राहतः नोएडा स्टेडियम में 8 मई से शुरू होगा कोविड हॉस्पिटल, पांच वेंटिलेटर और आईसीयू बेड रहेंगे, मिलेंगी ये सहूलियत

नोएडा स्टेडियम में 8 मई से शुरू होगा कोविड हॉस्पिटल, पांच वेंटिलेटर और आईसीयू बेड रहेंगे, मिलेंगी ये सहूलियत

Google Image | स्टेडियम में पहुंचा मेडिकल किट

नोएडा स्टेडियम में बन रहा अस्थाई कोविड हॉस्पिटल इसी हफ्ते शुरू हो जाएगा। इसे सेटअप करने का काम गुजरात में किया जा रहा है। इस कोविड हॉस्पिटल में 5 वेंटीलेटर बेड की व्यवस्था रहेगी। साथ में आईसीयू बेड भी लगाए जाएंगे। इसे कुल 50 बेड की क्षमता वाले अस्पताल के रूप में तैयार किया जा रहा है। तीन दिन बाद 8 मई से इसे शुरू करने का प्लान है। मंगलवार को 300 खाली सिलेंडर भी भरकर नोएडा स्टेडियम पहुंच गए हैं।

अस्थाई कोविड हॉस्पिटल में डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी के लिए रोस्टर तैयार किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक यहां कुल 8 डॉक्टर और 16 नर्स की तैनाती होगी। वार्ड ब्वॉय और आया अलग से ड्यूटी में लगाए जाएंगी। 8 घंटे ड्यूटी के हिसाब से इन सभी की रोस्टर बनाया जाएगा। इसके अलावा एक सीनियर काउंसलर की भी तैनाती की जाएगी। डॉक्टर फॉर यू एनजीओ और प्राधिकरण के बीच स्टॉफ की तैनाती को लेकर लगातार बातचीत चल रही है। दरअसल गौतमबुध नगर में कोरोना वायरस अनियंत्रित हो गया है। बीते दिन ही 1700 से ज्यादा नए मामले सामने आए थे। 

इस वजह से अस्पतालों में बेड, आईसीयू, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की भारी कमी हो रही है। सैकड़ों लोगों की जान मेडिकल सुविधाओं के अभाव में जा चुकी है। ऑक्सीजन के लिए मरीजों को संघर्ष करना पड़ रहा है। इसको देखते हुए नोएडा प्राधिकरण ने सेक्टर 21ए स्थित स्टेडियम के शूटिंग रेंज में 50 बेड का कोविड हॉस्पिटल शुरू करने की घोषणा की थी। अस्पताल का निर्माण कार्य में अंतिम चरण में पहुंच गया है। एनजीओ से समन्वय कर डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी लगाई जा रही है। मानकों के मुताबिक 30 बेड पर एक डॉक्टर और दो नर्स की ड्यूटी लगाई जाती है। 

यहां 50 बेड के लिए 2 डॉक्टर और 4 नर्स की ड्यूटी लगेगी। 8 घंटे की शिफ्ट के हिसाब से 24 घंटे के लिए 6 डॉक्टर और 12 नर्स रहेंगी। एक डॉक्टर और दो नर्स रिजर्व में रखे जाएंगे। ताकि किसी नर्स या डॉक्टर को परेशानी होने की हालत उनकी जगह ड्यूटी कर सकें। वरिष्ठ परामर्शदाता निरंतर इन सभी के संपर्क में रहेंगे। मेडिकल उपकरणों और किट के लिए नोएडा को दिल्ली पर निर्भर रहना पड़ता है। जबकि दिल्ली में संपूर्ण लॉकडाउन है। ऐसे में मेडिकल सामान जुटाने में भारी परेशानी हो रही है। लेकिन किसी तरह इनके स्टॉक को सुनिश्चित किया जा रहा है। 8 मई को अस्पताल का संचालन शुरू हो जाएगा।
 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.