कानपुर कांड का मुख्य अभियुक्त विकास दुबे मार गिराया!

Updated Jul 03, 2020 19:38:34 IST | Tricity Reporter

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों को मारने वाले कुख्यात दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पुलिस ने मार गिराया है। विकास दुबे और उसके गैंग...

कानपुर कांड का मुख्य अभियुक्त विकास दुबे मार गिराया!
Photo Credit:  Google Image
विकास दुबे
Key Highlights
शुक्रवार को सूचनाएं आती रहीं कि विकास दुबे और पुलिस में मुठभेड़ हुई है
मुठभेड़ कभी कानपुर, कभी उन्नाव तो कभी औरैया जिले में होनी बताई गई
कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने इसे कोरी अफवाह करार दिया है
आईजी ने चेतावनी दी- अफवाह फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई करेगी पुलिस

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों को मारने वाले कुख्यात दुर्दांत अपराधी विकास दुबे को पुलिस ने मार गिराया है। विकास दुबे और उसके गैंग के साथ पुलिस की औरैया में मुठभेड़ हुई। जिसमें भीषण गोलाबारी के बीच विकास दुबे मारा गया है। ऐसी ऐसी सूचनाएं और अफवाह पूरे दिन भर उड़ती रहीं। हालांकि, कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल ने इन अफवाहों का खंडन किया। उन्होंने कहा कि पुलिस की कार्यवाही और जांच को प्रभावित करने के लिए विकास दुबे गैंग के सदस्य इस तरह की अफवाह प्लांट कर रहे हैं। इस बारे में अभी उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से कोई आधिकारिक सूचना नहीं दी गई है। 

आपको बता दें कि कानपुर के चौबेपुर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत विकरु गांव में हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए एक पुलिस पार्टी गुरुवार की रात गई थी। पुलिस पार्टी का नेतृत्व वहां के डीएसपी कर रहे थे। चौबेपुर के एसएचओ, 3 सब इंस्पेक्टर और 3 कॉन्स्टेबल समेत करीब 15 पुलिसकर्मी टीम में शामिल थे। बताया गया है कि विकास दुबे और उसके गैंग ने जेसीबी मशीन रास्ते पर लगाकर पुलिस का रास्ता रोक लिया। जिसके कारण पुलिस को पैदल ही विकास दुबे के घर की तरफ जाना पड़ा। जब पुलिस टीम गली में पहुंची तो घरों की छतों पर घात लगाकर बैठे गैंग ने ताबड़तोड़ फायरिंग की। 

इस गोलाबारी का जवाब पुलिसकर्मी देते उससे पहले ही डीएसपी, एसएचओ, तीन सब इंस्पेक्टर और तीन कांस्टेबल गोली लगने के कारण शहीद हो गए। पुलिस टीम के छह अन्य पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक स्थानीय निवासी भी गोलीबारी में घायल हुआ है। सभी घायलों का कानपुर के अस्पताल में इलाज चल रहा है।

विकास दुबे और उसके गैंग की तलाश में उत्तर प्रदेश पुलिस और स्पेशल टास्क फोर्स गुरुवार की रात से ही जुट गए थे। यूपी के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार और कानपुर के आईजी मोहित अग्रवाल के नेतृत्व में 7000 से ज्यादा पुलिसकर्मी विकास दुबे की तलाश में जुटे थे। शुक्रवार की सुबह विकास दुबे के मामा और एक साथी की पुलिस के साथ मुठभेड़ हुई थी। जिसमें दोनों मारे गए थे।

शुक्रवार को दिनभर सोशल मीडिया पर सूचनाएं प्रसारित होती रहीं कि विकास दुबे पुलिस से मुठभेड़ में मारा गया है। कभी यह मुठभेड़ औरैया में तो कभी उन्नाव में बताई गई। यह भी जानकारी मिली कि मुठभेड़ कानपुर में हुई है। इन सारी सूचनाओं को कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने अफवाह करार दिया है। उन्होंने यह भी चेतावनी दी है कि इस तरह की अफवाहों को उड़ाने वाले लोगों पर पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी। दरअसल, आईजी मोहित अग्रवाल का मानना है कि यह सारी सूचनाएं गलत ढंग से विकास दुबे गैंग के सदस्य प्लांट कर रहे हैं। जिनका मकसद उत्तर प्रदेश पुलिस की जांच को प्रभावित करना है।

Chief Minister Yogi Adityanath, Yogi Adityanath, Yogi Adityanath arriving Kanpur, Kanpur Encounter, Kanpur Police, Encounter, Kanpur News, UP Police, Uttar Pradesh Police, Kanpur, Yogi Adityanath, Uttar Pradesh CM, Vikas Dubey, Vikas Dubey Kanpur, Kanpur Encounter STF, kanpur std code, kanpur news hindi, kanpur news live, kanpur dehat news, kanpur police attack, kanpur police killed