ग्रेटर नोएडा वेस्ट के अभिभावकों ने स्कूल को दो टूक कहा- केवल ट्यूशन फीस देंगे नहीं तो काट दीजिए बच्चों का नाम

Updated Jul 31, 2020 18:25:36 IST | Mayank Tawer

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित केसी इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक शुक्रवार को स्कूल पहुंच गए। सैकड़ों अभिभावकों...

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के अभिभावकों ने स्कूल को दो टूक कहा- केवल ट्यूशन फीस देंगे नहीं तो काट दीजिए बच्चों का नाम
Photo Credit:  Tricity Today
Key Highlights
केसी इंटरनेशनल स्कूल के अभिभावकों ने ज्ञापन सौंपा
अगर स्कूल प्रबंधन नहीं माना तो बच्चों का नाम कटवाया जाएगा
पचास प्रतिशत ट्यूशन फीस भरने को तैयार हैं अभिभावक
अभिभावकों ने वार्षिक फीस नहीं देने की घोषणा की
अभिभावकों ने कहा- हम शिक्षकों का वेतन देने को तैयार

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित केसी इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावक शुक्रवार को स्कूल पहुंच गए। सैकड़ों अभिभावकों के हस्ताक्षर करके एक ज्ञापन स्कूल प्रिंसिपल को सौंपा है। जिसमें उन्होंने कहा है कि ऑनलाइन कक्षाओं के चलते स्कूल बंद हैं। वह लोग कोई भी वार्षिक फीस नहीं देंगे। केवल 50 प्रतिशत ट्यूशन फीस अभिभावक देने के लिए तैयार हैं।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित लोटस विला, पाल्म आशियाना, पाल्म वैली, सुथियाना और नया गांव के अभिभावकों ने शुक्रवार को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक प्रार्थना पत्र केसी इंटरनेशनल स्कूल के मैनेजमेंट को सौंपा है। इस स्कूल में सैकड़ों बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। अनलाक-2 की प्रक्रिया के तहत स्कूल बंद हैं। इसलिए बच्चों को आनलाइन शिक्षा उपलब्ध कराई जा रही है।

अभिभावकों ने बताया कि ऑनलाइन क्लास चलती हैं। यह कक्षाएं सिर्फ 3 घंटे चलती हैं। दूसरी ओर स्कूल में 6 घंटे पढ़ाई होती है। इसलिए ट्यूशन फीस का 50 प्रतिशत ही अभिभावक स्कूल में जमा कर सकते हैं। ऑनलाइन क्लास से बच्चों की सेहत पर भी बुरा प्रभाव पड़ रहा है। ऑनलाइन कक्षाओं के लिए स्कूल को अपने इंफ्रास्ट्रक्चर से कुछ भी खर्च नहीं करना पड़ रहा है। अध्यापक अपने घर से ऑनलाइन कक्षाएं ले रहे हैं।

स्कूल को चेतावनी दी, अगर आधी फीस नहीं चाहिए तो बच्चे इस साल नहीं पढ़ेंगे
अभिभावकों के ज्ञापन में कहा गया है कि अगर स्कूल मैनेजमेंट को लगता है कि 50 प्रतिशत ट्यूशन फीस से वह अध्यापकों की सैलरी नहीं दे पाएंगे तो हमें हमारे बच्चे के अध्यापक की सैलरी बता दें। हम सभी अभिभावक मिलकर उनकी सैलरी चुका देंगे। अगर इस पर भी स्कूल मैनेजमेंट सहमत नहीं है तो हमारे बच्चों को फ्री कर दें। हम अपने बच्चे को इस साल नहीं पढ़ाएंगे।

अभिभावकों का कहना है कि अगले सत्र में जब कोरोना महामारी खत्म हो जाएगी, स्कूल खुल जाएंगे और कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। अभिभावकों की सैलरी भी सामान्य हो जाएगी। तब वह अपने बच्चों को पढ़ाएंगे। स्कूल के प्रिंसिपल ने अभिभावकों को इस संबंध में समाधान कराने का आश्वासन दिया है। अभिभावकों की ओर से उठाए गए इस कदम की पूरे शहर में चर्चा हो रही है।

Greater Noida West, Noida Extension Schools, KC International School

Trending

नोएडा
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
नोएडा पुलिस ने दो बिल्डर जेल भेजे, निवेशकों के करोड़ों हड़पे और फिर गैंगस्टर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना से मरवाने की धमकी दी
उत्तर प्रदेश
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
यूपी में बच्चों के लिए योगी आदित्यनाथ की बड़ी घोषणा, कुपोषित बच्चों के परिवार को मिलेगी गाय, 900 रुपये महीना भी मिलेंगे
ग्रेटर नोएडा
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
शारदा यूनिवर्सिटी की सेमिनार में बोले जस्टिस दीपक मिश्रा- लोकतंत्र की रक्षा में न्याय पालिका ने कई मौकों पर अपनी भूमिका निभाई
ग्रेटर नोएडा
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
साठा चौरासी का आरोप- दादरी के 18 गांवों का अस्तित्व समाप्त करना बड़ी साजिश
यमुना सिटी
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका
खुशखबरी : जनवरी में आएगी छोटे आवासीय भूखंडों की योजना, जेवर एयरपोर्ट के पास बसने का एक और सुनहरा मौका