किसानों के सामने झुके प्राधिकरण, तीनों अथॉरिटी के अफसर बात करने पहुंचे नोएडा, बैठक शुरू

BIG BREAKING : किसानों के सामने झुके प्राधिकरण, तीनों अथॉरिटी के अफसर बात करने पहुंचे नोएडा, बैठक शुरू

किसानों के सामने झुके प्राधिकरण, तीनों अथॉरिटी के अफसर बात करने पहुंचे नोएडा, बैठक शुरू

Tricity Today | तीनों अथॉरिटी के अफसर बात करने पहुंचे नोएडा

किसानों के सामने झुके प्राधिकरण, तीनों अथॉरिटी के अफसर बात करने पहुंचे नोएडा, बैठक शुरू NOIDA NEWS : आज सुबह से ही गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddh Nagar) के हजारों किसान (Farmers) अपनी मांगों को लेकर जिले में प्रदर्शन कर रहे हैं। देर शाम को किसानों ने नोएडा प्राधिकरण का घेराव किया तो तीनों प्राधिकरण (Authority) की नींद उड़ गई। इस समय नोएडा प्राधिकरण में तीनों ऑथोरिटी के अधिकारी मौजूद है। प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों के साथ किसानों की बातचीत शुरू हो गई है।

नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी, यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ दीपचंद, नोएडा के एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह और आला अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। किसानों और अफसरों के बीच कई मुद्दे को लेकर चर्चा की जा रही है। नोएडा प्राधिकरण के बाहर हजारों की संख्या के किसान मौजूद हैं।

हजारों किसान ट्रैक्टर-ट्रॉली लेकर नोएडा प्राधिकरण पहुंचे
आपको बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के हजारों कार्यकर्ता सोमवार की दोपहर ग्रेटर नोएडा के परी चौक से नोएडा की तरफ रवाना हुए। किसान अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली और गाड़ियों में सवार होकर नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे (Noida-Greater Noida Expressway) के माध्यम से नोएडा आए। इस दौरान ग्रेटर नोएडा के एडिशनल डीसीपी विशाल पांडे (ADCP Vishal Pandey) ने ग्रेटर नोएडा में ही किसानों को रोकने का प्रयास किया लेकिन किसान किसी की सुनने को तैयार नहीं थे। अपनी विभिन्न मांगों को पूरा कराने के लिए किसान नोएडा के लिए रवाना हुए थे। 

पूरे दिन यातायात प्रभावित रहा
दोपहर के समय हजारों किसान अपनी ट्रैक्टर-ट्रॉली पर सवार होकर एक्सप्रेसवे के माध्यम से नोएडा की तरफ बढ़े थे। जिसके कारण नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर लोगों को भारी जाम से जूझना पड़ा। किसानों के इस प्रदर्शन के कारण पूरे एक्सप्रेसवे पर सोमवार को पूरे दिन यातायात प्रभावित रहा है। पूरे दिन नोएडा ट्रैफिक पुलिस यातायात को सामान्य करने में लगी रही।

"अफसरों और जनप्रतिनिधियों का किसानों पर ध्यान नहीं"
भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष पवन खटाना ने कहा, "किसान अब पीछे हटने वाला नहीं है। प्राधिकरण और सरकार को अब किसान की सुननी ही होगी। किसानों का प्राधिकरण काफी लंबे समय से शोषण करता हुआ आ रहा है लेकिन इसको अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। नोएडा के हजारों किसान और माताएं-बहने पिछले करीब 40 दिनों से नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर के बाहर अपनी मांगों को लेकर बैठी हुई हैं। उसके बावजूद भी अफसरों और जनप्रतिनिधि किसानों के इस प्रदर्शन को अनदेखा कर रहे हैं। आज हजारों की संख्या में किसान नोएडा प्राधिकरण के गेट पर इकट्ठे हुए हैं। जब तक किसानों की मांग पूरी नहीं होगी। तब तक किसान पीछे हटने वाले नहीं है।

पहले भी हुई थी बातचीत
आपको बता दें कि किसानों और अफसरों के बीच यह कोई पहली वार्ता नहीं है। इससे पहले भी काफी बार किसानों और अधिकारियों के बीच वार्तालाप हो चुकी है लेकिन कोई भी नतीजा सामने नहीं आया। कुछ समय पहले ही नोएडा प्राधिकरण पर प्रदर्शन करने वाले किसान जेल गए थे। उस समय किसानों और अफसरों के बीच बातचीत हुई थी। उसके बावजूद भी काफी बिंदुओं पर किसानों की सहमति नहीं बनी। जिसकी वजह से किसानों का प्रदर्शन खत्म नहीं हुआ। आज भी अफसरों और किसानों के बीच बातचीत हो रही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.