यमुना प्राधिकरण पर कोरोना की काली छाया, दो और अफसर संक्रमित, सोमवार तक बन्द रहेगा दफ्तर

Updated Jul 16, 2020 05:13:40 IST | Anika Gupta

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण पर कोरोना वायरस की काली छाया पड़ गई है। दो दिन पहले मुख्य कार्यपालक अधिकारी...

यमुना प्राधिकरण पर कोरोना की काली छाया, दो और अफसर संक्रमित, सोमवार तक बन्द रहेगा दफ्तर
Photo Credit:  Tricity Today
यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण
Key Highlights
दो दिन पहले प्राधिकरण के एक कर्मचारी को संक्रमित घोषित किया गया था
इसके बाद बुधवार को यमुना प्राधिकरण के कार्यालय में रैपिड टेस्ट किए गए
इसमें दो और अफसर संक्रमित मिले हैं, अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है 
यमुना प्राधिकरण कार्यालय को सोमवार तक तक बंद करने का फैसला लिया गया

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण पर कोरोना वायरस की काली छाया पड़ गई है। दो दिन पहले मुख्य कार्यपालक अधिकारी के कार्यालय में एक कर्मचारी संक्रमित घोषित किया गया था। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इसके बाद बुधवार को प्राधिकरण के कार्यालय में कर्मचारियों और अधिकारियों के रैपिड टेस्ट किए गए हैं। इसमें दो और कर्मचारियों को पॉजिटिव घोषित किया गया है। दोनों कर्मचारियों को अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की सलाह पर प्राधिकरण कार्यालय को सोमवार तक के लिए बंद कर दिया गया है। इस दौरान सैनिटाइजेशन प्रोसेस पूरा किया जाएगा।

यमुना प्राधिकरण के दफ्तर में दो और लोग कोरोना संक्रमित हो गए हैं। जिसकी वजह से दफ्तर को दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। उसके बाद शनिवार और रविवार को भी कार्यालय बन्द रहेगा। लिहाजा, अब यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण का कार्यालय सोमवार को खुलेगा। बीते रविवार को यमुना प्राधिकरण के एक कर्मचारी को कोरोना हो गया था। जिसके चलते प्रशासन ने दो दिनों (सोमवार-मंगलवार) के लिए दफ्तर को सील कर दिया था। दफ्तर को सैनिटाइज कराया गया। 

बुधवार को प्राधिकरण का दफ्तर खुला। स्वास्थ्य विभाग ने सभी कर्मचारियों का कोरोना रैपिड टेस्ट करवाया। जिसमें एक वरिष्ठ प्रबंधक सहित दो लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि दोनों में कोई खास लक्षण नहीं थे। यमुना प्राधिकरण के दफ्तर को दो दिनों के लिए फिर बंद कर दिया गया है। अब सोमवार को प्राधिकरण का दफ्तर खुलेगा।

आपको बता दें कि जिले के सरकारी विभागों में लगातार अधिकारी और कर्मचारी कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। गौतम बुध नगर के तीन एसडीएम अब तक संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। खुद मुख्य चिकित्सा अधिकारी और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी संक्रमित होकर अस्पतालों में भर्ती हैं। सबसे पहले गौतम बुध नगर की डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स ऑफिसर संक्रमण की चपेट में आई थीं। अब तक 50 से ज्यादा पुलिसकर्मी भी संक्रमित हो चुके हैं। इस महामारी के कारण एक पुलिसकर्मी की मौत भी हुई है।

बुधवार को एक बार फिर कोरोना वायरस ने गौतम बुद्ध नगर में पलटवार किया है। जिले में 112 नए लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जिसके बाद जिले में अब तक इस महामारी की चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 3719 हो चुकी है। वहीं, अब तक 35 लोग संक्रमण के कारण मर चुके हैं।

यूपी के स्टेट सर्विलांस ऑफिसर ने बुधवार की शाम कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े ताजा आंकड़े जारी किए हैं। रिपोर्ट में बताया गया कि गौतम बुद्ध नगर में पिछले 24 घंटों के दौरान 112 लोग और संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। दूसरी ओर बुधवार को जिले में 83 लोग स्वस्थ होने के बाद कोविड-19 अस्पतालों से डिस्चार्ज कर दिए गए हैं। अब जिले के 6 कोविड-19 अस्पतालों में 873 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। अब तक 2811 मरीज इस महामारी से निजात पा चुके हैं।

Coronavirus in Noida, Coronavirus in Yamuna Authority, COVID-19 update, Coronavirus India, Coronavirus in India, Yamuna Authority, YEIDA, CEO Yamuna Authority, Yamuna Expressway, Dr Arunvir Singh IAS