कानपुर शूटआउट: एनकाउंटर से बचने के लिए महाकाल की शरण में पहुंचा विकास दुबे, जानिए पूरा मामला

कानपुर शूटआउट: एनकाउंटर से बचने के लिए महाकाल की शरण में पहुंचा विकास दुबे, जानिए पूरा मामला

Google Image | एनकाउंटर से बचने के लिए महाकाल की शरण में पहुंचा विकास दुबे

कानपुर में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी पांच लाख का इनामी विकास दुबे पुलिस के एनकाउंटर से बचकर महाकाल की शरण में पहुंच गया। उसे पता था कि यदि वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया तो पुलिस उसका एनकाउंटर कर देगी। जिसके चलते वह पुलिस को चकमा देकर उज्जैन के महाकाल मंदिर में पहुंचा और खुद चिल्ला चिल्ला कर कहा मैं विकास दुबे हूं मुझे गिरफ्तार कर लो। इसका मतलब वह खुद को सरेंडर करने में कामयाब रहा। मध्य प्रदेश पुलिस मुख्य आरोपी विकास दुबे से पूछताछ कर रही है। इसकी सूचना यूपी पुलिस को दी गई है।

कानपुर पुलिस मुठभेड़ का मुख्य आरोपी 5 लाख का इनामी विकास दुबे पुलिस की कड़ी पहरेदारी के बावजूद बॉर्डर क्रॉस करने में कामयाब रहा और हरियाणा पहुंच गया। सूत्रों के मुताबिक वह फरीदाबाद के एक होटल में रुका। पुलिस रेड डालती इससे पहले वहां से चंपत हो गया। सीसीटीवी में वह ऑटो पकड़ता नजर आया। इसके बाद उसके सरेंडर की अटकलें तेज हो गईं। जिसके बाद अफवाह उड़ी की विकास दुबे दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर करने वाला है। उसके बाद गौतम बुध नगर की कोर्ट में सरेंडर करने और फिर नोएडा एक निजी चैनल में लाइव सरेंडर करने की अफवाह भी उड़ती रही। लेकिन मुख्य आरोपी यूपी दिल्ली और हरियाणा पुलिस को चकमा देकर फरीदाबाद से निकलकर मध्‍य प्रदेश पहुंच गया। बताया जाता है कि वह उज्‍जैन के महाकाल मंदिर गया। वहां उसने खुद चिल्ला चिल्ला कर कहा कि मैं विकास दुबे हूं। इसके बाद मंदिर के सुरक्षा कर्मियों ने उसे पकड़कर पुलिस को सूचना दी। यह सब उसने पुलिस एनकाउंटर से बचने के लिए किया। 

पुलिस पूछताछ में खुलेंगे घटना के राज
यूपी पुलिस जल्द मुख्य आरोपी विकास दुबे को कस्टडी में लेकर उसे पूछताछ करेगी। जैसे कि कानपुर घटना के बारे में पूरी जानकारी का पता चल सकेगा। विकास दुबे से पूछताछ में पुलिस कर्मियों का खुलासा हो सकेगा जिनके वह संपर्क में था। इसके साथ ही घटना के दिन पुलिस रेड की सूचना उसे किसने दी थी। इसके अलावा तमाम ऐसे राज है जो पुलिस पूछताछ में सामने आएंगे।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.