आज जेवर एयरपोर्ट पर हुआ बड़ा फैसला, अरुणवीर सिंह ने लखनऊ में दिया प्रेजेंटेशन

आज जेवर एयरपोर्ट पर हुआ बड़ा फैसला, अरुणवीर सिंह ने लखनऊ में दिया प्रेजेंटेशन

Tricity Today | अरुणवीर सिंह ने लखनऊ में दिया प्रेजेंटेशन

Noida International Airport : उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में गुरुवार को जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के लिए गठित प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग इम्प्लमेंटेशन कमेटी (पीएमआईसी) की बैठक लखनऊ लोकभवन में सम्पन्न हुई। जिसमें जेवर एयरपोर्ट के दो रनवे को बढ़ाकर 4 से 6 रनवे करने के सम्बन्ध में तकनीकी परामर्शदाता की अध्ययन रिपोर्ट प्रस्तुत की गई है।

बैठक में बताया गया कि अभी दो रनवे के नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर के विकास के लिए ग्लोबल ई-बिडिंग के माध्यम से विकासकर्ता के रूप में जुरिक एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी का चयन किया जा चुका है। 7 अक्टूबर को कन्शेसन एग्रिमेंट जुरिक एयरपोर्ट और राज्य सरकार की कम्पनी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड-नायल के मध्य हस्ताक्षरित हो चुका है।

जेवर एयरपोर्ट और रनवे बनाए जाएंगे

मुख्य सचिव के समक्ष परामर्शदाता संस्था पीडब्ल्यूसी और नोएडा एयरपोर्ट और यमुना प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डा.अरुण वीर सिंह ने प्रस्तुतीकरण किया। इस प्रस्तुतीकरण में कुल 5 रनवे की फीजिबिलिटी बतायी गई है। वर्तमान में दो रनवे के अतिरिक्त 3 और रनवे बनाए जा सकते हैं। गहन विचार-विमर्श के बाद मुख्य सचिव की अध्यक्षता में पीएमआईसी ने 5 रनवे बनाने और वित्त की उपलब्धता होने पर भूमि अधिग्रहण करने की संस्तुति मंत्रिपरिषद के लिए कर दी।

तीन चरणों में इस तरह होगा भूमि अधिग्रहण

प्रथम चरण में तीसरे रनवे के लिए 1365 हेक्टयर भूमि का अधिग्रहण होगा। प्रथम चरण के दो रनवे के लिए 1334 हेक्टयर भूमि का अधिग्रहण किया जा चुका है। दूसरे चरण में तीन रनवे के लिए कुल 3418 हेक्टयर और भूमि की जरूरत होगी। दूसरे चरण के प्रथम फेज में 1365 हेक्टेयर, दूसरे फेज में 1318 हेक्टेयर और तीसरे फेज में 735 हेक्टेयर की भूमि सम्मिलित होगी। पांच रनवे का जेवर एयरपोर्ट में कुल 4752 हेक्टयर भूमि सम्मिलित होगी। आपको बता दें कि 2023 में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की शुरुआत होगी। शुरुआत में एयरपोर्ट एक रनवे के साथ काम करेगा। उसके बाद धीरे-धीरे रनवे की संख्या बढ़ाई जाएगी और पांच रनवे तक जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का विकास किया जाएगा।
 
अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन और अपर मुख्य सचिव (मुख्यमंत्री एवं नागरिक उड्डयन) एसपी गोयल ने भी जेवर एयरपोर्ट के विस्तार के लिए भूमि अधिग्रहण किए जाने की आवश्यकता बतायी। बैठक में प्रमुख सचिव (न्याय) जेपी सिंह, विशेष सचिव (मुख्यमंत्री एवं नागरिक उड्डयन) सुरेंद्र सिंह और वीडियो काॅन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेन्द्र भूषण और अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.