BIG BREAKING: गवाह को धमकी देने पर कुख्यात अनिल दुजाना के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पत्नी नहीं लड़ेगी जिला पंचायत चुनाव

गवाह को धमकी देने पर कुख्यात अनिल दुजाना के खिलाफ मुकदमा दर्ज, पत्नी नहीं लड़ेगी जिला पंचायत चुनाव

Tricity Today | Gangster Anil Dujana

  • अनिल दुजाना (Anil Dujana) के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है
  • दुजाना पर गवाह को धमकी देने का आरोप लगा है
  • इससे जमानत पर रिहा गैंगस्टर की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।
  • गैंगस्टर की पत्नी पूजा नागर ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है
गौतमबुद्ध नगर के कुख्यात गैंगस्टर (Gangster) और वेस्ट यूपी में आंतक के पर्याय अनिल दुजाना (Anil Dujana) के खिलाफ ग्रेटर नोएडा की बादलपुर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। दुजाना पर गवाह को धमकी देने का आरोप लगा है। इससे जमानत पर रिहा गैंगस्टर की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। इसका असर पंचायत चुनाव में भी देखने को मिला है। कुख्यात गैंगस्टर की पत्नी पूजा नागर ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। वह पहले गौतमबुद्ध नगर के वार्ड नंबर-2 से जिला पंचायत सदस्य पद की दावेदारी पेश कर रही थीं। लेकिन पुलिस के शिकंजा कसने के बाद रातों-रात पूजा नागर के पोस्टर हटा दिए गए हैं। दरअसल गौतमबुद्ध नगर पुलिस अपराधिक पृष्ठभूमि के उम्मीदवारों पर लगातार शिकंजा कस रही है। उम्मीद जताई जा रही है कि क्रिमिनल रिकॉर्ड वाले कई और उम्मीदवार पंचायत चुनाव से पीछे हट सकते हैं।

यह है पूरा मामला
खेड़ी गांव के प्रधान जयचंद की हत्या वर्ष 2012 में दादरी कस्बे में अग्रसेन इंटर कॉलेज के पास कर दी गई थी। इस मामले में जयचंद की पत्नी संगीता ने एफआईआर दर्ज करवाई थी। मुकदमे में अनिल दुजाना समेत उसके गैंग के कई बदमाश नामजद हैं। संगीता ने मंगलवार को अनिल दुजाना के खिलाफ बादलपुर कोतवाली में शिकायत दी है। संगीता ने अनिल दुजाना पर धमकी देने और मुकदमे में पैरवी नहीं करने का आरोप लगाया है। डीसीपी का कहना है कि मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है। मामले में जांच की जा रही है।

दो महीने पहले जमानत पर रिहा हुआ था
गैंगस्टर अनिल दुजाना करीब दो महीने पहले ही जेल से जमानत पर रिहा हुआ था। उसे एक ओर पुलिस और दूसरी ओर सुंदर भाटी गैंग से लगातार खतरा बना हुआ था। जिसके चलते उसने जमानत हासिल नहीं की थी। लेकिन महाराजगंज से गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में मुकदमों की पैरवी के लिए पुलिस कस्टडी में आना-जाना पड़ता था। इसे लेकर वह कई बार अपनी जान को खतरा बता चुका था। उसके परिवार के सदस्यों ने कई बार मानवाधिकार आयोग, सुप्रीम कोर्ट और राष्ट्रपति को पत्र लिखकर शिकायत की थी। बाद में करीब दो महीने पहले दिल्ली से जुड़े एक मामले में अनिल दुजाना को जमानत मिली थी। लेकिन गवाह को धमकाने के मामले में उसके खिलाफ फिर मुकदमा दर्ज हो गया है। 

पूजा नागर नहीं लड़ेगी चुनाव
कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना की पत्नी पूजा नागर ने गौतमबुद्ध नगर जिला पंचायत का चुनाव लडने से इनकार कर दिया है। पहले वह जिले के वार्ड नंबर-2 से चुनाव लड़ने की घोषणा कर चुकी थीं। इसके लिए पूजा नागर और उसके वकील तैयारी में जुट हुए थे। बीते शनिवार को पूजा नागर ने गौतमबुद्ध नगर जिला पंचायत से "नो ड्यूज सर्टिफिकेट" हासिल किया था। ट्राईसिटी टुडे से बातचीत करते हुए कहा पूजा नागर ने कहा था, "मेरा मकसद पति को अपराध की दुनिया से बाहर लाना है। उनकी खराब छवि को सुधारना राजनीति में आने की वजह है।" 

पहले पूरी तैयारी थी
आपको बता दें कि करीब 1 महीने से अटकलें लगाई जा रही थीं कि अनिल दुजाना या उसकी पत्नी गौतमबुद्ध नगर जिला पंचायत का चुनाव लड़ेंगे। बीते शनिवार को ही जितेंद्र नागर ने आधिकारिक तौर पर बताया कि अनिल दुजाना की पत्नी पूजा नागर जिला पंचायत का चुनाव लड़ेगीं। वह वार्ड नंबर-2 से चुनाव मैदान में उतरने वाली थी। लेकिन गौतमबुद्ध नगर पुलिस की सख्ती के चलते गैंगस्टर की दुल्हन ने फिलहाल चुनाव मैदान में नहीं उतरने का फैसला किया है। शहर में लगे उनके पोस्टर हटा दिए गये हैं। 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.