नोएडा प्राधिकरण ने 11 बिल्डर प्रोजेक्ट के खिलाफ आरसी जारी की, 6 प्लॉट का आवंटन निरस्त किया, जानें वजह

बड़ी खबर: नोएडा प्राधिकरण ने 11 बिल्डर प्रोजेक्ट के खिलाफ आरसी जारी की, 6 प्लॉट का आवंटन निरस्त किया, जानें वजह

नोएडा प्राधिकरण ने 11 बिल्डर प्रोजेक्ट के खिलाफ आरसी जारी की, 6 प्लॉट का आवंटन निरस्त किया, जानें वजह

Tricity Today | नोएडा प्राधिकरण

नोएडा प्राधिकरण ने 11 बिल्डर प्रोजेक्ट के खिलाफ आरसी जारी की, 6 प्लॉट का आवंटन निरस्त किया, जानें वजह Noida News: नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) ने बकाया नहीं देने पर व्यावसायिक परियोजनाओं से जुड़े बिल्डरों के खिलाफ बीते जुलाई-अगस्त महीने में सख्त कार्रवाई की है। बकाए का भुगतान नहीं करने की वजह से 11 बिल्डर परियोजनाओं के खिलाफ आरसी जारी की गई है। जबकि 6 भूखंडों का आवंटन निरस्त किया गया है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी (CEO Ritu Maheshwari IAS) ने आदेश देते हुए कहा है कि डिफॉल्टर बिल्डरों के खिलाफ इस तरह की कड़ी कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

जानकारी के मुताबिक -  
  1. ई-1, सेक्टर-52 में स्थित एमएमआर साहा इंफ्रास्टक्चर प्राइवेट लिमिटेड पर 869 करोड़ 43 लाख 86 हजार 76 रुपए
  2. सेक्टर-98 स्थित ग्रेनाइट हिल्स प्रॉपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड पर 350 करोड़ रुपए
  3. सी-1, सेक्टर-16 स्थित ईटी इन्फ्रा डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड पर 63 करोड़ 1 लाख 12 हजार 462 रुपए और 
  4. सी-134 बी, सेक्टर-61 स्थित सुपरटेक पर 26 करोड़ 98 लाख 52 हजार 52 रुपए बकाया है।
इनके खिलाफ आरसी जारी करने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए जिलाधिकारी सुहास एलवाई को पत्र भेज दिया गया है।

7 वाणिज्यिक भूखंडों के आंवटियों के खिलाफ आरसी जारी
नोएडा प्राधिकरण के ओएसडी संजय कुमार ने बताया कि इनके अलावा जुलाई-अगस्त में ही 7 वाणिज्यिक भूखंडों के आवंटियों के खिलाफ भी आरसी जारी करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। इसमें -
  1. लॉजिक्स बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड के सेक्टर-124 स्थित भूखंड पर 796 करोड़ 49 लाख 20 हजार 89 रुपए बकाया होने और
  2. इसी बिल्डर के सेक्टर-105 स्थित भूखंड पर 588 करोड़ 53 हजार 78 रुपए बकाया होने पर उनका आवंटन निरस्त कर दिया गया है।
ओएसडी ने बताया कि उपरोक्त बिल्डरों के अलावा 7 वाणिज्यिक भूखंडों के आवंटियों के खिलाफ भी 4 करोड़ 26 लाख रुपए की आरसी जारी करने के लिए जिलाधिकारी को पत्र लिख दिया गया है। साथ ही 54 करोड़ रुपए का बकाया होने पर 4 वाणिज्यिक भूखंडों का आवंटन निरस्त कर दिया गया है।

1312 करोड़ बकाया है
जिन 11 परियोजनाओं के खिलाफ आरसी जारी की गई है, उनके बिल्डरों पर 1312 करोड़ 69 लाख रुपए बकाया है। जबकि जिन 6 भूखंडों का आवंटन निरस्त किया गया है, उनके बिल्डरों पर 1389 करोड़ 82 लाख रुपए का भुगतान बाकी है। एमएमआर ग्रुप पर सबसे ज्यादा 869 करोड़ 43 लाख रुपए बकाया है। उन्होंने बताया कि इससे पहले 2020-21 में 9 भूखंडों का आवंटन निरस्त किया जा चुका है। इन पर 4905 करोड़ 68 लाख रुपए बकाया थे। इनके अलावा 5 परियोजनाओं के खिलाफ आरसी जारी की गई थी। उन पर 94 लाख 35 हजार रुपए बकाया थे।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.