Rajasthan Political Crisis LIVE: बैठक के बाद अशोक गहलोत अपने विधायकों को लेकर रिजॉर्ट की ओर निकल

Rajasthan Political Crisis LIVE: बैठक के बाद अशोक गहलोत अपने विधायकों को लेकर रिजॉर्ट की ओर निकल

Google Images | बैठक के बाद अशोक गहलोत अपने विधायकों को लेकर रिजॉर्ट की ओर निकल

Live Update 3:30 PM 

बैठक के बाद अशोक गहलोत अपने विधायकों को लेकर रिजॉर्ट की ओर निकल

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने विधायकों के साथ बैठक करने के बाद अपने विधायकों को बस में लेकर निकल गए हैं। अशोक गहलोत के पास 109 विधायक हैं। अशोक गहलोत अपने विधायकों को लेकर रिजॉर्ट की ओर निकल गए हैं। 

जयपुर में कांग्रेस दफ्तर से सोमवार सुबह उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पोस्टर हटा दिए गए थे। जो अब फिर से लगा दिए गए हैं। अशोक गहलोत ने बहुमत की संख्या दिखा दी है। मीडिया के सामने उन्होंने समर्थक विधायकों को दिखाया है। इसके बाद कांग्रेस दफ्तर पर सचिन पायलट के पोस्टर फिर से लगा दिए गए हैं। वहीं दूसरी तरफ प्रियंका गांधी ने इस तनाव का मोर्चा संभाल लिया है। प्रियंका गांधी अशोक गहलोत और सचिन पायलट को समझाने का काम कर रही है।

Live Update 10:45 AM 

राजस्थान में 18 जगहों पर इंकम टैक्स के छापे, अशोक गहलोत के करीबी रडार पर

राजस्थान सरकार पर संकट और विधायकों की ख़रीद फ़रोख़्त की खबरों के बीच आयकर विभाग ने सोमवार को दिन निकलते ही राजस्थान में 18 जगहों पर छापेमारी की है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी और कांग्रेस नेता धर्मेंद्र राठौड़ के घर भी इनकम टैक्स की टीम पहुंची है। धर्मेंद्र राठौर और उनके पूरे परिवार को आयकर विभाग की टीम ने घर में रखा है। टेलीफोन लाइन और मोबाइल नंबर सीज कर दिए हैं। घर से किसी भी व्यक्ति को बाहर जाने और घर में बाहर से किसी को भी आने की इजाजत नहीं दी जा रही है। कई व्यापारी समूह राडार पर हैं।

 

Live Update 10:30 AM 

पायलट की बात सुनने के लिए तैयार हैं, लेकिन अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी: कांग्रेस

जयपुर में सुबह 10:30 बजे होने वाली महत्वपूर्ण कांग्रेस विधायक दल की बैठक के साथ ही पार्टी ने स्पष्ट कर दिया है कि किसी भी तरह की अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएलपी की बैठक में एआईसीसी के पर्यवेक्षक अजय माकन व रणदीप सुरजेवाला और राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे शामिल होंगे।

अविनाश पांडे ने कहा कि "सभी विधायकों को उपस्थित रहने के लिए एक संदेश देने के लिए व्हिप जारी किया गया है और यदि कोई भी बैठक में शामिल होने में विफल होता है तो सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।"

उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के कथित तौर पर राष्ट्रीय राजधानी में होने के मुद्दे पर उन्होंने कहा, "मैंने उनसे बात करने की कोशिश की है और उन्हें संदेश भी भेजे हैं, लेकिन उन्होंने जवाब नहीं दिया है। पायलट बाकी लोगों से ऊपर नहीं हैं। वह अन्य की तरह हैं। विधायकों को कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। पार्टी पायलट को सुनने के लिए तैयार है लेकिन अनुशासन के दायरे में है। ”
 
उन्होंने कहा, "किसी भी तरह की अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा लेकिन मुझे उम्मीद है कि वह बैठक में शामिल होंगे।" पार्टी के सूत्रों के अनुसार, AICC पर्यवेक्षकों के सामने 109 विधायकों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। इनमें कांग्रेस, अन्य दलों और स्वतंत्र विधायक शामिल हैं। कई विधायकों ने पर्यवेक्षकों से कहा है कि पार्टी द्वारा अनुशासनहीनता को बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और पार्टी को किसी भी नेता के दबाव में नहीं आना चाहिए।

Live Update 9:30 AM

कांग्रेस ने व्हिप जारी किया, 10:30 बजे विधायक दल की बैठक

कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज 10.30 बजे होने वाली है। अभी 16 कांग्रेसी विधायकों का जयपुर पहुंचना बाकी है। हालांकि, पार्टी के शीर्ष पदस्थ नेताओं का कहना है कि विधायक दल की बैठक शुरू होने से पहले और कई विधायक आ जाएंगे। जो विधायक अभी तक जयपुर नहीं पहुंचे हैं, उनमें से ज्यादातर से संपर्क हो चुका है। कुछ ऐसे हैं जिन से संपर्क नहीं हो पा रहा है।
 
सूत्रों के अनुसार जो विधायक अब तक जयपुर नहीं पहुंचे हैं उनमें राकेश पारीक, मुरारी लाल मीणा, जीआर खटाना, इंद्राज गुर्जर, गजेंद्र सिंह, हरीश मीणा, देपेंद्र सिंह शेखावत, भंवर लाल शर्मा, विजेंद्र ओला, पीआर मीणा, रमेश मीणा, विश्वेंद्र सिंह, जाहिदा, रामनिवास गावडिया, मुकेश भाकर, हेमा राम चौधरी और सुरेश मोदी शामिल हैं।

