दुनिया का 24वां शहर जहां यह बनेगा, साथ दिखेंगे गांधी-मोदी, अमिताभ-ऐश्वर्या और कपिल-सचिन

नोएडा में मैडम तुसाद म्यूज़ियम : दुनिया का 24वां शहर जहां यह बनेगा, साथ दिखेंगे गांधी-मोदी, अमिताभ-ऐश्वर्या और कपिल-सचिन

दुनिया का 24वां शहर जहां यह बनेगा, साथ दिखेंगे गांधी-मोदी, अमिताभ-ऐश्वर्या और कपिल-सचिन

Google Image | मोम से बने पीएम मोदी और अमिताभ

दुनिया का 24वां शहर जहां यह बनेगा, साथ दिखेंगे गांधी-मोदी, अमिताभ-ऐश्वर्या और कपिल-सचिन Noida News : मोम के पुतलों के लिए दुनियाभर में मशहूर मैडम तुसाद का म्यूजियम नोएडा शहर में शुरू होने वाला है। दुनिया के 23 शहरों में फिलहाल यह म्यूजियम चल रहा है। नोएडा 24वां शहर बन जाएगा। खास बात यह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बॉलीवुड के बेताज बादशाह अमिताभ बच्चन और उनकी बहू ऐश्वर्या राय बच्चन एकसाथ नजर आएंगे। इस म्यूजियम में हुबहू दिखने वाली मोम की प्रतिमाओं के साथ लोग सेल्फी ले सकते हैं। म्यूजियम में घूमने-फिरने के अलावा खाने-पीने और मौज-मस्ती के दूसरे साधन भी मुहैया करवाए जाएंगे।

Madame Tussauds Delhi | Madame Tussauds Delhi

कोरोना के कारण दिल्ली में बंद करना पड़ा म्यूजियम
मैडम तुसाद म्यूजियम में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सचिन तेंदुलकर, रोनाल्डो, अमिताभ बच्चन और जस्टिन बीबर समेत देश-दुनिया के सिनेमा, खेल जगत से जुड़े सितारे और विश्वविख्यात नेताओं के पुतले एकसाथ रखे गए हैं। अब इन सबके नोएडा में दीदार कर सकेंगे। अपने दौरे को यादगार बनाने के लिए लोग उनके साथ सेल्फी ले सकते हैं। सजीव से दिखने वाले मोम के पुतलों के लिए विश्वविख्यात मैडम तुसाद का संग्रहालय दिल्ली के कनॉट पैलेस में चल रहा था। कोरोना महामारी के कारण बंद करना पड़ा। अब इसे दिल्ली की बजाय नोएडा में खोला जा रहा है।

Sunny Leone Unveils Her Wax Statue at Madame Tussauds Delhi - The Indian  Wire

नोएडा की इस इमारत में खोला जाएगा यह म्यूजियम
नई दिल्ली के कनॉट पैलेस में स्थित देश का एकमात्र मैडम तुसाद का संग्रहालय अब नोएडा के डीएलएफ मॉल ऑफ इंडिया में स्थानांतरित किया जा रहा है। यह अगले महीने आम आदमी के लिए खोल दिया जाएगा। यह म्यूजियम मैडम तुसाद इंडिया के नाम से जाना जाएगा। नई दिल्ली में यह म्यूजियम साल 2017 में शुरू किया गया था। तीन साल बाद 2020 में कोरोना महामारी आ गई। यह बीते दो वर्षों से बंद चल रहा था। इसका संचालन करने वाली कंपनी ने अब नए सिरे से म्यूजियम की शुरुआत नोएडा में करने का निर्णय लिया है।

Sachin Tendulkar | Madame Tussauds Delhi

बापू, नेताजी, मोदी, कलाम, कपिल और सचिन के पुतले
कंपनी के महाप्रबंधक अंशुल जैन ने कहा, "दिल्ली के मुकाबले नोएडा में बनाया जा रहा यह म्यूजियम पहले से भव्य और आकर्षक बनाया जा रहा है। संग्रहालय में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल, शहीद-ए-आज़म सरदार भगत सिंह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस जैसे आजादी के नायकों से लेकर पूर्व राष्ट्रपति डा.एपीजे अब्दुल कलाम और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कुल 50 शख्सियतों के पुतले नोएडा म्यूजियम में लगाए जा रहे हैं। खेल जगत से इंडियन क्रिकेटर कपिल देव, उड़न सिख मिल्खा सिंह, भारतीय महिला बॉक्सर मैरीकाम, हॉकी प्लेयर डेविड मेसी, डेविड बेकहम, दुनिया के सबसे तेज धावक उसेन बोल्ट, सिनेमा जगत से अमिताभ बच्चन, राजकपूर, रणवीर कपूर, कैटरीना कैफ, सलमान खान, अनिल कपूर, माधुरी दीक्षित, सोनू निगम, जेनिफर लोपेज, जस्टिन बीबर, टॉम क्रूज, लिओनार्डो डिकैप्रियो और माइकल जैक्सन समेत अन्य सितारों को जगह दी गई है। 

Mahatma Gandhi Wax Figure at Madame Tussauds Hong Kong

म्यूजियम के पास पुतला निर्माण की बेजोड़ कला
म्यूजियम के पास खास बनावट और टेक्नोलाजी की मदद से हूबहू पुतले बनाने की कला है। यहां लोग अपने चहेते सितारों के बारे जानकारी हासिल कर सकते हैं। उनके साथ आभासी ही सही लेकिन यादगार समय बिता सकते हैं। आपको बता दें कि मैडम तुसाद का संग्रहालय पहली बार 1835 में लंदन में खोला गया था। यह अपने मोम से बनाए जाने वाले पुतलों के लिए धीरे-धीरे दुनियाभर में विख्यात हो गया। अब इसकी शाखाएं अमेरिका के न्यूयार्क, शंघाई, नीदरलैंड की राजधानी एम्सटर्डम और ऑस्ट्रेलिया के मशहूर शर सिडनी समेत विश्व के प्रमुख 23 शहरों में संचालित की जा रही हैं। यह दुनिया के हजारों नेताओं, खिलाड़ियों और फिल्मी सितारों के जीवन को बेहतरीन तरीके से संजोता आ रहा है। म्यूजियम के महाप्रबंधक ने कहा, "हूबहू पुतला बनाना आसान नहीं है। कई सप्ताह की मेहनत और 500 बार सटीक माप लेने के बाद इसे बनाया जाता है। कई-कई बार त्वचा के सही रंग की परतें चढ़ाकर यह पुतले तैयार किए जाते हैं।"

Madame Tussauds Wax Museum Opens Its Doors in Delhi

टूरिस्ट के लिए होता है विशेष आकर्षण
मैडम तुसाद के म्यूजियम दुनियाभर में पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। अंतर्राष्ट्रीय टूरिस्ट जब ऐसे शहरों में जाते हैं, जहां मैडम तुसाद के म्यूजियम हैं तो लोग खुद को म्यूजियम जाने से नहीं रोक पाते हैं। कंपनी का दावा है कि नोएडा में यह म्यूजियम बनेगा तो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की आमद बढ़ेगी। जिसका फायदा शहर के कारोबार को मिलेगा। नोएडा शहर की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान और बढ़ जाएगी।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.