नोएडा की सबसे बड़ी खबर: जांच में हर सातवां नागरिक संक्रमण का शिकार, जिले में लागू हुआ 'ट्रिपल टी फार्मूला'

जांच में हर सातवां नागरिक संक्रमण का शिकार, जिले में लागू हुआ 'ट्रिपल टी फार्मूला'

Tricity Today | कोरोना की जांच करवाते हुए नोएडा के निवासी

  • -गौतमबुद्ध नगर में 10 से 13 अप्रैल के बीच 15000 लोगों की जांच हुई
  • -इनमें से 2,250 लोग पॉजिटिव मिले हैं, रोजाना 5,000 टेस्ट हो रहे हैं
  • -इस दौरान नोएडा और ग्रेटर नोएडा में मरीजों की मृत्यु दर भी बढ़ गई
Coronavirus in Noida : गौतमबुद्ध नगर को कोरोनावायरस के संक्रमण ने अपने पंजे में जकड़ लिया है। रोजाना बड़ी संख्या में संक्रमित सामने आ रहे हैं। जिसकी वजह से एक और संक्रमण की दर तेजी से बढ़ रही है, दूसरी ओर पिछले एक सप्ताह में मृत्यु दर भी तेजी से बढ़ी है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जिले में 10 से 13 अप्रैल के बीच जांच में प्रत्येक सातवां नागरिक संक्रमित मिला है। पिछले 4 दिनों में करीब 15,000 लोगों की जांच हुई हैं। इनमें से करीब 2,250 लोग संक्रमित मिले हैं। 13 अप्रैल के बाद की जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई हैं। यह रिपोर्ट सामने आने के बाद आंकड़ा और ज्यादा हो सकता है। लिहाजा, जिले में  'ट्रिपल टी फार्मूला' लागू कर दिया गया है। यानि टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट पर जोर दिया जा रहा है।

1. टेस्टिंग : अब रोजाना 5,000 लोगों की जांच हो रही है
संक्रमण को रोकने का सबसे बड़ा उपाय जांच बढ़ाना है। लिहाजा, गौतमबुद्ध नगर के स्वास्थ्य विभाग ने जांच बढ़ा दी है। अब प्रतिदिन 5,000 से अधिक लोगों की जांच की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि इससे भविष्य में संक्रमण की दर कम हो सकती है। हालांकि, अप्रैल महीने में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जिसने लोगों की मुश्किल बढ़ा दी है। जिले के अस्पतालों में बिस्तर कम पड़ गए हैं और मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। जिसके चलते लोग चक्कर काटने के लिए मजबूर हैं। इन हालात के बारे में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ दीपक ओहरी ने कहा, "अभी जांच में 15% मरीज कोरोनावायरस से संक्रमित मिल रहे हैं। जिस रफ्तार से जांच बढ़ रही है, उससे आने वाले दिनों में पॉजिटिव रेट गिर सकता है।

2. ट्रीटमेंट : पांच और अस्पतालों में 700 बेड बढ़ाए गए
स्वास्थ्य विभाग ने ट्रीटमेंट की सुविधाएं लोगों को मुहैया कराने के लिए युद्ध स्तर पर काम शुरू कर दिया है। पांच निजी अस्पतालों को कोविड-19 का इलाज करने की अनुमति दी गई है। इससे 700 बिस्तर बढ़ गए हैं। नोएडा के सूर्या अस्पताल में 200, जीआर हॉस्पिटल में 200, जीएस अस्पताल में 100, त्रिपाठी अस्पताल में 100 और एसआरएस अस्पताल में 100 बैड बढ़ाए गए हैं। सीएमओ ने बताया कि अब गौतमबुद्ध नगर में कुल बेड की संख्या 2458 हो गई है। दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग हर रोज 2,000 से अधिक लोगों की आरटीपीसीआर जांच कर रहा है। सीएमओ डॉ दीपक ओहरी ने बताया कि जांच रिपोर्ट 24 घंटे में मिल रही है। प्रयोगशाला में सिर्फ 2 दिनों के 350 नमूनों की रिपोर्ट लंबित पड़ी हुई हैं। 

