नोएडा-गाजियाबाद के इन इलाकों में पानी की भारी किल्लत हो सकती है, ये रही वजह

Updated Oct 15, 2020 11:52:45 IST | Harish Rai

त्योहारों पर पानी की किल्लत उठाने के लिए तैयार हो जाए। गुरूवार रात 12 बजे सफाई के लिए गंगनहर को बंद कर दी गई है। करीब एक महीने तक गंगनहर...

नोएडा-गाजियाबाद के इन इलाकों में पानी की भारी किल्लत हो सकती है, ये रही वजह
Photo Credit:  Google Image
प्रतीकात्मक फोटो

त्योहारों पर पानी की किल्लत उठाने के लिए तैयार हो जाए। गुरूवार रात 12 बजे सफाई के लिए गंगनहर को बंद कर दी गई है। करीब एक महीने तक गंगनहर की सफाई चलेगी। इस दौरान गंगाजल नहीं मिलने पर टीएचए और नोएडा के लोगों को पानी की किल्लत का सामना करना पड़ सकता है। 

सिंचाई विभाग की तरफ से हर वर्ष गंगनहर की सफाई दशहरा और दिवाली के समय पर की जाती है। इस वर्ष 15 अक्तूबर की मध्य रात से गंगनहर को बंद कर सफाई का काम किया जाएगा। इस बार करीब एक महीने तक गंगनहर की सफाई चलेगी। सिंचाई विभाग की तरफ से 14-15 नवंबर की मध्यरात को गंगनहर में पानी छोडऩे का दावा किया गया है। करीब 48 से 72 घंटे में पानी पहुंचेगा। जिसके बाद 18 नंवबर से लोगों को पानी मिलने की उम्मीद है। 

इस एक महीना वैशाली, वसुंधरा , इंदिरापुरम, कौशांबी, सूर्यनगर, बृजविहार, रामप्रस्थ, चंद्रनगर, रामपुरी इलाके में पानी की किल्लत रहेगी। नगर निगम नलकूप के जरिए इन कॉलोनियों में पानी की सप्लाई कराएगा। कहीं पर पानी की किल्लत न हो इसके लिए विभाग की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी किए जाएंगे। 

इन हेल्पलाइन नंबरों पर लोग पानी नहीं आने की शिकायत कर सकेंगे। जिसके बाद नगर निगम की तरफ से पानी सप्लाई वैकल्पिक व्यवस्था से की जाएगी। अवर अभियंता सोमेंद्र तोमर ने बताया कि नगर निगम की तरफ से पूरी तैयारी कर ली गई है। लोगों को पानी को लेकर किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। 

बढ़ेगी बोतल बंद पानी की डिमांड 
गंगाजल बंद होते ही मार्केट में बोतल बंद पानी की डिमांड बढ़ जाती है। दरअसल नगर निगम पर्याप्त पानी की सप्लाई नहीं कर पाता। यहीं नहीं नलकूप का पानी खारा होता है ऐसे में लोग इसको खाने और पीने में इस्तेमाल नहीं करते हैं। लोग बोतल बंद पानी खरीदकर रोजमर्रा का काम करते हैं। इसके चलते मार्केट में बोतल बंद पानी की डिमांड बढ़ जाएगी।

Noida News, Ghaziabad News, Ganga Water