सीएम ने नोएडा में दिया बड़ा आदेश- प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट होगा, ओवरचार्जिंग से खफा, 6 अफसरों की टीम बनाई

BIG BREAKING : सीएम ने नोएडा में दिया बड़ा आदेश- प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट होगा, ओवरचार्जिंग से खफा, 6 अफसरों की टीम बनाई

सीएम ने नोएडा में दिया बड़ा आदेश- प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट होगा, ओवरचार्जिंग से खफा, 6 अफसरों की टीम बनाई

Tricity Today | सीएम ने नोएडा में दिया बड़ा आदेश

सीएम ने नोएडा में दिया बड़ा आदेश- प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट होगा, ओवरचार्जिंग से खफा, 6 अफसरों की टीम बनाई Yogi Adityanath in Noida : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नोएडा में अफसरों के साथ हुई बैठक में बड़ा आदेश दिया है। सीएम ने प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट करवाने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने तल्ख लहजे में कहा कि महामारी के दौरान प्राइवेट अस्पतालों की कार्यप्रणाली ठीक नहीं रही है। ओवर चार्जिंग और गलत बिलिंग करने की शिकायत उन्हें मिली हैं। कोविड-19 का उपचार कर रहे प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट करवाया जाएगा। इसके लिए 6 अधिकारियों की टीम का गठन कर दिया गया है।

योगी आदित्यनाथ ने रविवार को नोएडा का दौरा किया। कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति और रोकथाम के उपायों की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने नेशनल थर्मल पावर कारपोरेशन के सभागार में जिले के अफसरों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की। इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने प्राइवेट अस्पतालों की भूमिका पर सवाल किया। अफसरों ने बताया कि कई अस्पतालों के खिलाफ शिकायतें मिली हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने कड़े लहजे में आदेश दिया कि अस्पतालों की ऑडिट किया जाए। कई अस्पतालों ने आपदा को अवसर में बदलने का प्रयास किया है। आम आदमी को सुविधाएं देने की बजाय उनसे पैसा बनाने की कोशिश की गई है। ऐसे वक्त में जब अस्पतालों को मानवता का परिचय देना चाहिए था, उस वक्त परेशान लोगों को और परेशान किया गया है। लिहाजा, प्राइवेट अस्पतालों का ऑडिट करवाया जाएगा। जिन अस्पतालों की गलतियां सामने आएंगी, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। किसी भी अस्पताल प्रबंधन को बख्शा नहीं जाएगा।

अस्पतालों के ऑडिट में राजनीतिक दखल को नहीं मानें
इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पतालों के ऑडिट में अफसर किसी भी राजनीतिक दबाव में नहीं आएं। पारदर्शी तरीके से अस्पतालों का ऑडिट किया जाए। मुख्यमंत्री ने यह ऑडिट करने के लिए अफसरों की एक टीम का गठन करने का आदेश दिया है। यह ऑडिट टीम महामारी के दौरान अस्पतालों की पूरी कार्यप्रणाली का ऑडिट करेगी। इसके बाद रिपोर्ट जिलाधिकारी के माध्यम से शासन को भेजी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि जिन अस्पतालों में गड़बड़ी पकड़ी जाए, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

एक जनप्रतिनिधि ने की ऑडिट का विरोध करने की कोशिश
मुख्यमंत्री के साथ जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों की इस बैठक में जब प्राइवेट अस्पतालों के ऑडिट का मुद्दा उठा तो एक जनप्रतिनिधि ने विरोध करने की कोशिश की। उन्होंने तर्क दिया कि प्राइवेट अस्पतालों ने अच्छा काम किया है। अगर उनका ऑडिट किया गया तो मनोबल गिरेगा। इसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तत्काल खारिज कर दिया। इतना ही नहीं अफसरों को आदेश भी दिया कि किसी भी तरह के राजनीतिक दखल को नहीं माना जाए। ऑडिट पूरी तरह पारदर्शी होना चाहिए। जिनकी गलती सामने आए उनके साथ किसी भी तरह की मुरव्वत बरतने की आवश्यकता नहीं है।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.