जिला अस्पताल में प्रतिदिन 100 से ज्यादा लोग रिपोर्ट लेने के लिए चक्कर लगा रहे हैं। सीएमओ ने बताया कि इन लोगों को कोविड-19 पोर्टल पर अपनी जांच रिपोर्ट दिखाई नहीं दे रही हैं। आपको बता दें कि शनिवार को गौतमबुद्ध नगर में 402 नए मरीज सामने आए हैं। जिसके बाद जिले में पिछले एक वर्ष के दौरान संक्रमित लोगों की संख्या 30,000 तक पहुंच गई है। इनमें से 26,953 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौट चुके हैं। अभी जिले के अस्पतालों में 2,783 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 100 लोगों की मौत इस महामारी के कारण हो चुकी है।

जिले में 7,591 लोगों ने वैक्सीन लगवाई
एक और जहां कोरोना संक्रमण की टेस्टिंग तेजी से की जा रही है, दूसरी ओर लोगों को रोजाना बड़ी संख्या में वैक्सीन भी लगाई जा रही है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 74 केंद्रों पर टीकाकरण अभियान चल रहा है। शनिवार को इन सारे केंद्रों पर 7,591 लोगों ने वैक्सीनेशन करवाया है। अभियान में 39 सरकारी और 35 निजी केंद्र जुड़े हुए हैं। शनिवार को सरकारी केंद्रों पर 3,895 और प्राइवेट केंद्रों पर 3,696 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है। 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले 1,294 लोगों को पहली डोज दी गई है। 45 से 59 वर्ष के 4,529 लोगों को पहली खुराक दी गई है। इसी आयु वर्ग के 282 लोगों को दूसरी खुराक दी गई है। शनिवार को 71 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली और 77 कर्मियों को दूसरी डोज दी गई है। फ्रंटलाइन वर्कर भी इनमें शामिल हैं। 71 फ्रंटलाइन वर्कर ने पहली और 58 ने दूसरी ढूंढ ली है।

3. ट्रेसिंग : नोएडा-ग्रेटर नोएडा टीम बढ़ीं
नोएडा और ग्रेटर नोएडा में जिन हाउसिंग सोसायटी, सेक्टर गांवों और कस्बों से संक्रमित मिल रहे हैं, वहां कांटेक्ट ट्रेसिंग तेजी से की जा रही है। ट्रेसिंग के दौरान भी बड़ी संख्या में पॉजिटिव मरीज मिले हैं। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नेपाल सिंह ने बताया कि ग्रेटर नोएडा में पंचशील ग्रीन। साकीपुर, तिलपता, सूरजपुर, कुलेसरा, बिसरख, थापखेड़ा, जलपुरा, अजनारा होम्स, सुपरटेक इको विलेज, पाम ओलंपिया, गौर सिटी वन, गौर सिटी टू, निंबस हाउसिंग सोसायटी, पूर्वांचल रॉयल सिटी, सेक्टर डेल्टा टू, कासना, यूनिटेक हाइट, डब्ल्यूएचओ, दादरी क्षेत्र में दुजाना, बढ़पुरा मिलक, खटाना, शाहपुर और खेड़ा में कांटेक्ट ट्रेसिंग की गई है। नोएडा में सेक्टर-44, सेक्टर-45, भंगेल, सालारपुर, गिरधरपुर, सेक्टर-61, सेक्टर-62, सेक्टर-30 में कांटेक्ट ट्रेसिंग की गई है।

अब तक का हाल
शनिवार को गौतमबुद्ध नगर में कोरोना वायरस के 402 नए मरीज और आ गए थ। जिसमें में अब तक टोटल कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की संख्या 100 तक पहुंच गई है। अब तक जिले में 29,836 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके है। जिसमें से 26,953 कोरोना वायरस के मरीज अपना इलाज करवाकर अपने घर वापस लौट गए है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.