नोएडा के बड़े पत्रकार ने कहा- मायावती के नाम पर हो इस नेशनल हाईवे का नामकरण, जानिए क्यों

मायावती के नाम पर हो इस नेशनल हाईवे का नामकरण, जानिए क्यों

Google Image | Mayawati

-पत्रकार विनोद शर्मा ने कहा- मोदी के नाम स्टेडियम हो सकता है
-मायावती के नाम पर नेशनल हाईवे का नाम क्यों नहीं रखा जा सकता
-गाजियाबाद-दादरी मार्ग का नाम पूर्व सीएम के नाम पर रखने की मांग की
-8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर हो यह नामकरण करें

नोएडा के सीनियर जर्नलिस्ट और पत्रकार एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके विनोद शर्मा ने एक बड़ी मांग रखी है। उन्होंने एक ट्वीट करके गाजियाबाद-दादरी नेशनल हाईवे का नाम उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती के नाम पर रखने की मांग की है। इसके पीछे विनोद शर्मा का तर्क है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर अहमदाबाद के मोटेरा इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम का नामकरण किया जा सकता है तो मायावती के नाम पर इस नेशनल हाईवे का नाम क्यों नहीं रखा जा सकता है। दरअसल, मायावती गौतमबुद्ध नगर जिले के बादलपुर गांव की निवासी हैं। बादलपुर गांव गाजियाबाद-दादरी के बीच नेशनल हाईवे-91 पर ही पड़ता है।
विनोद शर्मा ने ट्वीट किया, "अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को है। मैं सोचता हूं कि मोटरा में स्टेडियम नरेंद्र मोदी के नाम से हो सकता है तो गौतमबुद्ध नगर जिले में लालकुआं-दादरी मार्ग का नाम कुमारी मायावती मार्ग हो सकता है। वह जिले की बेटी हैं।" आपको बता दें कि इसी सप्ताह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अहमदाबाद जाकर मोटेरा इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम का उद्घाटन किया है। यह दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बनाया गया है। गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन ने इसका नामकरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर किया है। हालांकि, इसके बाद से बड़ी संख्या में लोग आलोचना कर रहे हैं। गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने भी शनिवार को एक वीडियो जारी करके आलोचना की है। उनका कहना है कि इससे देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दोनों पदों की गरिमा गिरी है।

अपने पुतले लगाने पर भाजपा ने की थी मायावती की आलोचना
इस बीच एक और बहस गौतमबुद्ध नगर में तेजी से चल रही है। मायावती ने उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रहते नोएडा ग्रेटर, नोएडा और लखनऊ में अपने पुतले लगवाए थे। जिसकी भारतीय जनता पार्टी ने कड़ी आलोचना की थी। भाजपा के तमाम शीर्ष नेताओं ने इसे तानाशाही और आत्ममुग्धता करार दिया था। मायावती पर गंभीर भ्रष्टाचार के भी आरोप लगाए गए थे। अब जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर गुजरात में स्टेडियम का नाम रखा गया है तो गौतमबुद्ध नगर के लोग इस पर चर्चा कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि जब प्रधानमंत्री गुजरात की शान हैं तो मायावती भी गौतमबुद्ध नगर उत्तर प्रदेश की बेटी व सम्मान हैं। ऐसे में मायावती की प्रतिमाओं की आलोचना करना दोहरा मापदंड है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.