आर्ष कन्या गुरुकुल में छात्रा की मौत का मामला सीबीआई को हुआ ट्रांसफर, जानिए क्या था पूरा मामला

NOIDA BREAKING : आर्ष कन्या गुरुकुल में छात्रा की मौत का मामला सीबीआई को हुआ ट्रांसफर, जानिए क्या था पूरा मामला

आर्ष कन्या गुरुकुल में छात्रा की मौत का मामला सीबीआई को हुआ ट्रांसफर, जानिए क्या था पूरा मामला

Google Image | आर्ष कन्या गुरुकुल

आर्ष कन्या गुरुकुल में छात्रा की मौत का मामला सीबीआई को हुआ ट्रांसफर, जानिए क्या था पूरा मामला Noida News : नोएडा में स्थित आर्ष कन्या गुरुकुल में 2 साल पहले एक छात्रा की लाश फांसी पर लटकी मिली थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला लिया है। सुनवाई करते समय सुप्रीम कोर्ट ने कहा, "अब इस पूरे मामले की जांच सीबीआई करेगी।" सुप्रीम कोर्ट ने अर्श कन्या गुरुकुल के भीतर छात्रा की मौत के मामले में जांच सीबीआई को सौंप दी है। इससे पहले गुरुकुल के आचार्य और उनकी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

क्या है पूरा मामला
दरअसल, नोएडा के सेक्टर-115 सोरखा में आर्ष कन्या नामक एक गुरुकुल है। जिसमें हरियाणा की रहने वाली एक दसवीं क्लास की छात्रा की 3 जुलाई 2020 को मौत हो गई थी। छात्रा की मौत की जानकारी गुरुकुल के संचालकों ने परिजनों को फोन कर दी थी, लेकिन बिना पुलिस को सूचना दिए छात्रा का अंतिम संस्कार गुरुकुल में ही कर दिया गया था। बाद में छात्रा की मां ने गुरुकुल प्रबंधन पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस से इसकी शिकायत की थी। छात्रा की मां ने गुरुकुल प्रबंधन पर आरोप लगाया था कि उनकी बेटी की हत्या की गई है और सारे सबूत मिटाए गए हैं। 

गुरुकुल के आचार्य और उनकी पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज
इस मामले में छात्रा की मां ने 10 दिन बाद सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखकर भी शिकायत की थी। जिसके बाद जांच में गुरुकुल की तरफ से एक सुसाइड नोट पुलिस को सौंपा गया था, लेकिन बाद में गुरुकल के आचार्य और उनकी पत्नी की भूमिका संदिग्ध पाई गई थी। जिसके बाद सेक्टर-49 कोतवाली में गुरुकुल के आचार्य जयेंद्र कुमार और उनकी पत्नी के खिलाफ धारा 302 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। अब इस मामले में सुप्रीमकोर्ट ने जांच सीबीआई को सौंप दी हैं।

मां ने कहा- मेरी बेटी के साथ रेप हुआ और फिर हत्या की
छात्रा की मां ने गुरुकुल के संचालक पर यह भी आरोप लगाया था कि उसकी बेटी के साथ रेप करने के बाद उसकी हत्या की गई है। जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में मुकदमा पंजीकृत किया और जांच शुरू की। यह मामला सुप्रीम कोर्ट ने अब सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया है। जिसके बाद छात्रा के परिजनों ने उम्मीद जताई है कि उनकी बेटी को जल्द न्याय मिल जाएगा। इस पूरे मामले में गुरुकुल के संचालक जयेंद्र कुमार की भूमिका संदिग्ध पाई गई है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.