निवेशकों को भाया नोएडा, माइक्रोसॉफ्ट-अडानी समेत कई बड़ी कंपनियों को जमीन आवंटित, पढ़ें रिपोर्ट

Noida News: निवेशकों को भाया नोएडा, माइक्रोसॉफ्ट-अडानी समेत कई बड़ी कंपनियों को जमीन आवंटित, पढ़ें रिपोर्ट

निवेशकों को भाया नोएडा, माइक्रोसॉफ्ट-अडानी समेत कई बड़ी कंपनियों को जमीन आवंटित, पढ़ें रिपोर्ट

Tricity Today | CEO Ritu Maheshwari

निवेशकों को भाया नोएडा, माइक्रोसॉफ्ट-अडानी समेत कई बड़ी कंपनियों को जमीन आवंटित, पढ़ें रिपोर्ट
  • नोएडा प्राधिकरण ने 846 औद्योगिक भूखंडों का आवंटन किया है
  • अथॉरिटी ने 3 कमर्शियल भूखंड और 10 दुकानें आवंटित की है
  • करीब 21592.16 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित रहा है
  • शहर की इन इकाइयों में करीब 1.5 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा
  • माइक्रोसॉफ्ट ने नोएडा प्राधिकरण से शहर के सेक्टर-145 में 60 हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 2 भूखंड खरीदे हैं
नोएडा प्राधिकरण (Noida Development Authority) की सीईओ ऋतु महेश्वरी (CEO Ritu Maheshwari IAS) की दक्षता और कार्यकुशलता की वजह से शहर निवेशकों की पहली पसंद बन गया है। प्राधिकरण निवेश और रोजगार सृजन के लिए प्रतिबद्ध है। निवेशकों को सुगमता से जमीन और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। इसका परिणाम भी दिखाई दे रहा है। माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft), टीसीएस (TCS) अडानी (Adani Group) और आइकिया जैसे बड़े देशी-विदेशी ग्रुप नोएडा में अपना कारोबार फैला रहे हैं। इनसे न सिर्फ शहर की आर्थिक उन्नति को मजबूती मिलेगी, बल्कि लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा। रोजगार के मामले में भी गौतमबुद्ध नगर प्रवासियों की पहली पसंद बन चुका है। 

21592.16 करोड़ रुपये का निवेश
प्राधिकरण के पिछले 4 साल के उपलब्धियां बताती हैं कि शहर विकास की राह पर अग्रसर है। साल 2017 से अब तक नोएडा प्राधिकरण ने 846 औद्योगिक भूखंडों का आवंटन किया है। निवेश के लिहाज से यह बड़ी उपलब्धि है। इसी दौरान अथॉरिटी ने 3 कमर्शियल भूखंड और 10 दुकानें आवंटित की है। जबकि 8 संस्थागत भूखंड आवंटित किए गए हैं। प्राधिकरण की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक 4 सालों के दौरान करीब 21592.16 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित रहा है। शहर की इन इकाइयों में करीब 1.5 लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। इसका बड़ा श्रेय नोएडा प्राधिकरण की मौजूदा सीईओ ऋतु महेश्वरी को जाता है। 



सिस्टम बदलने से बदली छवि
शहर की साफ-सफाई से लेकर उद्यमियों से नियमित बैठक कर उनकी समस्याएं जानने तक, वह हर दायित्व को बखूबी निभा रही हैं। खासतौर पर व्यवसायियों और उद्यमियों को राहत देने के लिए अनेकानेक प्रयास किए जा रहे हैं। सिस्टम में बड़े बदलाव किए गए हैं। प्राधिकरण की ज्यादातर प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है, ताकि उद्यमियों को ज्यादा परेशानी ना हो। फाइलों को निपटाने में तेजी आई है। ऋतु महेश्वरी शहर के सभी बड़े औद्योगिक संगठनों और प्रतिनिधियों से लगातार संवाद करती हैं। ताकि उनकी समस्याएं सुनकर त्वरित निस्तारण किया जा सके।

माइक्रोसॉफ्ट इंडिया और नोएडा अथॉरिटी के बीच डील फाइनल
माइक्रोसॉफ्ट ने नोएडा में अब तक की सबसे बड़ी डील की है। यह डील माइक्रोसॉफ्ट इंडिया और नोएडा अथॉरिटी के बीच हुई है। इस डील के तहत माइक्रोसॉफ्ट ने नोएडा प्राधिकरण से शहर के सेक्टर-145 में 60 हजार वर्गमीटर क्षेत्रफल वाले 2 भूखंड खरीदे हैं। इस जमीन की कीमत करीब 103 करोड़ रुपये बताई जा रही है। माइक्रोसॉफ्ट की भारत में सबसे बड़ी परियोजना मूर्त रूप लेने वाली है। इससे न केवल नोएडा बल्कि एनसीआर क्षेत्र सॉफ्टवेयर हब के रूप में विकसित होगा। माइक्रोसॉफ्ट आईटी, आईटीएस और आईटी इनेबल सर्विसेज के लिए यहां काम करेगी।

