GHAZIABAD : चाचा ने दोस्त के साथ मिलकर 13 साल की मासूम को किया गर्भवती, 4 महीने बाद ऐसे हुआ खुलासा, पीड़िता की कहानी सुनकर आ जाएंगे आंसू

Updated Oct 15, 2020 12:22:31 IST | Rakesh Tyagi

गाजियाबाद में 13 साल की मासूम के साथ 4 महीने पहले हुआ गैंगरेप, अब गर्भवती हुई तो हुआ खुलासा, पीड़िता की कहानी सुनकर आ जायेंगे आंसू

GHAZIABAD : चाचा ने दोस्त के साथ मिलकर 13 साल की मासूम को किया गर्भवती, 4 महीने बाद ऐसे हुआ खुलासा, पीड़िता की कहानी सुनकर आ जाएंगे आंसू
Photo Credit:  Google Image
प्रतीकात्मक फोटो

गाजियाबाद के मोदीनगर थानाक्षेत्र के एक गांव में 13 वर्षीय बालिका को तमंचे की बल पर अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आया है। गांव के ही दो लोग किशोरी को उठाकर गन्ने के खेत में ले गए और उसके साथ दरिंदगी की। आरोपियों ने उसकी अश्लील वीडियो भी बनाई और फिर उसे बदहवास हालत में छोड़कर भाग गए। आरोपियों की धमकी के चलते पीडिता ने परिजनों को कुछ नहीं बताया लेकिन पेट में दर्द होने पर अल्ट्रासाउंड कराया गया तो वह गर्भवती निकली। जिसके बाद परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई। मंगलवार को पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 

थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली महिला का कहना है कि, काफी समय पहले उसके पति की मौत हो गई थी। तब से वह मेहनत-मजदूरी कर परिवार का पालन-पोषण कर रही थी। महिला का कहना है कि उसकी 13 वर्षीय बेटी अनपढ़ है। करीब चार माह पूर्व दोपहर में उनकी बेटी घर से निकली थी। 

आरोप है कि पड़ोस में रहने वाला व्यक्ति और उसके दोस्त ने उनकी बेटी का पीछा किया और रास्ते में बेटी की कनपटी पर तमंचा तानकर मुंह दबा लिया। इसके बाद दोनों आरोपी उनकी बेटी को गन्ने के खेत में उठाकर ले गए और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने इस दौरान अश्लील वीडियो भी बनाई। 

पीडित मां का कहना है कि आरोपियों ने शिकायत करने पर उनकी बेटी को मां और उसके दो भाइयों की हत्या करने की धमकी दी। साथ ही पीडिता की वीडियो वायरल कर बदनाम करने और उसे तेजाब डालकर जलाने के लिए धमकाया। आरोपी उसे नशीला पदार्थ सुंघाकर खेत में डाल गए। घंटों बाद होश आने पर बेटी घर पहुंची तो उसने आरोपियों के डर से परिजनों को घटना की जानकारी नहीं दी। पीडिता के पेट में दर्द होने पर राजफाश हुआ तो परिजनों ने दोनों आरोपियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का केस दर्ज कराया। 

मोदीनगर एसएचओ जयकरण सिंह का कहना है कि सामूहिक दुष्कर्म, पॉक्सो एक्ट सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बच्ची को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा गया है। दरिंदों की करतूत ने एक मासूम बच्ची और उसके परिवार को नरक में धकेल दिया। पीडिता को तो अभी तक यह भी आभास नहीं है कि उसके साथ कितना बड़ा अपराध हुआ है। हां, वह फिलहाल असहनीय पीड़ा से जरूर गुजर रही है। वह बार-बार मां से कह रही है कि उससे पीड़ा सहन नहीं हो रही। उसे अच्छे से डॉक्टर को दिखा दो। 

उधर, बेटी के साथ हुई दरिंदगी को लेकर मां भी सदमे में है। वह बार-बार अपनी किस्मत को कोसते हुए कह रही कि भगवान ने आखिर किस गुनाह की सजा उसे दी है। दरिंदों के खौफ से दहशत में आने के कारण पीडिता परिजनों को आपबीती नहीं बता सकी। इसी दौरान बच्ची पेट दर्द से परेशान रहने लगी। कई बार मां से बताया। बेहद तंग माहौल में गुजर बसर कर रही मां उसे स्थानीय चिकित्सक से दवा दिलाती रही मगर फायदा नहीं हुआ। घटना से अंजान पीडिता, परिजन और स्थानीय चिकित्सक दर्द को सामान्य समझते रहे। लेकिन बार-बार दवा लेने के बाद भी जब बच्ची को फायदा नहीं हुआ। तो मां ने किसी तरह रकम जुटाकर बेटी को शहर के बड़े चिकित्सक के यहां दिखाया। अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में बीमारी नहीं बल्कि दरिंदों की करतूत उजागर हुई। बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना का पता लगने के बाद बेबस मां एकदम शून्य समान हो गई।

रिश्ते का चाचा लगता है एक आरोपी 
सामूहिक दुष्कर्म के बाद गर्भवती हुई बच्ची को गर्भपात कराने के लिए कानूनी पेचिदगियों का सामना करना पड़ेगा। एक अधिवक्ता ने बताया कि 20 हफ्ते के बाद गर्भपात कराने के लिए कोर्ट से अनुमति मिलना कठिन है। मेडिकल परीक्षण और अन्य जांच के बाद गर्भवती की जान का खतरा भांपने के बाद ही कोर्ट अनुमति देती है। ऐसे में बच्ची का अगर गर्भपात नहीं होता तो मजबूरन उसे बच्चे को जन्म देना पड़ेगा।
 

Ghaziabad Police, Ghaziabad News, Crime in Ghaziabad, Gangrape in Ghaziabad, Gangrape with child