BIG NEWS: यमुना प्राधिकरण तीन सिटी बसाएगा, 9 गांवों की 3200 एकड़ भूमि खरीदेगा

Updated Jul 27, 2020 23:33:49 IST | Anika Gupta

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण तीन सिटी बसाएगा। इसके लिए यमुना प्राधिकरण ने 9 गांवों के किसानों से 3,200 एकड़ जमीन खरीदने...

BIG NEWS: यमुना प्राधिकरण तीन सिटी बसाएगा, 9 गांवों की 3200 एकड़ भूमि खरीदेगा
Photo Credit:  Google Image
Dr Arunvir Singh IAS
Key Highlights
इलेक्ट्रानिक सिटी, एविएशन सिटी और ट्रांसपोर्ट सिटी के लिए 3200 एकड़ जमीन खरीदेंगे
इसके लिए विकास प्राधिकरण हुडको से 4,000 करोड रुपए का कर्ज लेगा
पैसे का इंतजाम होने के बाद अगले महीने से जमीन खरीद की प्रक्रिया शुरू होगी

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण तीन सिटी बसाएगा। इसके लिए यमुना प्राधिकरण ने 9 गांवों के किसानों से 3,200 एकड़ जमीन खरीदने का प्रस्ताव तैयार कर लिया है। इसके लिए प्राधिकरण हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (हुडको) से 4000 करोड रुपए का कर्ज लेगा।

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने इलेक्ट्रानिक सिटी, एविएशन सिटी और ट्रांसपोर्ट सिटी बसाने के लिए 3200 एकड़ जमीन किसानों से खरीदने का निर्णय लिया है। जमीन खरीदकर तीनों हब का विकास करने के लिए यमुना प्राधिकरण हुडको से 4 हजार करोड़ रुपये का ऋण लेगा। ऋण प्रक्रिया पूरी होने के बाद अगले दो महीने में जमीन खरीद शुरू हो जाएगी।

जेवर में एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी का चयन होने के बाद इस इलाके में निवेशकों की रुचि बढ़ी है। यमुना प्राधिकरण भी इस मौके को भुनाने में जुटा है। प्राधिकरण एयरपोर्ट के चारों ओर विकास करने के लिए नई-नई योजनाओं पर विचार कर रहा है और उस पर आगे बढ़ रहा है। प्राधिकरण एयरपोर्ट के पास तीन हब विकसित करेगा। इसकी अनुमति प्रदेश सरकार से मिल चुकी है। 

प्राधिकरण दो सेक्टरों में इलेक्ट्रानिक सिटी, एक सेक्टर में ट्रांसपोर्ट हब और एक सेक्टर में एविएशन हब विकसित करेगा। इसके लिए करीब 3200 एकड़ जमीन की जरूरत पड़ेगी। यह इलाका मास्टर प्लान 2031 में शामिल है। इसको मास्टर प्लान 2021 में शामिल कराने के लिए यमुना प्राधिकरण ने एससीआर प्लानिंग बोर्ड में आवेदन कर दिया है।

प्रदेश सरकार इसकी पहले की अनुमति दे चुकी है। उम्मीद है कि अगले 15 दिन में एनसीआर प्लानिंग बोर्ड इसकी अनुमति दे देगा। पहले यह क्षेत्र 2031 में शामिल था।

9 गांवों के किसानों की जमीन खरीदेगा प्राधिकरण

तीनों हब बसाने के लिए 3200 एकड़ जमीन की जरूरत पड़ेगी। अभी इसकी जमीन खरीदी जाएगी। प्राधिकरण ने सेक्टर 8 व 30 में इलेक्ट्रानिक सिटी, सेक्टर-7 में एविएशन हब और सेक्टर-31 में ट्रांसपोर्ट हब विकसित करने की तैयारी पूरी कर ली है। यह प्रस्तावित जमीन 9 गांवों की है। यमुना प्राधिकरण किसानों की सहमति के बाद सीधे जमीन खरीदेगा। ताकि यह काम जल्द पूरा किया जा सके।

हुडको ने लोन देने की सहमति दी

तीनों हब के लिए जमीन खरीदने व वहां विकास कार्य कराने के लिए करीब 4000 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। यमुना प्राधिकरण पैसों का इंतजाम कर लिया है। प्राधिकरण हुडको से लोन लेगा और हुडको ने इस पर सहमति दे दी है। प्राधिकरण को 7 प्रतिशत की दर से ब्याज देना पड़ेगा। जल्द ही पैसा जारी किए जाने की उम्मीद है। इससे तीनों हब विकसित करने में आसानी रहेगी।

अगले दो महीने में जमीन खरीद शुरू होगी

तीन हब का प्रस्तावित इलाका एनसीआर प्लानिंग बोर्ड मास्टर प्लान 2021 में जल्द शामिल कर देगा। इसके साथ ही हुडको 4 हजार करोड़ का लोन दे देगा। उम्मीद है कि अगले दो महीने में जमीन खरीदने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। किसानों से सीधे जमीन खरीदने की तैयारी है।

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुणवीर सिंह ने कहा, "इलेक्ट्रानिक सिटी, एविएशन सिटी और ट्रांसपोर्ट सिटी विकसित करने के लिए हुडको से ऋण लिया जाएगा। इसके लिए सहमति बन गई है। तीनों हब के लिए अगले दो महीने में जमीन खरीदने का काम शुरू हो जाएगा।"

यह खासियत होंगी

  1. इलेक्ट्रानिक सिटी-दो सेक्टरों में इलेक्ट्रानिक से संबंधित कंपनियों को जमीन आवंटित की जाएगी। यहां पर निवेश करने वाले उद्यमियों केा सरकार की इलेक्ट्रानिक नीति के तहत लाभ दिया जाएगा।
  2. एविएशन हब-यहां पर उड‘डयन क्षेत्र से संबंधित कंपनियों को भूखंड दिए जाएंगे। यहां विमानों के एमआरओ (मेंटीनेंस, रिपेयरिंग एंड ओवरहॉलिंग) का भी काम होगा। इसके लिए कई बड़ी कंपनियां आने को तैयार हैं।
  3. ट्रांसपोर्ट हब-इसमें बस टर्मिनल, मेट्रो हब आदि हो सकता है। ट्रांसपोर्ट से संबंधित गतिविधियां इस सेक्टर में होंगी। इसके लिए यमुना प्राधिकरण ने तैयारी शुरू कर दी है।
Yamuna Authority, Dr Arunvir Singh IAS