माइक्रोसॉफ्ट यहां से ग्लोबल कंजूमर के लिए काम करेगी
माइक्रोसॉफ्ट यहां से न केवल भारतीय उपभोक्ताओं के लिए बल्कि ग्लोबल कंजूमर के लिए बड़ा सेटअप लगाने जा रही है। नोएडा के सेक्टलर 145 में भूखंड ए-1 और ए-2 की कुल 60,000 वर्ग मीटर की भूम‍ि का आवंटन माइक्रोसॉफ्ट के नाम किया जा रहा है। यह जमीन 103.66 करोड़ रुपये में माइक्रोसॉफ्ट इंड‍िया प्राइवेट ल‍िम‍िटेड के नाम पर हुई है। इतना ही नहीं ए-4 भूखंड का इस्तेएमाल आईटी और आईटीईएस के उपयोग के ल‍िए होगा। इसके 11,683 वर्ग मीटर जमीन का सौदा 24.63 करोड़ में हुआ है। यह प्लॉट शिव श‍िक्षा समित‍ि के नाम पर हुआ है, ज‍िसका उपयोग सीन‍ियर सेकेंडरी स्कू ल के ल‍िए होगा। मिली जानकारी के मुताबिक इस स्कूल का संचालन माइक्रोसॉफ्ट इंडिया अपनी सीएसआर पॉलिसी के तहत करेगी। इस परियोजना की बदौलत करीब 10,000 लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेंगे।

अडानी इंटरप्राइजेज को 39,148 वर्ग मीटर जमीन मिली
भूखंड आवंटन के तहत मल्टीनेशनल कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने नोएडा में 39,148 वर्ग मीटर जमीन का आवंटन हासिल किया है। नोएडा अथॉरिटी की सीईओ ने बताया कि यह विश्व की अग्रणी कंपनियों में शामिल है। यह कंपनी नोएडा में डाटा सेंटर स्थापित करेगी। जिससे रोजगार के बड़े अवसर सृजित होंगे। कंपनी 2,500 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। यह परियोजना सुपर मेगा श्रेणी में शामिल है। इस भूखंड के आवंटन से नोएडा प्राधिकरण को 71 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त होगा।

डिक्सन टेक्नोलॉजी मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग कारखाना लगाएगी
नोएडा अथॉरिटी ने डिक्सन टेक्नोलॉजीज इंडिया लिमिटेड को भूखंड आवंटन किया है। इस जमीन पर डिक्शन टेक्नोलॉजीज मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग यूनिट का निर्माण करेगी। इस परियोजना में 270 करोड़ रुपए का निवेश होगा। जिसके जरिए करीब 9,000 लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। कंपनी को नोएडा अथॉरिटी ने सेक्टर-151 में 21,000 वर्ग मीटर जमीन का आवंटन किया है। आपको बता ग्रेटर नोएडा में दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग कारखाना सैमसंग कंपनी ने स्थापित किया है। पिछले 5 वर्षों के दौरान देशभर में सबसे ज्यादा मोबाइल निर्माता कंपनियां नोएडा और ग्रेटर नोएडा शहर में आई हैं।

55,000 वर्ग मीटर में बनेगा आईटी पार्क, 30,000 लोगों को रोजगार मिलेगा
अग्रवाल एसोसिएट लिमिटेड को शहर के सेक्टर 140ए में आवंटन किया गया है। कंपनी यहां आईटी, आईटीईएस पार्क का निर्माण करेगी। कंपनी को अथॉरिटी ने 55,000 वर्ग मीटर जमीन का भूखंड आवंटित किया है। इस परियोजना के पूर्ण होने पर 30,000 लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। उम्मीद है कि यह परियोजना अगले 3 वर्षों में पूरी हो जाएगी। हालांकि, प्राधिकरण की ओर से कंपनी को 5 वर्ष का समय दिया गया है। इन आवंटनों से नोएडा अथॉरिटी को 344 करोड रुपए का राजस्व प्राप्त होगा। नोएडा क्षेत्र में लगभग 10,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा। प्रोजेक्ट रिपोर्टस के मुताबिक 48,500 रोजगार के अवसर सृजित होंगे। इन परियोजनाओं से शहर में औद्योगिक निवेश को बढ़ावा मिलेगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.