अच्छी खबर : फिल्म सिटी बसने से गौतम बुद्ध नगर के छोटे कलाकारों को मिलेगा बड़ा फायदा

Updated Sep 25, 2020 08:11:38 IST | Upasna Kashyap

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में बनने वाली फिल्म सिटी स्थानीय कलाकारों में नई ऊर्जा भरेगी। म्यूजिक एलबम, गानों और देहाती फिल्मों की शूटिंग...

अच्छी खबर : फिल्म सिटी बसने से गौतम बुद्ध नगर के छोटे कलाकारों को मिलेगा बड़ा फायदा
Photo Credit:  TRICITY
फिल्म सिटी बसने से गौतम बुद्ध नगर के छोटे कलाकारों को मिलेगा बड़ा फायदा

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में बनने वाली फिल्म सिटी स्थानीय कलाकारों में नई ऊर्जा भरेगी। म्यूजिक एलबम, गानों और देहाती फिल्मों की शूटिंग के लिए अब स्थानीय कलाकारों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। वहीं, लोक कलाकार भी इस फैसले उत्साहित हैं। उनका कहना है कि लोक कलाकारों के लिए भी फिल्म सिटी में जगह मिलनी चाहिए, ताकि हमारी संस्कृति को जिंदा रखा जा सके।

गौतम बुद्ध नगर जिले के कलाकार अपने म्यूजिक एलबम बनाते हैं। कई कलाकार तो खर्च अधिक होने ही वजह से सिर्फ एक-दो गानों की ही शूटिंग करते हैं। इसके लिए उन्हें बाहर जाना पड़ता है। लेकिन यहां पर फिल्म सिटी बनने से उन्हें राहत मिलेगी। अपने कई गानों को लांच कर चुके हबीबपुर निवासी सोनू मावी ने बताया कि उन्हें शूटिंग के लिए बाहर जाना पड़ता है, लेकिन यहां फिल्म सिटी बनने से राहत मिलेगी। यहां पर सारी सुविधाएं मिलने से उनकी परेशानी दूर होगी। सरकार का यह कदम स्वागत योग्य है।

लोक कलाकारों को मिलेगा लाभ
ग्रेटर नोएडा निवासी लोक कलाकार भी फिल्म सिटी को लेकर उत्साहित हैं। लोक कलाकार अभिनव ने बताया कि फिल्म सिटी बनने से लोक कलाकारों को भी लाभ मिलेगा। अंडर-30 आयु वर्ग में लोक संगीत के लिए काम करने वालों की फोर्ब्स की सूची में नाम दर्ज करा चुके अभिनव ने बताया कि लोक कलाकारों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं रहती है। ऐसे में उन्हें सहयोग की जरूरत होती है। यमुना प्राधिकरण में बनने वाली फिल्म सिटी में लोक कलाकारों के लिए जगह तय होनी चाहिए। अभिनव अब तक हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान आदि के लोक कलाकारों के 2500 लोक गीत रिकार्ड कर चुके हैं।

लोक संगीत को नई पहचान मिलेगी
रागिनी गायक ब्रह्मपाल नागर ने फिल्म सिटी के प्रस्ताव का स्वागत किया है। उनका कहना है कि सरकार का यह कदम इलाके के कलाकारों की राह आसान करेगा। फिल्म सिटी में लोक कलाकारों के लिए भी स्थान तय होना चाहिए। उन्होंने बताया कि नोएडा फिल्म सिटी में स्टूडियो तो बने, लेकिन लोक कलाकार उनका खर्च नहीं उठा सकते। लोक संस्कृति को बचाने के लिए सरकार को इस ओर भी ध्यान देना चाहिए। इससे लोक संगीत को नई पहचान मिलेगी।

Greater Noida Artists, Noida Artists, Film City