सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने की रिपोर्ट अगले हफ्ते सौपेंगी सीबीआरआई, 2 महीने से कम का वक्त बचा

बड़ी खबर : सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने की रिपोर्ट अगले हफ्ते सौपेंगी सीबीआरआई, 2 महीने से कम का वक्त बचा

सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने की रिपोर्ट अगले हफ्ते सौपेंगी सीबीआरआई, 2 महीने से कम का वक्त बचा

Tricity Today | सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने की रिपोर्ट अगले हफ्ते सौपेंगी सीबीआरआई

सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने की रिपोर्ट अगले हफ्ते सौपेंगी सीबीआरआई, 2 महीने से कम का वक्त बचा Noida News : सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सुपरटेक एमेरल्ड कोर्ट ट्विन टॉवर्स को गिराने की प्रक्रिया चल रही है। बिल्डर की संशोधन की अपील खारिज होने के बाद नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) ने सीबीआरआई से टावर गिराने की योजना जल्द देने की मांग की है। मंगलवार को संस्थान और प्राधिकरण के अफसरों के बीच बैठक हुई। इसमें तय हुआ कि अगले सोमवार, 11 अक्टूबर तक संस्था अपनी कार्ययोजना प्राधिकरण को सौंप देगी। इस बीच दोनों टावर को गिराने के लिए चार से पांच एजेंसियों ने भी सीबीआरआई और नोएडा प्राधिकरण के अफसरों से संपर्क किया है। हालांकि अब अथॉरिटी के पास इन टावर को गिराने के लिए 2 महीने से कम का वक्त बचा है।

पिछले महीने इन दोनों टावर का निरीक्षण करने सीबीआरआई की टीम सुपरटेक ट्विन टॉवर्स की साइट पर गई थी। बाद में अफसरों से सभी टावरों का स्ट्रक्चर फाउंडेशन प्लान मांगा था। इसे प्राधिकरण ने बिल्डर से लेकर संस्था को उपलब्ध कराया था। सीबीआरआई के निर्देश पर ही ड्रोन से दोनों टावर समेत पूरे इलाके का सर्वे कराया गया। इसी संस्था के दिए सुझाव के आधार पर टावरों को गिराने की प्रक्रिया शुरू होगी। हालांकि बिल्डर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका देकर आदेश में संशोधन की मांग की थी। लेकिन शीर्ष अदालत ने उसे खारिज कर दिया था और ट्विन टावर को गिराने का आदेश बरकरार रखा था।

11 अक्टूबर तक मांगी कार्ययोजना
मंगलवार को सीबीआरआई के अधिकारियों और प्राधिकरण के अफसरों के बीच ऑनलाइन बैठे हुई। इसमें टावरों को गिराने से संबंधित कार्ययोजना पर चर्चा की गई। इस दौरान अधिकारियों ने कहा है कि संस्था हर हाल में अगले सोमवार तक कार्ययोजना की रिपोर्ट प्राधिकरण को सौंप दें, अन्यथा सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन कराने के लिए समय की कमी हो जाएगी। हालांकि अब यह मुश्किल लग रहा है। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान 1 महीने से ज्यादा का वक्त निकल चुका है। 

2 महीने से कम वक्त बचा
अब प्राधिकरण के पास दोनों टावरों को गिराने के आदेश का पालन करने के लिए 2 महीने से भी कम का वक्त है। उच्चतम न्यायालय ने 31 अगस्त को एमेरल्ड टॉवर्स को अगले 90 दिनों में गिराने का फैसला सुनाया था। इसके मुताबिक 1 महीने से ज्यादा का वक्त पहले ही निकल चुका है। शीर्ष अदालत ने ही सीबीआरआई की देखरेख में इन दोनों टावर को गिराने का सुझाव दिया था। लेकिन अब तक हुए कार्य प्रगति के बाद मुश्किल लग रहा है कि 30 नवंबर तक ट्विन टॉवर्स को ध्वस्त किया जा सकेगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.