सूत्रों ने कहा अगर ये विधायक बैठक में भाग लेने नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की संभावना है। जैसा कि कल कांग्रेस के अविनाश पांडे ने कहा था। यह संभव है कि उनकी सदस्यता रद्द कर दी जाए। इस बीच कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल के आज जयपुर पहुंचने की उम्मीद है।
 
राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि पार्टी ने जयपुर में सोमवार को होने वाली बैठक में भाग लेने के लिए अपने विधायकों को व्हिप जारी किया है। यदि विधायक स्वयं अनुपस्थित रहते हैं तो वे अनुशासनात्मक कार्रवाई करेंगे। रविवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर एक बैठक के बाद व्हिप जारी करने का निर्णय लिया गया। इस बैठक में मंत्रियों सहित लगभग 75 विधायकों ने भाग लिया था।
 
बैठक के बाद पांडे ने पार्टी के सहयोगी रणदीप सुरजेवाला और अजय माकन के साथ आज तड़के एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। ये सारे लोग रविवार देर रात जयपुर पहुंचे थे। राज्य में पार्टी की सरकार को बचाने के लिए दोनों नेताओं को कांग्रेस ने केंद्रीय पर्यवेक्षकों के रूप में भेजा है। गहलोत ने कांग्रेस विधायकों की अवैध खरीदफरोख्त करके राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। भाजपा ने इस आरोप को नकार दिया है।

दूसरी ओर राज्य में राजनीतिक उथल-पुथल को लेकर पार्टी नेतृत्व से बात करने के लिए पायलट दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। दरअसल, राजस्थान पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) ने राजस्थान में कांग्रेस विधायकों को कथित रूप से तोड़ने के मामले में एसओजी ने एक मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में बयान दर्ज करवाने के लिए एसओजी ने सचिन पायलट को नोटिस भेजा है। इसके बाद राजस्थान में विवाद शुरू हो गया। रविवार की रात सचिन पायलट ने कहा कि 30 से अधिक कांग्रेस विधायकों और कुछ निर्दलीय विधायकों का उनके पास समर्थन है।

Live Update 9:00 AM

कांग्रेस ने व्हिप जारी किया, 10:30 बजे विधायक दल की बैठक

राजस्थान में कांग्रेस पार्टी और सरकार में सियासी तूफान मचा है। राजस्थान के डिप्टी चीफ मिनिस्टर सचिन पायलट के बागी होने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज सुबह 10:30 बजे विधायक दल की बैठक बुलाई है। इसके लिए कांग्रेस हाईकमान ने 3 पर्यवेक्षक जयपुर भेज दिए हैं। पार्टी की ओर से व्हिप जारी कर दिया गया है। ऐसे में कांग्रेस के विधायकों को मुख्यमंत्री की कॉल पर बुलाई गई इस विधायक दल की बैठक में हाजिर होना होगा। जो विधायक हाजिर नहीं होंगे, उनके खिलाफ पार्टी अनुशासनात्मक कार्यवाही करेगी। दूसरी ओर सचिन पायलट ने रविवार की रात ही ऐलान कर दिया था कि वह बैठक में शामिल नहीं होंगे। कुल मिलाकर आज राजस्थान के सियासी घमासान पर पूरे देश की नजर टिकी रहेंगी।

रविवार की रात राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के आवास पर बैठक हुई। जिसमें लगभग 75 विधायक और मंत्री मौजूद थे। दिल्ली से कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन और अविनाश पांडे जयपुर पहुंच चुके हैं। तीनों पर्यवेक्षकों ने रात में ही कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की आज होने वाली बैठक की रणनीति बना ली थी। सीएलपी की बैठक के लिए पार्टी ने व्हिप जारी किया है। अनुपस्थित विधायकों को परिणाम भुगतना होगा। अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला, अविनाश पांडे और गहलोत की बैठक के बाद व्हिप जारी किया गया है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कांग्रेस पार्टी के विधायकों के साथ बैठक रविवार शाम को संपन्न हुई। उसके बाद राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने यहां संवाददाताओं से कहा, "कांग्रेस की सरकार मजबूत है और हम उनके खिलाफ लड़ेंगे, जो राज्य सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रहे हैं।" कांग्रेस विधायक राजेंद्र गुड्डा ने दावा किया कि गहलोत सरकार के पास बहुमत है। गुड्डा ने कहा, "गहलोत जी के पास बहुमत है। हम भी प्रयास कर रहे हैं और भाजपा के कुछ विधायक हमारे संपर्क में हैं। हम भाजपा से और अधिक विधायकों को लाएंगे।" कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक सोमवार सुबह 10:30 बजे गहलोत के आवास पर होगी।

राजस्थान से बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर विधायक निर्वाचित होने वाले और बाद में कांग्रेस चले गए नोएडा के मूल निवासी जोगिंदर अवाना भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ हैं। जोगिंदर अवाना ने कहा, "राजस्थान में कांग्रेस की सरकार मजबूत और स्थिर है। सरकार को किसी भी तरह का खतरा नहीं है। सचिन पायलट अपने साथ 30 विधायक होने का दावा कर रहे हैं। पहली बात तो यह है कि उनके पास 10 से ज्यादा विधायक नहीं हैं। यह बात आज 10:30 बजे विधायक दल की बैठक के साथ ही साबित हो जाएगी।"

जोगिंदर अवाना आगे कहते हैं, "अगर हम यह मान भी लें कि सचिन पायलट के पास 30 विधायक हैं तो भी हमारी सरकार को कोई खतरा नहीं है। यह सरकार पूरी तरह स्थिर और मजबूत है। भारतीय जनता पार्टी राजस्थान में सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है। इसके लिए उन्हें मुंह की खानी पड़ेगी।"

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.