेंडर बुला लिए गए हैं। डीसीपी और एसीपी रैंक के तमाम पुलिस अधिकारी अपनी अपनी टुकड़ियों के साथ डीएनडी पर तैनात हैं।

आपको बता दें कि आज सुबह कांग्रेस से यह जानकारी दी गई कि राहुल गांधी आज फिर हाथरस जाएंगे। वह सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ दोपहर करीब 12:00 बजे नोएडा डीएनडी पहुंचेंगे। रूट वही पुराना होगा। डीएनडी से नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे और फिर यमुना एक्सप्रेस वे होते हुए उन्हें हाथरस जाना है। इस बारे में उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने जानकारी दी। उत्तर प्रदेश कांग्रेस के महासचिव वीरेंद्र सिंह गुड्डू ने बताया कि राहुल गांधी आज फिर हाथरस जा रहे हैं। वह दोपहर करीब 12:00 बजे नोएडा डीएनडी पहुंचेंगे। वहां से ग्रेटर नोएडा होते हुए हाथरस जाएंगे। उनके साथ विपक्षी दलों के सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल भी हाथरस जाएगा। सभी सांसद हाथरस में पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे। 

दूसरी ओर इसके लिए नोएडा और गौतमबुद्ध नगर कांग्रेस तैयारी कर रहे हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ने जानकारी दी कि पंजाब में चल रही तीन दिवसीय ट्रैक्टर यात्रा के आज अंतिम दिन राहुल गांधी को एक जनसभा संबोधित करनी थी। यह कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। राहुल गांधी जन सरोकारों की सुरक्षा के लिए वचनबद्ध हैं।

आपको बता दें कि गुरुवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी हाथरस जाने के लिए गौतमबुद्ध नगर पहुंचे थे। उनके साथ हजारों की संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे। इस दौरान पुलिस ने राहुल गांधी को हाथरस जाने से रोका था। कांग्रेसी और पुलिसकर्मियों के बीच तीखी झड़प हुई थीं। पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। राहुल गांधी तक के साथ पुलिस अधिकारियों ने धक्का-मुक्की की थी। करीब 4 घंटे तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को हिरासत में ले लिया था। देर शाम दोनों को गौतमबुद्ध नगर से ले जाकर दिल्ली की सीमा में पुलिस ने छोड़ा था। उस दिन भी राहुल गांधी ने एलान किया था कि वह एक बार फिर आएंगे। वह हाथरस जाकर पीड़ित परिवार से अवश्य मिलेंगे।

दूसरी ओर आज राहुल गांधी को एकबार फिर हाथरस जाने से रोकने के लिए गौतमबुद्ध नगर पुलिस पुरजोर तैयारी कर रही है। नोएडा डीएनडी पर भारी फोर्स तैनात कर दिया गया है। पूरे डीएनडी को बैरिकेड किया जा रहा है। पीएसी को बुलाया गया है। पूरे गौतमबुद्ध नगर जिले की पुलिस डीएनडी पर लगा दी गई है। दूसरी ओर ग्रेटर नोएडा में भी बैकअप प्लान तैयार किया गया है। अगर किसी वजह से गुरुवार की तरह राहुल गांधी का काफिला डीएनडी पर रोका नहीं जा सका तो एक बार फिर ग्रेटर नोएडा में रोका जाएगा।

हालांकि, कांग्रेस के कैंप से जानकारी मिली है कि दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और पंजाब से हजारों की संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता दिल्ली पहुंच चुके हैं। राहुल गांधी के साथ दिल्ली से ही बड़ी संख्या में भीड़ नोएडा पहुंचेगी। दूसरी ओर नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, पलवल, टप्पल, फरीदाबाद, हाथरस, बागपत, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता ग्रेटर नोएडा और नोएडा के इलाकों में पहुंच चुके हैं। ऐसे में आज नोएडा डीएनडी पर घमासान होना तय है।

आपको बता दें कि शुक्रवार की देर शाम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ढिलाई बरतने और पीड़ित परिवार को परेशानी पहुंचाने के आरोपों में हाथरस के पुलिस अधीक्षक वीर विक्रम और डीएसपी समेत पांच पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया था। जांच के लिए गठित की गई स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम की पहली रिपोर्ट शनिवार को मुख्यमंत्री के पास पहुंची। जिसके आधार पर यह एक्शन लिया गया है। इस पूरे मामले को लेकर न केवल विपक्ष बल्कि योगी आदित्यनाथ को अपने लोगों से भी आलोचना का शिकार होना पड़ा है। भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने भी शुक्रवार की दोपहर एक के बाद एक ट्वीट भी किए थे। 

जिसमें उमा भारती ने उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए थे। उमा भारती ने कहा था कि उत्तर प्रदेश पुलिस के संदिग्ध एक्शन की वजह से राज्य सरकार, योगी आदित्यनाथ और भारतीय जनता पार्टी की छवि खराब हुई है। इसके बाद ही योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड किया है। इतना ही नहीं उमा भारती ने तो यहां तक लिखा कि अगर वह करोना वायरस से संक्रमित नहीं होती तो वह भी हाथरस जरूर जातीं। उमा भारती ने मुख्यमंत्री से अपील की है कि वह विपक्षी दलों के नेताओं को हाथरस जाने से नहीं रोकें।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.