बदमाशों ने लूट और हत्या के साथ किया गाजियाबाद के एसएसपी का स्वागत

Updated Jan 13, 2020 11:15:44 IST | Tricity Today Reporter

गाजियाबाद में एक स्क्रैप कारोबारी के घर में 3 बदमाशों ने लूट की। लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने कारोबारी की पत्नी की गोल दबाकर हत्या कर दी। जिसके बाद पुलिस को सुचना दी। पुलिस ने मौके पर मामले की जांच कर रही हैं। बदमाश करीब 10 लाख रुपये और नगदी लेकर फरार हा गयें हैं।

Photo Credit:  Tricity Today
कारोबारी की पत्नी और गाजियाबाद एसएसपी

गाजियाबाद में एक स्क्रैप कारोबारी के घर में 3 बदमाशों ने लूट की। लूट का विरोध करने पर बदमाशों ने कारोबारी की पत्नी की गोल दबाकर हत्या कर दी। जिसके बाद पुलिस को सुचना दी। पुलिस ने मौके पर मामले की जांच कर रही हैं। बदमाश करीब 10 लाख रुपये और नगदी लेकर फरार हा गयें हैं।

मूलरूप से जानी मेरठ के रहने वाले आसिफ सिद्धकी परिवार सहित बेहटा हाजीपुर के मेवाती चैक के पास रहते हैं। आसिफ का स्क्रैप का करोबार है। उन्होंने बताया कि शनिवार रात वह मकान की पहली मंजिल पर अपनी पत्नी समरीन (32) व दो बच्चों डेढ़ वर्षीय तैमूर और नबीरा (ढाई साल) के साथ सो रहे थे। रात करीब 1 बजे उनके कमरे में आहट हुई। वह उठे तो सामने मुंह पर कपड़ा बंधे 2 बदमाश खड़े थे। जब तक वह कुछ समझ पाते बदमाशों ने उन पर तमंचा तान दिया और शोर मचाने पर गोली मारने की धमकी दी। इस बीच एक बदमाश ने साथ में सो रहे बच्चे और पत्नी की गर्दन पर भी छुरा रख दिया। इसके बाद बदमाशों ने उनके और पत्नी के हाथ बांध दिए। बदमाशों ने उनसे मारपीट करते हुए पूछा कि पांच लाख रुपये कहां हैं।

जब उन्होंने रुपये न होने की बात कही तो एक बदमाश ने धमकी दी कि गर्दन काट देंगे। यह सुन समरीन की चींख निकल गई। इससे घबराए 1 बदमाश ने रजाई से समरीन का मुंह दबा दिया। इसके बाद 1 बदमाश ने अलमारियों की चाबी लेकर उसमें रखे 1 लाख 30 हजार रुपये कैश व करीब 10 लाख रुपये के गहने निकाल लिए। 

आसिफ ने बताया कि इस बीच एक बदमाश बाहर गया और जीने पर खड़े अपने साथी से बात करने लगा, जीने पर खड़ा बदमाश अंदर नहीं आना चाह रहा था। घर से बाहर गए बदमाश ने उससे कहा कि 5 लाख रुपये नहीं मिल रहे, इस पर बाहर खड़े आरोपित ने कहा कि 5 लाख रुपये घर में ही हैं। ऊपर वाले कमरे में जाकर देखो।

कारोबारी आसिफ ने बताया कि गहने व कैश निकालने के बाद एक बदमाश आसिफ को गनपॉइंट पर लेकर मकान की तीसरी मंजिल पर ले गया, जबकि दूसरा बदमाश समरीन का मुंह रजाई से दबाए वहीं खड़ा रहा। तीसरी मंजिल पर उनका साला जुनैद (15 साल), बेटी जुम्मा (12 साल) और बेटा आतिफ (10 साल) सो रहे थे। वहां पहुंचकर बदमाशों ने जुनैद को उठाया और उसके हाथ पैर बांध दिए। उन्होंने जुनैद से 5 लाख रुपये के बारे में पूछा और मारपीट की। इस बीच पहली मंजिल पर समरीन का मुंह दबाने वाला बदमाश उसके डेढ़ साल के बेटे तैमूर को ऊपर लेकर आया और उसकी गर्दन पर छुरा रख कर 5 लाख रुपये मांगे। 

आसिफ का कहना है कि यह देख वह रोते हुए बदमाशों के पैरों मे गिर पड़े और उसे छोड़ने के लिए कहा। इसके बाद बदमाशों ने बच्चे को छोड़ दिया और उन सभी को कमरे में बंद करके धमकी दी कि यदि आधे घंटे से पहले कमरे से बाहर निकले तो सभी को मार डालेंगे। इसके बाद वे फरार हो गए।

पीड़ित परिवार ने बताया कि डर की वजह से वे लोग 20 मिनट तक चुप रहे। इसके बाद उन्होंने खिड़की के पास जाकर पड़ोसी राशिद को आवाज लगाई। पड़ोसी ने आकर कमरा खोला। वह वहां से पहली मंजिल पर पत्नी को देखने गए तो वह बेहोश मिली। पड़ोसियों की मदद से वह पत्नी को अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

आसिफ ने बताया कि उनकी साली की शादी मार्च मे होनी है। शादी का सारा जिम्मा उन्हीं पर था। इसी वजह से उन्होंने 7 तोले का सोने का हार बनवाया था, जिसकी कीमत करीब साढे तीन लाख रुपये थी। इसके अलावा घर में सोने व चांदी की कई दूसरी जूलरी भी थी, जिन्हें बदमाश ले गए।

पुलिस के अनुसार घर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में तीन बदमाश घर से बाहर निकलते दिखे हैं। पीड़ित का कहना है कि वह गेट में ताला लगाकर सोते हैं। ऐसे में बदमाश घर के अंदर कैसे घुसे ये हैरानी करने वाला है। पुलिस इस बात की जांच कर रही है। आसिफ ने बताया कि बदमाश मुंह पर नकाब पहने हुए थे। एक बदमाश हरियाणवी में बोल रहा था, जबकि 2 लोकल भाषा का इस्तेमाल कर रहे थे।