गलगोटिया यूनिवर्सिटी में कोविड-19 पर आयोजित वेबिनार सीरीज का समापन हुआ

Updated Jun 03, 2020 10:36:07 IST | Tricity Reporter

गलगोटिया विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ एग्रीकल्चर और स्कूल ऑफ बेसिक एंड एप्लाइड साइंसेज ने मंगलवार को संयुक्त...

गलगोटिया यूनिवर्सिटी में कोविड-19 पर आयोजित वेबिनार सीरीज का समापन हुआ
Photo Credit:  Tricity Today
प्रतीकात्मक फोटो
Key Highlights
मंगलवार को सातवें और अंतिम दिन कोविड-19 और पारिस्थितिक तंत्र पर चर्चा हुई
कार्यक्रम में पदम भूषण पर्यावरणविद डॉ अनिल जोशी ने विचार व्यक्त किए

गलगोटिया विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ एग्रीकल्चर और स्कूल ऑफ बेसिक एंड एप्लाइड साइंसेज ने मंगलवार को संयुक्त रूप से कोविड-19 पर एक ऑनलाइन साप्ताहिक व्याख्यान श्रृंखला का आयोजन किया है। जिसमें अंतिम दिन के वेबिनार में प्राकृतिक संसाधनों और जैव विविधता पर इसका प्रभाव विषय पर चर्चा की गयी। 

व्याख्यान श्रृंखला के सातवें दिन  पारिस्थितिकी और अर्थव्यवस्था पर एक सूचनात्मक और इंटरैक्टिव सत्र रहा। सभी प्रतिभागियों के लिए यह व्याख्यान कार्यक्रम सकारात्मक रूप से वास्तविक ज्ञानवर्धक और जागरूकता पूर्ण रहा। मुख्य वक्ता के रूप में प्रसिद्ध व्यक्तित्वों में से एक महान पर्यावरणविद् पद्म श्री और पद्म विभूषण डॉ अनिल प्रकाश जोशी शामिल हुए।

डाॅ जोशी ने प्राकृतिक संसाधनों, जैव विविधता, वन पारिस्थितिकी, कोविड-19, प्रकृति, पारंपरिक जीवन प्रणालियों और पारिस्थितिकी तंत्र सेवाओं की भूमिका आदि के बारे में विस्तृत रूप से समझाया।

विश्वविद्यालय की कुलपति डाॅ प्रति बजाज, प्रोफेसर वीसी डाॅ प्रदीप कुमार, प्रोफेसर पीके शर्मा कार्यक्रम अध्यक्ष, वरिष्ठ प्रोफेसर, संकाय और सभी प्रतिभागियों ने कोविड-19 पर ऑनलाइन साप्ताहिक व्याख्यान श्रृंखला में मुख्य रूप से भाग लिया। इस कार्यक्रम में 150 से अधिक प्रतिभागी सक्रिय रूप से शामिल हुए।

Galgotias University, Galgotia University, Galgotias College of Engineering, Dhruv Galgotia, Suneel Galgotia